Live News »

सभापति व विधायक ने सौंपे सफाई कर्मचारियों को नियुक्ति पत्र

सभापति व विधायक ने सौंपे सफाई कर्मचारियों को नियुक्ति पत्र

ब्यावर(अजमेर)। ब्यावर नगर परिषद सफाईकर्मी भर्ती मामले में चयनित हुए सफाईकर्मियों को नियुक्तियां मिल गई। नगर परिषद सभागार में सभापति बबीता चैहान तथा विधायक शंकर सिंह रावत ने कुल 147 सफाईकर्मियों को नियुक्ति पत्र सौंपे। चयनित हुए सफाईकर्मियों ने चस्पा सूची में अपना नाम देखकर हर्ष जताया तथा भाजपा सरकार के शासन में लगी अपनी नौकरी पर खुशी जाहिर की। विधायक व सभापति ने सभी सफाईकर्मियों को अपने कर्तव्य का पालन करने की सीख देते हुए कार्य को निष्ठावान तरीके से करने का आव्हान किया। 

गौरतलब है कि सफाईकर्मी भर्ती प्रकिया के अंतर्गत 27 जून को अजमेर कलेक्ट्रेट द्वारा लॉटरी निकाली गई थी। उसके बाद मामला विवादित होने पर हाईकोर्ट ने परिणाम पर रोक लगा दी थी। गुरुवार को हाईकोर्ट द्वारा हटाई गई रोक के बाद सफाईकर्मियों की सूची चस्पा कर दी गई जिसमें ब्यावर उपखंड में कुल 161 सफाईकर्मियों को नौकरी का तोहफा मिला। कुल 161 में से 147 सफाईकर्मियों को नियुक्ति पत्र सौंप दिये गये। आपको बता दे कि ब्यावर नगर परिषद में वर्तमान में कुल 487 सफाईकर्मीयों की संख्या हो चुकी है जो शहर की सफाई व्यवस्था को व्यवस्थित करेंगे।  
 

और पढ़ें

Most Related Stories

कोर्ट में चल रहे पारिवारिक विवाद के चलते पेशी पर आए युवक ने काटी हाथ की नसें

कोर्ट में चल रहे पारिवारिक विवाद के चलते पेशी पर आए युवक ने काटी हाथ की नसें

ब्यावर(अजमेर): कोर्ट मे चल रहे पारिवारिक विवाद के चलते पेशी पर आए एक युवक ने तैश मे आकर ब्लेड से अपने हाथ की नसें काट ली. जिस कारण वह गंभीर रूप से घायल हो गया और गश खाकर सड़क पर गिर गया. जिस समय युवक सड़क पर गिरा उसी समय एसडीएम जसमीत सिंह संधू उधर से गुजर रहे थे. एसडीएम ने तुरंत घायल युवक को अपनी कार मे बैठाकर उसे राजकिय अमृतकौर अस्पताल मे पहुंचाया तथा पुलिस को इसकी सूचना दी. घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस ने एकेएच पहुंचकर घायल युवक के बयान दर्ज किए तथा मामले की जांच मे जुट गई है.

युवक की शादी से संबंधित पारिवारिक विवाद कोर्ट में चल रहा: 
जानकारी के मुताबिक शाहपुरा मोहल्ला भांभीयो का होद निवासी महेंद्र पुत्र हरीराम का पारिवारिक विवाद ब्यावर कोर्ट मे चल रहा है जिस पर सुनवाई के लिए कोर्ट की ओर से मंगलवार की तारीख परिवादी को दी गई थी. जिसके चलते मंगलवार को परिवादी तथा दूसरे पक्ष के लोग कोर्ट परिसर पहुंचे. इस दौरान जब वह कोर्ट परिसर मे पेशी पर आए तो उस दौरान दोनों पक्षों में विवाद गर्माने पर युवक ने स्वयं आत्महत्या करने का प्रयास किया. अधिवक्ता संजय नाहर ने बताया कि उक्त युवक की शादी से संबंधित पारिवारिक विवाद कोर्ट में चल रहा है. इसी के तहत दोनों पक्ष आज कोर्ट पेशी पर आए लेकिन युवक की पत्नी के बीच दोनों में विवाद गर्माया तो युवक ने उक्त हरकत कर डाली. हालांकि समय रहते मौके से गुजर रहे उपखंड अधिकारी ने युवक की सुध ली और अपने ही वाहन में बैठाकर तत्काल उपचार हेतु एकेएच भर्ती करवाया. फिलहाल युवक की हालत मे सुधार है.

