आमागढ़ विवाद मामला: पुलिस को चकमा देकर ऐसे पहुंचे डॉ.किरोड़ीलाल मीणा आमागढ़, जानिए पूरी खबर

आमागढ़ विवाद मामला: पुलिस को चकमा देकर ऐसे पहुंचे डॉ.किरोड़ीलाल मीणा आमागढ़, जानिए पूरी खबर

आमागढ़ विवाद मामला: पुलिस को चकमा देकर ऐसे पहुंचे डॉ.किरोड़ीलाल मीणा आमागढ़, जानिए पूरी खबर

जयपुर: आमागढ़ विवाद मामले पर सांसद डॉ.किरोड़ीलाल मीणा का बयान सामने आया है. डॉ.किरोड़ीलाल मीणा ने कहा कि 9 लोगों के साथ आमागढ़ दुर्ग पर झंडा फहराने चढ़ा. करीब रात 2.30 बजे निकला था. करीब 7 किलोमीटर तक पैदल चला. इससे पहले डॉ.किरोड़ीलाल मीणा पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव से मुलाक़ात के बाद विद्याधरनगर थाने से बाहर आएं. थाने के बाहर मौजूद समर्थकों से किरोड़ीलाल मीणा ने मुलाकात की. किरोड़ीलाल मीणा ने मीडिया से बातचीत में कहा कि सरकार मेरे मांग पत्र की मांगें करें पूरी. उन्होंने अपने समर्थकों से कहा कि  गांधीवादी तरीक़े से समर्थक आंदोलन करें.

मीणा समाज का फहरा दिया झंडा:

आपको बता दें कि आमागढ़ प्रकरण में राज्यसभा सांसद किरोड़ीलाल मीणा अपने समर्थकों के साथ आधी रात को आमागढ़ पहाड़ी पर पहुंचे और सुबह होते ही मीणा समाज का झंडा फहरा दिया. तड़के डॉ. किरोड़ीलाल मीणा के आमागढ़ पहुंचने की खबर जब पुलिस को लगी तो आनन-फानन में ईस्ट जिले के ACP नीलकमल मीणा व अन्य अफसर अमले को लेकर पहाड़ी पर पहुंचे. वहां समझाकर डॉ. किरोड़ीलाल मीणा को आमागढ़ से नीचे लेकर आए. 

थाने के बाहर जमकर प्रदर्शन, किरोड़ीलाल मीणा को किया रिहा :

इसके बाद हिरासत में पुलिस विद्याधर नगर थाने ले गई. हिरासत में किरोड़ी को हिरासत में लेने की जानकारी मिलने पर बड़ी संख्या में मीणा समाज के लोग विद्या धर नगर थाने पहुंचे और थाने के बाहर जमकर प्रदर्शन किया गया.इस दौरान मीणा समाज के लोग धरने पर बैठ गए.साथ ही बड़ी संख्या में पहुंची महिलाओ ने गीत गाये.दोपहर बाद किरोड़ीलाल मीणा को रिहा कर दिया गया. उनके रिहाई की जानकारी मिलते ही भारी संख्या में समर्थक भी थाने पहुंचे, जहां किरोड़ी ने शांति बनाए रखने की अपील की. सांसद किरोड़ी लाल मीणा की गिरफ्तारी के बाद प्रदेशभर में जगह-जगह आदिवासी समाज के युवाओं ने प्रदर्शन किया. 

किरोड़ी लाल मीणा ने दिया पुलिस को मांग पत्र:
गिरफ्तारी के बाद किरोड़ी लाल मीणा ने पुलिस को मांग पत्र दिया. कहा-आमागढ़ पर फहराया गया झंडा नहीं हटाया जाए. झंडा फहराते ही पुलिस ने हिरासत में ले लिया .मंदिर पर ताला जड़ दिया. शिवजी की पूजा नहीं करने दी. जब तक पूजा नहीं करने देंगे, तब तक जमानत नहीं कराएंगे. ट्रांसपोर्ट नगर पुलिस पर मुकदमा दर्ज करने की मांग हैं. पुलिसकर्मियों पर कार्यकर्ताओं से भी मारपीट का आरोप लगाया. 

डॉ.किरोड़ीलाल मीणा को जाए किया तुरंत रिहा:
आमागढ़ प्रकरण पर पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे का बयान सामने आया हैं. वसुंधरा राजे ने यह बयान डॉ.किरोड़ीलाल मीणा के समर्थन में दिया हैं. वसुंधरा राजे ने कहा कि कांग्रेस आमागढ़ के मामले में धर्म के नाम पर राजनीति कर रही हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस को करारा जवाब देने वाले डॉ.किरोड़ीलाल मीणा की गिरफ्तारी निंदनीय है. डॉ.किरोड़ीलाल मीणा को तुरंत रिहा जाए किया.

डॉ.किरोड़ीलाल मीणा की गिरफ़्तारी दुर्भाग्यपूर्ण:
डॉ.किरोड़ीलाल मीणा के समर्थन में बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष डॉ.सतीश पूनियां का बयान सामने आया हैं. कहा कि सामाजिक सद्भाव के लिए किए जा रहे प्रयासों के बावजूद, डॉ.किरोड़ीलाल मीणा की गिरफ़्तारी दुर्भाग्यपूर्ण हैं. सदैव राष्ट्रवादी विचार और सामाजिक समरसता के लिए प्रयासरत रहते. ऐसे में उनके विरुद्ध की गई कार्रवाई सरकार की ओछी मानसिकता को दर्शाता.

डॉ.किरोड़ीलाल मीणा के समर्थन में आए रामकेश मीणा:
डॉ.किरोड़ीलाल मीणा के समर्थन में रामकेश मीणा आए. कहा-आमागढ़ पर डॉक्टर साहेब ने समाज का झंडा फहरा दिया. मुझे अथवा समाज किसी व्यक्ति को कोई आपत्ति नहीं हैं. डॉ.किरोड़ीलाल मीणा को रिहा किया जाए. नहीं तो आज का आंदोलन डॉ.किरोड़ी को छुड़ाने के लिए चलेगा. गौरतलब हैं कि आमागढ़ प्रकरण ने तूल पकड़ लिया. इस पर सियासत तेज हो गई हैं. रविवार सुबह सांसद डॉ.किरोड़ी लाल मीणा ने आमागढ़ दुर्ग में मीणा समाज का ध्वज फहराया था. जिसके बाद सांसद डॉ.किरोड़ी लाल मीणा को पुलिस ने​ हिरासत में लेकर आमागढ़ से नीचे ले आई थी. डॉ.किरोड़ी लाल मीणा पुलिस प्रशासन को चकमा देकर आमागढ़ पहुंचे थे. पुलिस ने पहले ही वहां जाने पर रोक लगा रखी थी. मीणा पर कानून के उल्लंघन का आरोप लगा.

और पढ़ें