चेन्नई कोविड से उबरकर दिल्ली की टीम से जुड़े अक्षर पटेल, बताया- टेस्ट पदार्पण के बाद जिंदगी का सर्वश्रेष्ठ क्षण

कोविड से उबरकर दिल्ली की टीम से जुड़े अक्षर पटेल, बताया- टेस्ट पदार्पण के बाद जिंदगी का सर्वश्रेष्ठ क्षण

कोविड से उबरकर दिल्ली की टीम से जुड़े अक्षर पटेल, बताया- टेस्ट पदार्पण के बाद जिंदगी का सर्वश्रेष्ठ क्षण

चेन्नई: ऑलराउंडर अक्षर पटेल कोविड-19 के लिए पॉजीटिव पाए जाने के कारण 20 दिन तक पृथकवास पर रहने के बाद फिर से दिल्ली कैपिटल्स की टीम से जुड़ गए हैं और उन्होंने इसे टेस्ट पदार्पण के बाद अपनी जिंदगी का दूसरा सर्वश्रेष्ठ क्षण करार दिया. यह 27 वर्षीय खिलाड़ी इससे पहले 28 मार्च को मुंबई में दिल्ली की टीम से जुड़ा था. वह नेगेटिव रिपोर्ट के साथ जैव सुरक्षित वातावरण में आए थे लेकिन तीन अप्रैल को उनका परीक्षण पॉजीटिव पाया गया था. उनमें हल्के लक्षण दिखायी दिये थे जिसके बाद उन्हें भारतीय क्रिकेट बोर्ड की चिकित्सा सुविधा में भेज दिया गया था.

पृथकवास के बाद टीम से जुड़ने को बताया अच्छा अहसासः
दिल्ली कैपिटल्स की प्रेस विज्ञप्ति में अक्षर ने कहा कि पृथकवास में 20 दिन बिताने के बाद वापस आकर और अपने साथियों से मिलकर वास्तव में बहुत अच्छा लग रहा है. मेरे टेस्ट पदार्पण के बाद यह मेरी जिंदगी का सर्वश्रेष्ठ पल है. बायें हाथ के इस स्पिनर ने कहा कि इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में उनकी टीम की जीत से वह खुद को प्रेरित रखते थे. उन्होंने कहा कि मैं 20 दिन तक कमरे में अकेले रहा और मेरे पास करने के लिए कुछ नहीं था. मैं मैच देख रहा था और एक चीज अच्छी रही कि हमारी टीम ने अपने अधिकतर मैच जीते. इससे मैं फिर से टीम से जुड़ने को लेकर अधिक प्रेरित हुआ.

अक्षर की अनुपस्थिति में शम्स मुलानी को दिल्ली ने जोड़ा थाः
इससे पहले दिल्ली कैपिटल्स ने पटेल के टीम से जुड़ने का वीडियो पोस्ट करते हुए ट्वीट किया कि बापू (अक्षर पटेल) के दिल्ली कैपिटल्स शिविर में वापसी पर सभी के चेहरों पर मुस्कान तैर गई. अक्षर ने वीडियो में कहा कि आदमी देख के ही तो मुझे मजा आ रहा है. पटेल आईपीएल में रॉयल चैंलेंजर्स बेंगलोर के देवदत्त पडिक्कल के बाद इस घातक वायरस से संक्रमित होने वाले दूसरे खिलाड़ी थे. अक्षर की अनुपस्थिति में दिल्ली ने मुंबई के शम्स मुलानी को अपनी टीम से जोड़ा था.
सोर्स भाषा

और पढ़ें