मेडिकल व्यावसायी से हुई 6 लाख की लूट का पुलिस ने किया पर्दाफाश, चार आरोपी गिरफ्तार

मेडिकल व्यावसायी से हुई 6 लाख की लूट का पुलिस ने किया पर्दाफाश, चार आरोपी गिरफ्तार

ब्यावर(अजमेर): नववर्ष की पूर्व संध्या पर मेडिकल व्यावसायी के साथ हुई लूट की वारदात का राजफाश करते हुए पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है. पुलिस ने प्रकरण मे ब्यावर और आसपास के क्षेत्र मे रहने वाले शाहरूख, साहिल, सुनील तथा राहुल को गिरफतार किया है. पुलिस ने आरोपियों की निशानदेही से लूट की गई राशी भी बरामद कर ली है. 

मेडिकल की शॉप बंद कर वापस घर जा रहा था व्यावसायी:
डिप्टी हीरालाल सैनी ने बताया कि बोहरा कॉलानी निवासी हेमचंद मूथा ने एक शिकायत देकर बताया कि 31 दिसंबर की रात मे वह अपनी मेडिकल की शॉप बंद कर वापस अपने घर बोहरा कॉलोनी की ओर जा रहा था. जब वह अपने घर के पास पहुंचा तो उसका पीछा कर रहे चार युवकों ने उसे धक्का देकर उसकी एक्टीवा लेकर मौके से फरार हो गए जिसकी डिक्की मे 6 लाख रूपये रखे हुए थे. जिस पर मामला दर्ज कर अनुसंधान शुरू किया.

पुलिस ने एक हफ्ते में किया खुलासा:
पुलिस ने एसपी कुवंर राष्ट्रदीप के निर्देशानुसार महज एक हफ्ते में ही आरोपियों को गिरफ्तार कर वारदात का खुलासा करने मे सफलता हासिल की है. सैनी ने बताया कि आरोपियों से गहनता से पूछताछ से सामने आया है कि आरोपी बाईक चोरी, नकबजनी की वारदात करना भी कबूल किया है. सैनी ने बताया कि आरोपियों से 5 लाख रूपये तथा लूट की वारदात मे प्रयुक्त मोटर साईकिल तथा पीड़ित मूथा की एक्टीवा बरामद कर ली है. 

लाइसेंसधारी कर रहे नकली शराब को लो लेवल से हाई लेवल में मिलाकर बेचने का गोरखधंधा

लाइसेंसधारी कर रहे नकली शराब को लो लेवल से हाई लेवल में मिलाकर बेचने का गोरखधंधा

ब्यावर: आबकारी विभाग अजमेर तथा ब्यावर की टीम ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए मंगलवार को शहर से नकली शराब बरामद की है. ताज्जुब की बात तो यह है कि उक्त नकली शराब विभाग के लाइसेंस पर संचालित की जा रही अंग्रेजी शराब की दुकान से बरामद हुई है. टीम ने इस मामले में शराब दुकान के एक सेल्समैन को गिरफतार किया है. साथ ही दकान से बड़ी तादात में खाली पव्वें, बोतलों के ढक्कन तथा ट्यूब आदि भी बरामद किए है. 

