Live News »

सुअर मुक्त शहर बनाने के इंतजाम फेल, पूर्व पार्षद ने पेट्रोल छिड़ककर आत्मदाह करने की दी चेतावनी

सुअर मुक्त शहर बनाने के इंतजाम फेल, पूर्व पार्षद ने पेट्रोल छिड़ककर आत्मदाह करने की दी चेतावनी

प्रतापगढ़: जिले के पूर्व पार्षद और भाजपा नेता ने पेट्रोल छिड़ककर आत्मदाह करने की चेतावनी दी है. शहर को सुअर मुक्त बनाने के लिए प्रतापगढ़ की नगर परिषद के बाहर धरने पर बैठे प्रहलाद गुर्जर ने समस्या का समाधान नहीं होने पर यह बात कही है. प्रतापगढ़ शहर में आमजन सुअर की समस्या से लंबे अरसे से परेशान है. कई बार नगर परिषद की ओर से सुअर पालकों को पाबंद भी किया गया और इनको पकड़ने के लिए अभियान भी चलाया गया लेकिन इसका कोई असर आज दिन तक नजर नहीं आया. शहर में अभी भी बड़ी संख्या में सुअर की भरमार है. आए दिन यह सुअर गंदगी फैलाने के साथ राह चलते लोगों को अपना शिकार बना रहे हैं. इससे लोगों में भी काफी नाराजगी और आक्रोश है. मंदिर आने जाने वाले, पूजा पाठ करने वाले लोगों को भी इनसे काफी परेशानी होती है.

प्रशासनिक बैठकों में भी कई बार यह मामला उठ चुका: 
कई बार यह सुअर लोगों के घरों और दुकानों के अंदर तक घुस जाते हैं. छोटे-छोटे बच्चों को भी यह घायल कर चुके हैं. प्रशासनिक बैठकों में भी कई बार यह मामला उठ चुका है लेकिन नतीजा कुछ नहीं निकला. अब प्रतापगढ़ शहर को सुअर मुक्त बनाने के लिए पूर्व पार्षद और भाजपा नेता प्रहलाद गुर्जर ने बीड़ा उठाया है. भाजपा नेता गुर्जर आज से अपने समर्थकों के साथ नगर परिषद परिसर के बाहर धरने पर बैठे हैं. गुर्जर ने चेतावनी दी है कि यदि इस समस्या का समाधान नहीं होता है तो वह भूख हड़ताल करेंगे और यदि इसके बाद भी सुनवाई नहीं होती है तो वह पेट्रोल छिड़ककर आत्मदाह कर लेंगे. अब देखना है गुर्जर की इस चेतावनी का प्रशासन पर क्या असर होता है. 

और पढ़ें

Most Related Stories

यूपी: प्रयागराज में प्रवासी मजूदरों को ले जा रही बस पलटने से 35 मजदूर घायल, तीन की हालत गंभीर

यूपी: प्रयागराज में प्रवासी मजूदरों को ले जा रही बस पलटने से 35 मजदूर घायल, तीन की हालत गंभीर

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में प्रवासी मजदूरों की बस पलटने से हादसे में 35 मजदूर घायल हो गए. मिली जानकारी के अनुसार इनमे से तीन मजदूरों की हालत गंभीर है. बाकि घायल मजदूरों की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है. हादसा टायर फटने से होना बताया जा रहा है. बस जयपुर से वेस्ट बंगाल जा रही थी तभी प्रयागराज के नवाबगंज इलाके में यह हादसा हो गया. हादसे के बाद घायलों का मौके पर ही प्राथमिक उपचार किया जा रहा है जबकि गंभीर घायलों को अस्पातल भेजा जा रहा है. 

विदेश से लौट रहे प्रवासियों के साथ ये कैसा मजाक ? अब देश में ही होटल में होना होगा क्वारंटीन, 14 दिन का खर्च भी खुद ही देना होगा

हालत से परेशान होकर मजदूर पलायन को मजबूर:
देश में 24 मार्च से जारी लॉकडाउन के चलते दिन प्रतिदिन प्रवासी मजदूरों की परेशानी बढ़ती जा रही है. हालत से परेशान होकर मजदूर पलायन को मजबूर हो गए हैं. देश में इस भीषण पलायन के दौर में अब तक कई मजदूर चलते-चलते रोड और ट्रेन एक्सीडेंट में मारे जा चुके हैं. 

