जैसलमेर Amit Shah In Rajasthan: 1971 के युद्ध में लोंगेवाला पोस्ट के वीर नायक भैरों सिंह राठौड़ से की अमित शाह ने मुलाकात, बॉर्डर फिल्म में बताया गया था शहीद

Amit Shah In Rajasthan: 1971 के युद्ध में लोंगेवाला पोस्ट के वीर नायक भैरों सिंह राठौड़ से की अमित शाह ने मुलाकात, बॉर्डर फिल्म में बताया गया था शहीद

Amit Shah In Rajasthan: 1971 के युद्ध में लोंगेवाला पोस्ट के वीर नायक भैरों सिंह राठौड़ से की अमित शाह ने मुलाकात, बॉर्डर फिल्म में बताया गया था शहीद

जैसलमेर: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने आज जैसलमेर में 1971 के युद्ध में लोंगेवाला पोस्ट के वीर नायक भैरों सिंह राठौड़ से मुलाकात की. वीर सूरमाओं की धरा शेरगढ़ के सोलंकियातला गांव में जन्मे भैरोंसिंह राठौड़ बीएसएफ की 1971 में जैसलमेर के लोंगेवाला पोस्ट पर 14 बटालियन में तैनात थे. जहां पर भैरोंसिंह ने अपने असाधारण शौर्य व वीरता का परिचय देते हुए पाक सैनिकों के दांत खट्टे किए थे. 

अमित शाह ने रविवार को ट्विट करते हुए कहा कि 1971 के युद्ध में लोंगेवाला पोस्ट के वीर नायक भैरों सिंह राठौड़ जी से आज जैसलमेर में मिलने का सौभाग्य मिला. लोंगेवाला से दुश्मनों को खदेड़ने की आपकी वीरता और मातृभूमि के प्रति प्रेम ने देश के इतिहास व देशवासियों के हृदय में एक अपार श्रद्धा का स्थान बनाया है. आपको नमन करता हूँ. 

बॉर्डर फिल्म में भैरोंसिंह को शहीद बताया गया था: 
आपको बता दें कि भारत-पाक सीमा पर लोंगेवाला पोस्ट पर वे मेजर कुलदीपसिंह की 120 सैनिकों की कंपनी के साथ डटकर सामना करते हुए पाक के टैंक ध्वस्त करते हुए दुश्मन सैनिकों को मार गिराया था. शेरगढ़ के सूरमा भैरोसिंह ने एमएफजी से करीब 30 पाकिस्तानी दुश्मनों को ढेर किया था. शौर्यवीर भैरोंसिंह की वीरता व पराक्रम के चलते सन 1997 में रिलीज हुई बॉर्डर फिल्म में सुनील शेट्टी ने राठौड़ का रोल अदा किया था. फिल्म में भैरोंसिंह को शहीद बताया गया था लेकिन असल जिंदगी में फिल्म के रियल हीरो भैरोंसिंह आज भी पूरे जज्बे के साथ स्वस्थ्य हैं. 

देश की सीमाओं पर किसी भी घुसपैठ पर त्वरित प्रतिक्रिया सुनिश्चित:
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को कहा कि केंद्र ने देश की सीमाओं पर किसी भी घुसपैठ पर त्वरित प्रतिक्रिया सुनिश्चित की है. सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के 57वें स्थापना दिवस समारोह के अवसर पर शाह ने यहां यह भी कहा कि बल को दुनिया की सर्वश्रेष्ठ प्रौद्योगिकी मुहैया कराना सरकार की प्रतिबद्धता है. शाह ने कहा कि भारत ड्रोन रोधी प्रौद्योगिकी विकसित कर रहा है और इसे जल्द ही सुरक्षाबलों को मुहैया कराया जाएगा. 

बीएसएफ को विश्व की आधुनिक तकनीकी से और मजबूत किया जाएगा:
केंद्रीय सुरक्षा एजेंसियों के अनुसार, 2019 में जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 को निरस्त किए जाने के बाद से पाकिस्तान से लगने वाली संवेदनशील सीमा पर ड्रोन और अज्ञात उड़न-वस्तुएं देखी गई हैं. सीमा को सुरक्षित करने वाले बीएसएफ जवान सुरक्षा का प्लेटफार्म बना रहे हैं. बीएसएफ को विश्व की आधुनिक तकनीकी से और मजबूत किया जाएगा. स्वदेशी ड्रोन तकनीकी की ओर काम चल रहा है. इसके साथ ही 50 हजार जवानों की भर्ती का काम पूरा हो गया है. भारतमाला प्रोजेक्ट से पूरे देश में सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है. 

प्रधानमंत्री सीमाओं के प्रहरियों के प्रति हमेशा संवेदनशील रहे:
उन्होंने इससे आगे बोलते हुए कहा कि प्रधानमंत्री सीमाओं के प्रहरियों के प्रति हमेशा संवेदनशील रहे हैं. मोदी सरकार ने सशस्त्र बलों के परिवारजनों को पूर्ण स्वास्थ्य कवर प्रदान किया है. जिसके तहत एक कार्ड के द्वारा परिजन आसानी से इसका लाभ ले सकते हैं. कल ही मैं भारतमाला प्रोजेक्ट में बनी सड़क से सीमा सुरक्षा बल के अंतिम चौकी जाकर आया हूं. उससे लगता है कि देश के प्रधानमंत्री मोदी का यह कितना बड़ा निर्णय है. 

और पढ़ें