नए साल के सेलिब्रेशन से पहले बुक हुए मरुधरा के सभी होटल

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/12/29 12:13

जयपुर।  यदि आप जयपुर या प्रदेश के प्रमुख पर्यटनस्थलों पर किसी होटल में एक अदद रूम की तलाश में हैं तो आपको घोर निराशा के दौर से गुजरना पड़ सकता है। राजधानी जयपुर, जैसलमेर, जोधपुर, उदयपुर, माउंट आबू और रणथंभौर में सभी सितारा और बजट होटल 31 दिसंबर तक पूरी तरह बुक हैं। 

मरुधरा में नया साल सेलिब्रेट करने का देश विदेश के पर्यटकों में खासा क्रेज देखने को मिल रहा है। हालात ऐसे हैं कि कुछ होटल्स में कमरे खाली भी हैं तो उन होटल्स ने अपना टैरिफ 40 से 60 फीसदी तक बढ़ा दिया है। बजट होटल्स में भी कमरे तीन हजार रुपए से कम नहीं मिल रहे। न्यू ईयर के लिए सितारा होटल्स और रेस्त्रांओं में न्यू ईयर के लिए कार्यक्रमों की पूरी श्रृंखला भी तैयार की है।

इन ईवेंट्स में भी बुकिंग लगभग पूरी हो चुकी है। पर्यटन क्षेत्र के लोगों का कहना है कि इस बार विदेशी से ज्यादा घरेलू पर्यटकों में राजस्थान आने का क्रेज देखने को मिला है। जयपुर के अलावा जैसलमेर, रणथंभौर, जोधपुर, माउंट आबू और उदयपुर में पर्यटकों की जोरदार आवक हो रही है। जिन पर्यटकों ने दो महीने पहले बुकिंग कराई वे फायदे में हैं और जिन सैलानियों ने अचानक कार्यक्रम बनाया उन्हें होटल्स और होटल्स के टेंट्स में भी जगह नहीं मिल रही। 

प्रदेश की पांच सितारा होटल्स में एक रात के लिए एक कमरा जहां 25 से 85 हजार तक बिक रहा है वहीं तीन सितारा होटलों में कमरे की कीमत 5 से 25 हजार है। बजट होटल्स भी ढाई हजार से कम में कमरा नहीं दे रही। सर्किट हाउस, डाक बंगले और सरकारी गेस्ट हाउस तक पूरी तक बुक हों चुके हैं। यह बात अलग है कि पर्यटन निगम की होटलों को पावणों के भारी सैलाब के दौर में भी पर्यटक नहीं मिल रहे हैं। निजी होटल हाथी सफारी कराने वाले और पोलो व अन्य गतिविधियों कराने वालों की भी चांदी हो गई है। इन्हें भी एडवांस बुकिंग मिल चुकी है। पर्यटनस्थलों से जुड़े ट्यूर ऑपरेटर्स और ट्रेवल एजेंट भी खासे उत्साहित हैं। 

कुल मिलाकर कहा जा सकता है कि 31 दिसंबर की रात तक राजधानी में जहां दो लाख पर्यटकों की आवक होगी वहीं प्रदेश में यह आंकडा 8 दिन के दौरान एक करोड़ के पार पहुंच सकता है। बड़े क्लब और होटल्स में न्यू ईयर सेलिब्रेशन के लिए थीम बेस्ड पार्टी तय की गई हैं तो शेखावाटी क्षेत्र के ग्रामीण अंचलों में न्यू ईयर पर परंपरागत के साथ ठेठ राजस्थानी अंदाज में कार्यक्रम रखे गए हैं। अकेले जयपुर में 30 व 31 दिसंबर के लिए आबकारी विभाग से 200 से ज्यादा ओकेजनल लाइसेंस जारी हुए हैं। इस बार न्यू ईयर वीकेंड पर आने से पर्यटक कुछ ज्यादा ही पार्टी मूड में हैं। कुल मिलाकर कहा जा सकता है कि प्रदेश में इस बार न्यू ईयर पर पर्यटकों की आवक और खास कार्यक्रमों का नया रिकॉर्ड बन सकता है।

फर्स्ट इंडिया न्यूज़ के लिए जयपुर से निर्मल तिवारी की रिपोर्ट-

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in