पहनें मास्क, रखें दूरी...! लॉकडाउन में राजस्थान पुलिस ने की रिकॉर्ड कार्रवाई, 6 करोड़ से ज्यादा का वसूला जुर्माना

औरैया में 24 मजदूरों की मौत हो गई थी:
बता दें कि हाल में कुछ दिन पहले ही यूी के औरेया में सड़क हादसे में 24 मजदूरों की मौत हो गई थी. वहीं 35 लोग घायल हो गए थे. लॉकडाउन के बीच हाईवे पर इन दिनों दर्द का अंतहीन सिलसिला चल रहा है. रोजी-रोटी के संकट के बीच प्रवासी मजदूर भयानक हालातों में अपने घरों को लौट रहे हैं. मजदूरों के पलायन की चौंकाने वाली तस्वीरें हर दिन सामने आ रही हैं. 


 

नहीं थम रहा मजदूरों का पलायन, भूखे प्यासे कर रहे हैं सफर 

नहीं थम रहा मजदूरों का पलायन, भूखे प्यासे कर रहे हैं सफर 

प्रतापगढ़: लॉकडाउन की वजह से बंद कामकाज के कारण बाहरी राज्यों में मेहनत मजदूरी के लिए गए लोग वापस लौट रहे हैं. मार्च माह से शुरू हुए मजदूरों के पलायन करने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. मजदूर अपने परिजनों के साथ सिर पर गठरी का बोझ और बच्चों का हाथ पकड़ कर दिन-रात पैदल सफर करने को मजबूर है. पोकरण जैसलमेर, जोधपुर, राजसमंद सहित अन्य जगहों से लौटकर आ रहे मजदूर पैरों में पड़े छालों की परवाह किए गए बगैर अपने घर की पेटलावद जाबुआ मध्यप्रदेश, बांसवाड़ा, इंदौर मध्यप्रदेश की ओर बढ़ते नज़र आए.

Rajasthan Corona Updates: राजस्थान में कुल 3099 कोरोना संक्रमित, पिछले 12 घंटे में 38 नए केस आये सामने, जयपुर में 5 लोगों की मौत   

लोगों के सामने आर्थिक संकट:
मजदूरों ने बताया कि वह पोकरण जैसलमेर से 14 अप्रैल को पैदल ही अपने घरों की और निकल पड़े, हालांकि पैदल सफर कर रहे इन मजदूरों को सामाजिक संस्थाओं द्वारा कई जगहों पर भोजन के पैकेट उपलब्ध कराए जा रहे हैं, लेकिन यह ऊंट में जीरे के समान है. गौरतलब है कि कोरोना वायरस की महामारी से बचने के लिए देशभर में किए गए लॉकडाउन की वजह से गरीब और मजदूर वर्ग के लोगों को ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ा है. लॉकडाउन की वजह से एक ओर जहां काम नहीं मिलने से इन लोगों के सामने आर्थिक संकट खड़ा हो गया है.

मजदूरों का पैदल ही सफर: 
आवागमन के साधन नहीं चलने से यह लोग अपने सिरों पर गठरी का बोझ लिए सैकड़ों किलोमीटर दूर से पैदल चलकर अपने घर पहुंचने के लिए चलते जा रहे हैं. घर पहुंचने के जुनून के आगे इन लोगों को न तो पैर के छाले दिख रहे हैं और न ही धूप. बस यह लोग चलते जा रहे हैं. इन 45 लोगों की आने की सूचना मिलने पर हॉस्पिटल मेल नर्स अभिषेक भंवरा द्वारा सभी की स्क्रीनिंग की गई. इनमें कई छोटे बच्चे भी शामिल थे. समाज सेवी बन्टी शर्मा द्वारा बिना चप्पल के पलायन कर रहे मजदूरों व बच्चों को चप्पल पहनाएं गये व मजदूरों को भोजन कराया गया, उसके पश्चात फ़िर मजदूर अपने राज्य की और पैदल ही चल पड़े.

