अर्पणा सेन की ‘द रेपिस्ट’ ने बुसान फिल्मोत्सव में किम जिसियोक पुरस्कार जीता, सेन बोली- पुरस्कार के मेरे लिए अनेक मायने

अर्पणा सेन की ‘द रेपिस्ट’ ने बुसान फिल्मोत्सव में किम जिसियोक पुरस्कार जीता, सेन बोली- पुरस्कार के मेरे लिए अनेक मायने

अर्पणा सेन की ‘द रेपिस्ट’ ने बुसान फिल्मोत्सव में किम जिसियोक पुरस्कार जीता, सेन बोली-  पुरस्कार के मेरे लिए अनेक मायने

नई दिल्ली: राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित निर्देशक अर्पणा सेन की फीचर फिल्म ‘द रेपिस्ट’ ने बुसान अंतरराष्ट्रीय फिल्मोत्सव में प्रतिष्ठित किम जिसियोक पुरस्कार अपने नाम किया. 

इस फिल्म में कोंकणा सेन शर्मा, अर्जुन रामपाल और तन्मय धनानिया ने अभिनय किया है. इसका हाल में ‘ए विंडो ऑन एशियन सिनेमा’ वर्ग के तहत उत्सव में वर्ल्ड प्रीमियर हुआ था. दिवंगत कार्यक्रम निर्देशक किम जिसियोक की याद में 2017 में शुरू किए गए इस पुरस्कार के लिए ‘द रेपिस्ट’ के सामने नवाजुद्दीन सिद्दीकी अभिनीत ‘नो लैंड्स मैन’ समेत छह अन्य फिल्मों की चुनौती थी. 

75 वर्षीय सेन ने कहा कि उनके निर्देशन में बनी फिल्म के पुस्कार जीतने पर वह अभिभूत हैं. उन्होंने कहा कि यह पुरस्कार मेरे लिए बहुत मायने रखता है, क्योंकि मैं कई साल पहले निर्णायक मंडल के सदस्य के रूप में बुसान में थी और मुझे किम से मिलने का सौभाग्य मिला था. मैं जानती हूं कि किम ने दुनियाभर में एशियाई सिनेमा को प्रोत्साहित करने के लिए जीवन भर अथक काम किया. क्वेस्ट फिल्म्स प्राइवेट लिमिटेड के सहयोग से ‘अप्लॉज एंटरटेनमेंट’ द्वारा निर्मित ‘द रेपिस्ट’ में फिल्म के तीन चरित्रों की कहानी दिखाई गई है, जिनका जीवन एक भयानक घटना के कारण आपस में जुड़ जाता है. बुसान अंतरराष्ट्रीय फिल्मोत्सव का 26वां संस्करण शुक्रवार को समाप्त हुआ. सोर्स-भाषा
 

और पढ़ें