अवैध शराब के खिलाफ अभियान:
पुलिस ने लाइसेंसधारी के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है. मालूम हो कि आबकारी विभाग की और से प्रदेशभर में नकली तथा अवैध शराब के खिलाफ एक अभियान चलाया रहा है. इसी के तहत एडिशनल एसपी आबकारी राजेन्द्रसिंह राठौड़ के निर्देश पर मंगलवार को डीओ राजेश गोयल तथा महावीर कुमार राठौड़ ने ब्यावर पीओ हरस्वरूपसिंह तथा सर्किल इंसपेक्टर पोखरलाल गहलोत ने संयुक्त रूप से कार्रवाई करते हुए अजमेर रोड आदर्श नगर स्थित लाइसेंसधारी लक्ष्मणराम पुत्र सुगना की दुकान पर दबिश दी. 

सेल्समैन गिरफ्तार:
दबिश के दौरान आबकारी अधिकारियों ने दुकान पर प्लास्टिक की बोलतों में भरी नकली शराब मिली. साथ ही दुकान से बोतलों के ढक्कन, खाली ट्यूब तथा कांच के पव्वें भी मिले. नकली शराब मिलने पर अधिकारियों ने सेल्समैन नरेन्द्र कुमार से पूछताछ की तो वह संतोषजनक जवाब नहीं दे पाया. इस पर टीम ने सभी बोतलें व सामग्री बरामद करते हुए सेल्समैन को गिरफ्तार कर लिया. बताया जा रहा है कि दुकान से बरामद नकली शराब को लो लेवल से हाई लेवल में मिलाकर बेचने का गोरखधंधा चल रहा था.  

विवाहिता के प्रेम प्रसंग के चलते परिजनों ने किया जिंदा जलाने का प्रयास

विवाहिता के प्रेम प्रसंग के चलते परिजनों ने किया जिंदा जलाने का प्रयास

ब्यावर: जवाजा थाना क्षेत्र के काबरा गांव में एक विवाहिता के प्रेम प्रसंग की भनक लगने के बाद विवाहिता के रिश्तेदारों की और से विवाहिता सहित उसके प्रेम को जिंदा जलाने का प्रयास का मामला सामने आया है. घटना में विवाहिता 70 प्रतिशत तक जल गई, जबकि प्रेमी को उसके परिजनों ने बाहर निकालकर बचा लिया. विवाहिता को उपचार के लिए राजकीय अमृतकौर चिकित्सालय में भर्ती करवाया गया है. 

70 प्रतिशत तक जली विवाहिता:
मामले को लेकर विवाहिता के पति ने रिश्तेदारों के खिलाफ जवाजा थाने में लिखित शिकायत की है. प्रकरण में उपखंड अधिकारी जेएस संधू ने अस्पताल में जीवन व मृत्यु के बीच संघर्ष कर रही विवाहिता के बयान दर्ज किए है. जवाजा थानाधिकारी कंवरपालसिंह ने बताया कि काबरा गांव सुरेश रावत की पत्नी आशादेवी अपने एक लड़के तथा एक लड़की के साथ रहती है. उसका पति सुरेश केटरिंग का काम करता है और ज्यादातर पाली में ही रहता है. सिंह ने बताया कि आशादेवी के घर पर एक युवक आया था. इसकी जानकारी उसके पडौस में रहने वाले उसके रिश्तेदार शंकरसिंह, नरेन्द्र व चरणसिंह को हुई. जानकारी के बाद उसके रिश्तेदारों ने 10-15 अन्य लोगों के साथ मिलकर आशादेवी तथा उस युवक को मारने की नियत से उसके घर में घुस गए तथा गैस सिलेण्डर में आग लगाकर दरवाज बंद करते हुए बाहर निकल गए. इस प्रकार की घटना की जानकारी मिलते ही युवक के परिजन मौके पर पहुंचे तथा घर का दरवाजा खोलकर उसे बाहर निकाल लिया तथा दरवाजा पुन: बंद कर दिया. घटना की जानकारी मिलने पर अन्य गांव वालों ने दरवाजा खोलकर आग को बुझाया, लेकिन विवाहिता 70 प्रतिशत तक जल गई. 

