VIDEO: वैक्सीन लगवाएंगे, तो मर जाएंगे, अजमेर के एक गांव में फैली ऐसी अफवाह...

अजमेर : देश में कई जगहों पर लोग कोरोना वैक्सीन लेने से बच रहे हैं. ऐसा ही मामला राजस्थान के अजमेर जिले में सामने आया है. जिले के एक गांव में लोग कोरोना का टीका लगवाने से बच रहे हैं. इन लोगों में ऐसी अफवाह फैली है कि यदि टीका लगवाया तो वह बीमार पड़ जाएंगे ओर उनकी मौत हो जाएगी. अजमेर के नोसर गांव में टीके से हो रही है मौत ऐसी अफवाह फैली जिससे टीकाकरण की रफ्तार थम सी गई.ऐसे में मौत से बचने के लिए वे टीका नहीं लगवाना चाहते. प्रशासन ने कैंप लगाकर वैक्सीन लगाने का प्रयास भी किया, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ. जिला मुख्यालय की सीमा से लगते इस गांव में अब तक कुल 20 से 25 लोगों ने ही टीका लगवाया है. इन लोगों को लगता है कि अगर वह टीका लगवाएंगे तो उनकी मौत हो जाएगी, जबकि एक दिन पहले अजमेर ने टीकाकरण अभियान में रिकॉर्ड बनाया और लगभग 50 हजार लोगों का एक दिन में टीकाकरण किया.

शहरी सीमा से सटे नौसर गांव के लोगों में भ्रांति है कि इस टीके के लगने से मौत भी हो सकती है. वहीं कुछ लोगो ने दबी जुबान से अंधविश्वास की बात कही. नौसर गांव में 900 से अधिक लोगों की आबादी है, जबकि अब तक यहां केवल 20 से 25 लोगों ने ही टीका लगवाया है. गांव लोगों में भ्रांति है की टीके से वह बीमार हो जाएंगे और काम पर नही जा पाएंगे, ऐसे में उनके सामने खाने पीने का संकट खड़ा हो जाएगा. मेडिकल टीम ने लोगों को जागरूक करने के लिए कैंप भी लगाया, लेकिन तब भी लोग वैक्सीन लेने को तैयार नहीं हैं.

वैक्सीनेशन के लिए सूची तैयार करने का काम करने वाली बीएलओ प्रीति मिश्रा बताती हैं कि इस क्षेत्र के निवासी वैक्सीनेशन को लेकर अभी भी भ्रम के जाल में उलझे हुए हैं, वैक्सीन लगवाने को लेकर कई लोगों के मन में डर है कि वैक्सीनेशन के बाद कई दिनों तक उनकी तबीयत खराब रहेगी, ऐसे में इतने दिनों तक उनके परिवार का भरण-पोषण कौन करेगा.वहीं कुछ लोग अपने स्वास्थ्य का बहाना बनाकर वैक्सीनेशन करवाने से बच रहे हैं और कुछ बताते हैं कि वह पहले से बीमार हैं और यदि वे वैक्सीन लगाते हैं तो उनकी तबीयत ज्यादा खराब हो जाएगी ऐसे में उनकी जान भी जा सकती है इसीलिए वे किसी तरह का कोई खतरा उठाना नहीं चाहते.

वहीं जब गांव के लोगो से वैक्सीनेशन को लेकर बात करना चाही तो उन्होंने बताया कि गांव में वैक्सीन से मौत हो जाएगी इस अफ़वाह से अनेको लोगो में दहशत व्यापत है और इसी को चलते वैक्सीनेशन नही हो पा रहा है, साथ ही कुछ लोगो को वैक्सीन लगवाने के बाद बुखार आ गया था और वह 4 से 5 दिन तक काम पर नहीं गए जिससे उनकी आर्थिक स्थिति खराब हो गई इस डर के चलते भी अनेकों लोगो ने वैक्सीन नही लगवाई.

वहीं अन्य ग्रामीण बताते हैं कि बीते दिनों वैक्सीन लगवाने के बाद एक व्यक्ति की मौत हो गई थी उसके बाद पूरे गांव में दहशत का माहौल है, इसके बाद प्रशासन की ओर से वैक्सीनेशन कैंप भी लगाया गया था. लेकिन उसने मात्र 20 से 25 लोगों का ही वैक्सीनेशन हुआ था, कम वैक्सीनेशन का कारण लोगों में मौत की अफवाह है ओर इसी डर और दहशत के चलते वो वैक्सीन नही लगवा रहे. तो वहीं दूसरी और गांव के कुछ युवा इस डर को अलग रखते हुए वैक्सीन लगाने की बात कर रहे हैं. उनका कहना है कि सरकार अगर 18 प्लस युवाओं को बिना सिलाट के वैक्सीनेशन लगाने का गांव में कोई व्यवस्था करती है, तो वह जरूर लगाएंगे साथ ही गांव के अन्य लोगो को भी वैक्सीन लगवाने के लिए जागरूक करेंगे. एक और जहां अजमेर जिला 1 दिन में 50 हजार लोगों को वैक्सीन लगाकर रिकॉर्ड कायम कर रहा है तो वहीं दूसरी ओर गांव के लोग अफवाह के चलते वैक्सीनेशन से दूरी बना रहे हैं ओर वैक्सीन नहीं लगवा रहे है. ऐसे में कोरोनो से जंग कैसे जीती जाएगी यह अपने आप में एक बड़ा सवाल है.

...फर्स्ट इंडिया के लिए शुभम जैन की रिपोर्ट 

और पढ़ें