अखिलेश यादव का सीएम पर तंज, कहा- वह अपना वाहवाही वाला चश्मा उतारते तो लोगों का दर्द दिखाई देता

अखिलेश यादव का सीएम पर तंज, कहा- वह अपना वाहवाही वाला चश्मा उतारते तो लोगों का दर्द दिखाई देता

अखिलेश यादव का सीएम पर तंज, कहा- वह अपना वाहवाही वाला चश्मा उतारते तो लोगों का दर्द दिखाई देता

लखनऊः समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष एवं उत्‍तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शनिवार को मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ को कोरोना वायरस संक्रमण से मुक्त होने पर बधाई देते हुए उन पर तंज किया कि अगर वह अपना वाहवाही वाला चश्‍मा उतार कर देखते तो उन्हें परेशान लोगों का दर्द दिखाई देता.

अखिलेश  का तंज, सीएम को हर तरफ अमन चैन और सरकार की योजनाओं की धूम दिखाई देने लगीः
सपा मुख्यालय से शनिवार को जारी बयान में अखिलेश यादव ने कहा कि मुख्यमंत्रीजी कोरोना वायरस संक्रमण से मुक्त हुए हैं इसके लिए बधाई किन्तु दिक्कत यह है कि उन्होंने फिर अपना पुराना चश्मा पहन लिया है. उन्हें हर तरफ अमन चैन और सरकार की योजनाओं की धूम दिखाई देने लगी है.

वाहवाही वाला चश्मा उतार कर देंखे मुख्यमंत्रीः
पूर्व मुख्यमंत्री ने योगी पर निशाना साधा- वाहवाही वाला चश्मा उतार कर वह (योगी) देखते तो उन्हें जमीनी हकीकत में चारों तरफ हाहाकार और परेशान हाल लोगों के चेहरों पर दर्द दिखाई देता. उन्‍होंने कहा कि जब हालात इतने दर्दनाक हों तब मुख्यमंत्री का गेहूं खरीद और गन्ना पेराई संबंधी बयान जख्म को कुरेद देते हैं. कोरोना वायरस महामारी में कहां व्यापारिक गतिविधियां चल रही हैं, गेहूं खरीद कई जिलों में बंद चल रही है, क्रय केंद्र खुल नहीं रहें हैं और जो खुले हैं खरीद के बजाय बोरियां कम होने, तौलमापक के खराब होने तथा भुगतान के लिए पैसा न होने के बहाने बना रहे हैं.

अखिलेश का आरोप- भाजपा सरकार ने किसानों को सबसे ज्यादा उपेक्षा और यातना का शिकार बनायाः 
अखिलेश यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री का नया एलान है कि जब तक खेतों में गन्ना रहेगा तब तक चीनी मिल चलेगी लेकिन यह एलान किसी हवाई कलाबाजी से कम नहीं है. उन्होंने सवाल उठाया कि इस संकट काल में कितनी मिलें चल रही हैं यह भाजपा सरकार को बताना चाहिए. उन्‍होंने आरोप लगाया कि भाजपा सरकार ने किसानों को सबसे ज्यादा उपेक्षा और यातना का शिकार बनाया है और इनके चार वर्ष के कार्यकाल में किसान को हर स्तर पर परेशानी उठानी पड़ रही है.
सोर्स भाषा

और पढ़ें