मामला दर्ज:
उधर प्रकरण की जानकारी मिलते ही जावाजा थानाधिकारी कंवरपालसिंह मय जाब्ते के मौके पर पहुंचे तथा विवाहिता को झुलसी हुई हालत में उपचार के लिए राजकीय अमृतकौर चिकित्सालय लाकर भर्ती करवाया. पत्नी के साथ घटे घटनाक्रम की जानकारी पर उसका पति भी घर पहुंचा. इस संदर्भ में विवाहिता न रिश्तेदार शंकरसिंह, नरेन्द्र व चरणसिंह सहित 10-15 अन्य के खिलाफ जान से मारने के आरोप में शिकायत दी है. पुलिस ने धारा 370 में मामला दर्ज कर कार्यवाहीं शुरू कर दी है. बताया जा रहा है कि रावली बराखन निवासी आशादेवी का 2015 में काबरा निवासी सुरेश के साथ नाता हुआ था. यहां पर विवाहिता के एक बेटा व एक बेटी है. 

शराब के नशे में धुत पति ने ससुराल में रह रही प्रसूता पत्नी के साथ की मारपीट

शराब के नशे में धुत पति ने ससुराल में रह रही प्रसूता पत्नी के साथ की मारपीट

ब्यावर(अजमेर): शहर के कॉलेज रोड स्थित जटिया कॉलोनी मे एक शराबी पति ने धुत नशे मे अपने ससुराल में घुसकर एक माह की प्रसूता पत्नी के साथ मारपीट कर दी. मारपीट के दौरान पत्नी के चिल्लाने से आस पास के लोग मौके पर पहुंच गए जिनको देखकर पति मौके से फरार हो गया. पड़ोसियों ने उसे उपचार के लिए राजकिय अमृतकौर अस्पताल मे लाकर भर्ती कराया जहां पर उसका उपचार जारी है.

रवि की पत्नी प्रवस के लिए पीहर आई थी: 
जानकारी के अनुसार रवि कुमार जटिया की पत्नी चांदनी देवी प्रसव के लिए अपने पीहर जटिया कॉलोनी आई थी. बताया जा रहा है कि पीहर पक्ष में किसी के निधन हो जाने के कारण सभी परिजन वहां पर गए हुए थे. पीछे से मौका देखकर रवि शराब के नशे मे अपने ससुराल आया और अपनी पत्नी चांदनी के साथ मारपीट कर दी. मारपीट करने पर उसकी पत्नी चांदनी जोर जोर से चिल्लाने लगी उसकी आवाज सुनकर आस  पडोस के लोग मौके पर पहुंचे तो उन्हे देखकर रवि वहां से रफुचक्कर हो गया.

पड़ोसियों ने पीड़िता को अस्पताल में भर्ती करवाया: 
पड़ोसियों ने उसे राजकीय अमृतकौर अस्पताल मे भर्ती कराया. बाद मे घटना की जानकारी मिलने के बाद परिजन भी राजकीय अस्पताल पहुंचे. परिजनों ने बताया कि रवि आए दिन नशे की हालत मे आता है और किसी ने किसी बात को लेकर चांदनी के साथ मारपीट करता रहता है. फिलहाल मामले मे पीड़ित पक्ष की ओर से किसी तरह की पुलिस मे शिकायत नही दी गई है. 

