अलास्का एयरलाइंस के विमान ले उड़ा चोर, ​कुछ ही दूरी पर हुआ क्रैश

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/08/11 01:58

सिएटल। अमेरिका के सिएटल में शुक्रवार को एक अजीबो-गरीब वाकया सामने आया है। यहां के सिएटल टैकोमा इंटरनेशनल एयरपोर्ट से एक चोर अलास्का एयरलाइंस के विमान को उड़ाकर ले गया, हालांकि, कुछ देर बाद ही विमान क्रैश हो गया। गनीमत रही कि हादसे के विमान में आरोपी शख्स के अलावा कोई और सवार नहीं था। फिलहाल, यह पता नहीं चल पाया है कि विमान लेकर भागने वाला शख्स जिंदा बचा है या नहीं।

कंपनी ने घटना की जानकारी देते हुए ट्वीट किया, हमें होरिजोन एयर Q-400 विमान के बिना इजाजत किसी शख्स द्वारा उड़ाकर ले जाने की सूचना मिली है, इस विमान ने स्थानीय समयानुसार शाम 8 बजे सिएटल टैकोमा इंटरनेशनल एयरपोर्ट से उड़ान भरी और पीयर्स काउंटी के केट्रोन आइलैंड के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गया। हम यह पता करने कि कोशिश कर रहे हैं उसमें कौन सवार था।

विमान के उड़ने की खबर मिलते ही दो फाइटर जेट्स F-15 ने करीब 50 किलोमीटर दूर तक विमान का पीछा भी किया। लेकिन, विमान हादसे का शिकार हो गया। विमान को उड़ाने वाले व्यक्ति की पहचान रिक के तौर पर हुई है, वह पेशे से मकैनिक है। रिक ने उड़ान भरने के बाद एयर कंट्रोल टावर के कर्मचारी से पूछा था कि क्या तुम्हें लगता है कि अगर मैं विमान को सफलतापूर्वक लैंड करवा लूं तो अलास्का एयरलाइंस मुझे पायलट की नौकरी दे देगी। 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

सोनिया गांधी के आवास पर CEC की बैठक

जेट एयरवेज के चेयरमैन नरेश गोयल और उनकी पत्नी ने बोर्ड की सदस्यता से दिया इस्तीफा
राहुल गाँधी की घोषणा \'हर गरीब को मिलेंगे 72 हजार रुपये\'
कांग्रेस ने जारी की 40 स्टार प्रचारकों की सूची, सूची में गहलोत, पायलट और विश्वेन्द्र सिंह शामिल
दिल्ली में कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक संपन्न, कई अहम मुद्दों को लेकर हुई चर्चा
बीजेपी कोर कमेटी की दिल्ली में बैठक, राजस्थान में बची 9 सीटों पर मंथन
यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ का मथुरा दौरा, योगी ने किए बांके बिहारी जी के दर्शन
वीआरएस से पहले टिकट गारंटी ढूंढ़ रहे हैं ब्यूरोक्रेट