अलवर: मॉब लिंचिंग के शिकार युवक के पिता के आत्महत्या मामले ने पकड़ी राजनीतिक तूल, 2 दिन से मोर्चरी में रखा शव

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/08/17 02:11

अलवर: चौपानकी थाना क्षेत्र के झिवाणा निवासी हरीश जाटव की मौत के बाद उसके पिता रतिराम द्वारा जहर खाकर आत्महत्या मामले में पुलिस प्रशासन व परिजनों में सहमति नहीं बनने के कारण 2 दिन से शव टपूकड़ा सीएससी मोर्चरी में रखा हुआ है. अब हालत यह हो गये कि यह मामला राजनीतिक तूल पकड़ने लगा है. शुक्रवार को अलवर कलक्टर व एसपी से वार्ता के बाद भी कोई हल नहीं निकला जिसको लेकर मृतक के परिजनों व ग्रामीणों में भारी रोष व्याप्त है. 

अस्पताल परिसर बना छावनी: 
देर रात से ही अलवर शहर सांसद संजय शर्मा सहित भाजपा नेता व पदाधिकारी अस्पताल परिसर के बाहर परिजनों के साथ धरने पर बैठे हुए हैं. सुबह अलवर सांसद बाबा बालक नाथ, पूर्व मंत्री जसवंत सिंह और पूर्व विधायक जयराम जाटव सहित बड़ी संख्या में भाजपा नेता टपूकड़ा सीएचसी पहुंचे. इस दौरान सांसद बालक नाथ ने मृतक हरिश की पत्नी से मामले की जानकारी लेकर उसके बच्चों से मिले और न्याय दिलाने का आश्वासन दिया. कस्बे में हालात तनावपूर्ण है. मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस बल व प्रशासनिक अधिकारी मौजूद है. शनिवार को एडीएम व तिजारा एसडीएम  टपूकड़ा पहुंचे जिस पर ग्रामीणों ने उन्हें  दोबारा मांग पत्र सौंपा. जिस पर अधिकारियों ने उच्च अधिकारियों व सरकार को अवगत कराने का आश्वासन दिया. मामले को लेकर अभी गतिरोध बना हुआ है. अस्पताल परिसर में सुबह से ही बड़ी संख्या में मृतक परिवार की महिलाएं मौजूद है जबकि अस्पताल परिसर छावनी बना हुआ है.

कस्बा आंशिक रूप से बंद: 
शनिवार की सुबह कस्बे के बाजार को बंद कराने के दौरान तिजारा के पूर्व विधायक मास्टर मामन सिंह व टपूकड़ा थानाधिकारी राजीव डूडी के बीच कहासुनी भी हो गई. कस्बा आंशिक रूप से बंद हैं. कस्बे के सीएचसी  के बाहर जमा भीड़ की वजह से बार-बार जाम के हालात पैदा हो रहे हैं. वहीं मरीजों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in