अवैध बजरी परिवहन के खिलाफ कार्रवाई, चार ट्रेक्टर-ट्राली और डम्पर जब्त

अवैध बजरी परिवहन के खिलाफ कार्रवाई, चार ट्रेक्टर-ट्राली और डम्पर जब्त

ब्यावर(अजमेर): अवैध बजरी परिवहन के खिलाफ एसडीएम जसमीत सिंह संधू ने शहर के अलग अलग जगहों पर कार्रवाई करते हुए चार बजरी से भरे ट्रेक्टर ट्राली तथा एक बजरी से भरा डम्पर जब्त किया है. एसडीएम की अवैध बजरी परिवहन करने वालो के खिलाफ कार्रवाई से बजारी माफियाओ मे हडकम्प मच गया. कार्रवाई के दौरान संधू ने सदर थाना क्षेत्र से एक ट्रेक्टर ट्राली और एक बजरी से भरा डम्पर जब्त कर सदर थाना पुलिस के सुपुर्द कर दिया.

खनन विभाग के अधिकारियों को दी सूचना: 
वहीं सिटी थाना क्षेत्र के नगर परिषद मार्ग सहित अन्य जगहों पर कार्रवाई कर तीन बजरी से भरे ट्रेक्टर ट्राली जब्त कर सिटी थाना पुलिस के सुपुर्द कर दिए है. कार्रवाई के दौरान ट्रेक्टर चालक ट्रक्टर मौके पर छोड़कर फरार हो गए. पुलिस ने एसडीएम के द्वारा की गई बजरी माफियाओ के खिलाफ कार्रवाई की सूचना खनन विभाग के अधिकारियों को दी गई. अब खनन विभाग नियामानुसार अवैध रूप से बजरी परिवहन करते कपड़े गए ट्रेक्टर चालको के खिलाफ कार्रवाई करेगा.     

तेजाजी महाराज का तीन दिवसीय मेला हर्षोल्लास के साथ शुरू

तेजाजी महाराज का तीन दिवसीय मेला हर्षोल्लास के साथ शुरू

ब्यावर(अजमेर): श्री वीर तेजाजी महाराज का तीन दिवसीय मेला शनिवार को उत्साह, उमंग व हर्षोल्लास के साथ शुरू हुआ. मेले के शुभारम्भ कार्यक्रम के तहत तेजा मेला प्रवेश कार्यक्रम का उद्घाटन कांग्रेस प्रत्याशी व पीसीसी सचिव पारमल जैन, नगर परिषद सभापति श्रीमती कमला दगदी, मेला संयोजिक सम्पत्ति बोहरा आयुक्त राजेंद्रसिंह चांदावत आदि ने सुभाष उद्यान के मुख्य द्वार पर फीता काटकर किया.

मेले का आज हर्षोल्लास के साथ शुभारम्भ:
मेला संयोजिका सम्पत्ति बोहरा ने बताया कि जन-जन की आस्था से जुड़े ब्यावर के सुप्रसिद्ध तेजा मेले का आज हर्षोल्लास के साथ शुभारम्भ हुआ. इस मौके पर बड़ी संख्या में आमजन, गणमान्य नागरिक, स्थानीय जनप्रतिनिधि, अधिकारी, पुलिस बल आदि मौजूद थे. उन्होंने बताया कि तेजा मेला प्रवेश कार्यक्रम के उदघाटन से पूर्व एकता सर्किल स्थित माताजी की मूर्ति की पूजा अर्चना करते हुए सभी ढोल ढ़माकों के साथ तेजा चौक पहुंचे जहां पर श्री वीर तेजाजी महाराज के मंदिर में विधिवत पूजा अर्चना करते हुए दूध व नारियल का भोग लगाया. मेले की सफलता एवं जन-जन की खुशहाली की कामना की गई.

मेले को सम्मलित प्रयासों से सफल बनाया जाएगा: 
पीसीसी सचिव पारमल जैन व नगर परिषद सभापति कमला दगदी ने तेजा मेला के शुभारम्भ के अवसर पर आमजन को बधाई देते हुए कहा कि आस्था व विश्वास से जुड़े श्री वीर तेजाजी महाराज के मेले को सम्मलित प्रयासों से सफल बनाया जाएगा. उन्होंने इस मेले में आमजन से परिवार सहित शामिल होकर इसकी शोभा बढ़ाने एवं श्री तेजाजी महाराज का आशिर्वाद प्राप्त करने की बात कही.   

