VIDEO: धड़कते दिल पर बिना बाइपास मशीन के "महाधमनी" का ऑपरेशन ! राजधानी के चिकित्सकों ने जटिल ऑपरेशन कर एक माह के पार्थ की बचाई जान

VIDEO: धड़कते दिल पर बिना बाइपास मशीन के "महाधमनी" का ऑपरेशन ! राजधानी के चिकित्सकों ने जटिल ऑपरेशन कर एक माह के पार्थ की बचाई जान

जयपुर: राजधानी के चिकित्सकों ने धडकते दिल पर बिना बाइपास मशीन के "महाधमनी" का जटिल ऑपरेशन कर एक माह के मासूम पार्थ को नया जीवन दिया है. फोर्टिस के कार्डिक सर्जन डॉ सुनील कौशल की टीम ने यह जटिल सर्जरी की है. दरअसल, 30 दिन के पार्थ को लंग में इंफेक्शन, सांस उखडने की दिक्कतें थी. कई अस्पतालों में चक्कर लगाने के बाद पार्थ को काफी गंभीर हालात में फोर्टिस अस्पताल लाया गया. 

जांच में पाया कि पार्थ का शरीर ठण्डा पड़ा हुआ था: 
अस्पताल में डॉ कौशल ने जांच में पाया कि पार्थ का शरीर ठण्डा पड़ा हुआ था. इको में पता चला कि पार्थ की महाधमनी बीच के हिस्से में बनी ही नहीं थी, जिसके चलते ब्लड का फ्लोर पूरे शरीर में नहीं हो पा रहा था. ऐसे हालात में पार्थ के हार्ट पर काफी दबाव बन रहा था. ऐसे केस में आमतौर पर शरीर को ठण्ड करके रक्त संचार को बन्द कर दिया जाता है, हार्ट को पूरी तरह करीब आधे से पौन घंटे तक कृत्रिम हार्ट मशीन पर रखा जाता है. लेकिन इस तकनीक में करीब 30 फीसदी केस में मरीज के दिमाग, किडनी लीवर में डेमेज का खतरा होता है. कई केस में तो तत्काल ही इसका साइड इफेक्ट दिखने लगता है.

एकबार फिर नई तकनीक का उपयोग किया:
ऐसे में डॉ सुनील कौशल की टीम ने एकबार फिर नई तकनीक का उपयोग किया, जिसमें धडकते दिल पर बिना बाइपास मशीन का उपयोग किया महाधमनी को "मोबलाइज" कर जोड़ा गया. डॉ सुनील कौशल ने दावा किया है कि ऑपेरशन के बाद बच्चा पूरी तरह से स्वस्थ्य है. उसे किसी भी तरह के साइड इफेक्ट का सामना नहीं करना पड़ा है. 

और पढ़ें