अयोध्या फैसले पर अजमेर दरगाह के दीवान का बयान, बोले-न्यायालय का निर्णय स्वीकार 

अयोध्या फैसले पर अजमेर दरगाह के दीवान का बयान, बोले-न्यायालय का निर्णय स्वीकार 

अयोध्या फैसले पर अजमेर दरगाह के दीवान का बयान, बोले-न्यायालय का निर्णय स्वीकार 

अजमेर: अयोध्या राम मंदिर और बाबरी मस्जिद विवाद पर सुप्रीम कोर्ट का ऐतिहासिक फैसला आज आ गया है. इस फैसले को लेकर तरह तरह की टिप्पणियां सामने आ रही हैं. इसी बीच अजमेर स्थित हजरत ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती की दरगाह के दीवान ने अपनी प्रतिक्रिया दी है और कहा है कि देश में न्यायालय की जीत हुई है. सभी पक्षों को न्यायालय के फैसले को स्वीकार करना चाहिए. साथ ही सभी से अमन और शांति की अपील की.

न्यायपालिका सर्वोच्च:
अजमेर दरगाह दीवान सैय्यद जैनुल आबेदीन अली खान ने कहा है कि न्यायपालिका सर्वोच्च है. सभी को अयोध्या भूमि विवाद में सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करना चाहिए. पूरी दुनिया की इस फैसले पर नजर है. यह समय दुनिया के सामने एकजुटता की मिसाल पेश करना का है. बता दें कि कोर्ट ने इस फैसले में विवादित जमीन रामजन्मभूमि न्यास को देने का फैसला किया है, यानी विवादित जमीन पर राम मंदिर बनेगा. जबकि कोर्ट ने मुस्लिम पक्ष को अयोध्या में ही मस्जिद बनाने के लिए अलग जगह पर 5 एकड़ जमीन देने का आदेश दिया है.
 

और पढ़ें