रत्नागिरी पहाड़ पर बने मंदिर में सालाना मेला हुआ शुरू

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/09/16 12:13

पुष्कर (अजमेर)। जगत पिता ब्रह्मा की पत्नी मां सावित्री के दर्शनों के लिये रत्नागिरी पहाड़ी पर बने मंदिर में श्रद्धालुओं का तांता लग रहा है। रविवार से यहां सुहागदात्री माँ सावित्री का सालाना मेला शुरू हो चुका है। माता के मंदिर में आज भव्य भजन कीर्तन और जागरण का आयोजन होगा। हर वर्ष भादवे की अष्टमी पर मेला लगता है। अल सुबह से ही दूर दराज के हजारों श्रदालुओं का रेला पहाड़ी पर उमड़ रहा है। खास तौर से भक्तों की इस भीड़ में केवल महिलाएं ही नजर आती है। पहाड़ के दुर्गम रास्तों पर 2 किलोमीटर की चढ़ाई पार करने के बाद ये आस्थावान महिलाएं पहुंच रही है। महिलाओं के आने का सिलसिला लगातार जारी है और शाम होते-होते यहां पांव रखने तक की जगह मुश्किल से मिल पाएगी।

आपको बता दें कि माता सावित्री को सुहाग की देवी माना जाता है और अष्टमी पर महिलाएं माता को सुहाग की सामग्री अर्पित कर अपने सुहाग की सलामती की मनोकामना मांगती है। खास तौर पर राजपूत समाज की महिलाएं पूरे देशभर से इस दिन यहां पहुंचती है। मंदिर की तलहटी में भव्य मेला भरता है जिसमें लोक संस्कृति की अनूठी छठा देखने को मिलती है। उधर सुनसान रास्तों पर महिलाओ की भारी भीड़ के बावजूद पूरे रास्ते में महज 3 पुलिसकर्मी लगाए गए है, जो सुरक्षा की दृष्टि से पर्याप्त नहीं है। महिलाओं की भीड़ में मनचलों की टोलियां भी इस रास्ते से जा रही है। जिससे श्रदालुओं को परेशानी उठानी पड़ रही है। मंदिर प्रबंधन ने महिलाओं की सुरक्षा के लिये पुलिस जाप्ता बढ़ाने की मांग की है।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in