अमरिंदर सिंह के बागी तेवर, राहुल और प्रियंका को बताया अनुभवहीन, विधानसभा चुनाव में सिद्धू के खिलाफ उतारेंगे मजबूत उम्मीदवार

अमरिंदर सिंह के बागी तेवर, राहुल और प्रियंका को बताया अनुभवहीन, विधानसभा चुनाव में सिद्धू के खिलाफ उतारेंगे मजबूत उम्मीदवार

अमरिंदर सिंह के बागी तेवर, राहुल और प्रियंका को बताया अनुभवहीन, विधानसभा चुनाव में सिद्धू के खिलाफ उतारेंगे मजबूत उम्मीदवार

चंडीगढ़: पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने बुधवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा को ‘अनुभवहीन’ करार दिया और कहा कि पंजाब इकाई के कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के खिलाफ आगामी विधानसभा चुनाव में वह मजबूत उम्मीदवार उतारेंगे. उल्लेखनीय है कि कांग्रेस की पंजाब इकाई में गुटबाजी और आंतरिक कलह की वजह से हाल में अमरिंदर सिंह ने राज्य के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था. अमरिंदर सिंह ने अपने कई साक्षात्कारों में कहा कि प्रियंका और राहुल मेरे बच्चों की तरह हैं. इसका पटाक्षेप ऐसा नहीं होना चाहिए था. मैं व्यथित हूं.

मैं तिकड़मबाजी नहीं करता 
उन्होंने एक बयान में कहा कि मैं विधायकों को विमान से गोवा या अन्य स्थान पर नहीं ले गया. इस तरह से मैं काम नहीं करता. मैं तिकड़मबाजी नहीं करता और गांधी सहोदर जानते हैं कि यह मेरा तरीका नहीं है. अमरिंदर सिंह ने जोर देकर कहा कि गांधी बच्चे काफी हद तक ‘‘अनुभवहीन’’ हैं और उनके सलाहकार साफ तौर पर उन्हें बहका रहे हैं. उन्होंने कहा कि वह सिद्धू को मुख्यमंत्री पद पर पहुंचने से रोकने के लिए पूरी ताकत से कोशिश करेंगे. पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि वह ऐसे ‘खतरनाक व्यक्ति’ से देश को बचाने के लिए कोई भी बलिदान देने को तैयार हैं. उन्होंने कहा कि वर्ष 2022 के विधानसभा चुनाव में पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी (PPCC) अध्यक्ष (सिद्धू) की हार सुनिश्चित करने के लिए वह मजबूत उम्मीदवार खड़ा करेंगे.

मैं अपने राजनीतिक विकल्पों को खुला रखता हूं
अमरिंदर सिंह ने कहा कि उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से यहां तक कहा था कि वह पंजाब में अगले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की एक और शानदार जीत के बाद किसी दूसरे के लिए पद छोड़ने को तैयार हैं. उन्होंने कहा कि लेकिन ऐसा नहीं हुआ, इसलिए मैं लड़ूंगा. पूर्व मुख्यमंत्री ने गुप्त रूप से कांग्रेस विधायक दल की बैठक बुलाकर उन्हें ‘अपमानित’ करने पर कड़ा विरोध जताने की बात कही. अमरिंदर सिंह ने कहा कि वह अपने राजनीतिक विकल्पों को खुला रखे हुए हैं और भविष्य का कदम तय करने से पहले अपने मित्रों से चर्चा कर रहे हैं. उन्होंने कहा,‘‘आप 40 साल की उम्र में बुजुर्ग हो सकते हैं और 80 साल की उम्र में युवा.’’ सिंह ने साफ किया कि वह अपनी उम्र को बाधा नहीं मानते हैं. सोर्स- भाषा

और पढ़ें