अंधविश्वास के चलते कई मासूमों की जिंदगी से हो रहा खिलवाड़

अंधविश्वास के चलते कई मासूमों की जिंदगी से हो रहा खिलवाड़

ब्यावर: विज्ञान के इस युग में आज भी अंधविश्वास के चलते कई मासूमों की जिंदगी से खिलवाड़ किया जा रहा है. पिछले कुछ माह में ब्यावर और आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में इलाज के नाम पर मासूमों को दागने के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं. ऐसा ही एक मामला ब्यावर से सटे पाली जिला क्षेत्र के पचानपुरा गांव में फिर सामने आया. 

बिगड़ी मासूम की तबीयत:
दरअसल पचानपुरा गांव में एक सात माह की मासूम को परिजनों ने निमोनिया में सुधार नहीं होने पर एक कथित भोपी को दिखाया. महिला भोपी ने मां के सामने सात माह की दूधमुहीं मासूम को तीन बार दाग दिया. जिसके बाद भी स्थिति में सुधार तो नहीं हुआ उल्टा दागने से हुए इंफेक्शन से मासूम की तबीयत बिगड़ने लगी, जिस पर परिजनों ने मंगलवार देर रात राजकीय अमृतकौर अस्पताल में भर्ती करवाया. 

बीड़ी पीते हुए दाग दिया तीन बार:
सबसे बड़ी बात यह है कि उक्त मामले में भी परिजन ना तो भोपी का नाम बता रहे हैं और ना ही उसके बारे में कोई और जानकारी. जानकारी के अनुसार रायपुर के पचानपुरा निवासी ढगलाराम की सात माह की पुत्री भावना को निमोनिया की शिकायत होने पर परिजनों ने उसे आस-पास में दिखाया. स्थिति में सुधार नहीं होने पर भावना की माता लीला उसे सोमवार को गांव से कुछ दूरी पर किसी महिला भोपी के पास ले गई. जहां भोपी ने मासूम भावना को उपचार के नाम पर बीड़ी पीते हुए ही एक बार नहीं तीन बार दाग दिया. दागने के कारण हुए दर्द और पीड़ा से जहां मासूम कराहते हुए रोने लगी, तो वहीं उसके पास ही बैठी उसकी मां लीला को उम्मीद बंधी की अब उसकी पुत्री की तबीयत में सुधार हो जाएगा, लेकिन मासूम की स्थिति सुधरने की बजाय और ज्यादा बिगड़ गई और परिजनों ने उसे मंगलवार को राजकीय अमृतकौर अस्पताल में भर्ती करवाया. 

सामने आ चुके आधा दर्जन से अधिक मामले: 
गौरतलब है कि पिछले छह माह में एकेएच में गर्म सरिए से दागने के आधा दर्जन से अधिक मामले सामने आ चुके हैं. अंधविश्वास से ग्रस्त लोग ये नहीं समझ पाते कि बीमारी से ग्रस्त मासूम को दागना मासूम के लिए खतरनाक साबित हो सकता है. शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. एमएस चांदावत ने बताया कि निमोनिया से ग्रस्त मासूम को दागना जानलेवा हो सकता है. ऐसे में मासूमों का उपचार नहीं करवा कर बच्चे को दागने से सेप्टीसिमिया और तार से दागने से टिटनेस जैसे जानलेवा संक्रमण का भी खतरा बढ़ जाता है. किशोर अधिनियम 15 के तहत बच्चों पर इस तरह की क्रूरता करने पर कार्रवाई का प्रावधान है. इसमें तीन साल की सजा और एक लाख के जुर्माने का प्रावधान है. 

Open Covid-19