शहीद कर्नल आशुतोष शर्मा पंचतत्व में विलीन,सैन्य सम्मान के साथ किया गया अंतिम संस्कार

सरकार ने दी किसानों को बड़ी राहत, प्रतापगढ़ में चना और सरसों की समर्थन मूल्य पर खरीदी शुरू 

सरकार ने दी किसानों को बड़ी राहत, प्रतापगढ़ में चना और सरसों की समर्थन मूल्य पर खरीदी शुरू 

प्रतापगढ़: राजस्थान सरकार ने प्रतापगढ़ जिले के किसानों को बड़ी राहत देते हुए चना और सरसों की समर्थन मूल्य पर खरीदी शुरू कर दी है. गेहूं की खरीद पहले से ही की जा रही है . बगवास फल सब्जी मंडी में शनिवार को 30 किसानों के चना और सरसों की तुलाई की गई साथ ही 2000 गेहूं के कट्टों की भी यहां पर आवक हुई. भारतीय खाद्य निगम की ओर से समर्थन मूल्य पर यह खरीद 30 जून तक की जाएगी.

चना और सरसों की खरीद भी प्रारंभ:
कृषि उपज मंडी समिति सचिव मदन लाल गुर्जर ने बताया कि राज्य सरकार के निर्देश पर बीती 25 अप्रैल से समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीदी शुरू की गई थी. शनिवार से चना और सरसों की खरीद भी प्रारंभ कर दी गई है. पूरे जिले में इसके लिए 21 केंद्र बनाए गए हैं. अरनोद और छोटी सादड़ी में भी यह खरीद प्रारंभ हो चुकी है. न्यूनतम समर्थन मूल्य जहां चने का 4875 रुपए प्रति क्विटंल  ,तो सरसों का 4425 रुपए प्रति क्विंटल के हिसाब से प्रदान किया जा रहा है. गेहूं का समर्थन मूल्य 1925 रूपए  है. 

Rajasthan Corona Updates: जयपुर में 18 दिन के बच्चे की कोरोना से मौत, राजस्थान में इतनी कम उम्र में मौत का पहला केस

सोशल डिस्टेंसिंग की पालना:
बड़ी संख्या में पहुंच रहे किसानों को राहत प्रदान करने के लिए यहां विशेष इंतजाम किए गए हैं. यहां किसानों को सोशल डिस्टेंसिंग की पालना करने और मुंह पर मास्क लगाने की लगातार अपील की जा रही है. गुर्जर ने बताया कि समर्थन मूल्य पर अपनी उपज को लेकर आने वाले किसानों को पहले रजिस्ट्रेशन करवाना होगा उसके बाद टोकन मिलने पर तय दिनांक को अपनी उपज लेकर मंडी में आवश्यक दस्तावेजों के साथ आ सकते हैं.

रेल कर्मियों को मिली बड़ी राहत ! पुरानी पेंशन स्कीम में पंजीकृत हो सकेंगे रेल कर्मचारी

प्रतापगढ़ में पुलिस ने लूट के आरोप में हिस्ट्रीशीटर समेत दो जनों को किया  गिरफ्तार

प्रतापगढ़ में पुलिस ने लूट के आरोप में हिस्ट्रीशीटर समेत दो जनों को किया  गिरफ्तार

प्रतापगढ़: प्रतापगढ़ की छोटीसादड़ी थाना पुलिस ने लूट के आरोप में हिस्ट्रीशीटर सहित दो जनों को गिरफ्तार किया है. आरोपियों में एक कनावटी जेल तोड़ने का मुख्य आरोपी है. छोटी सादड़ी थाना अधिकारी रविंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि बीती 18 अप्रैल को धर्मेंद्र कुमार  बावरी निवासी नारायण ने थाने में रिपोर्ट दी जिसमें बताया कि तीन जनों ने प्राथी के साथ मारपीट करके बाइक को छीन कर ले गए.

घरेलू गैस के दामों में भारी गिरावट, 14.2 किलो के घरेलू गैस सिलेंडर का मूल्य 148 रुपए घटा

पुलिस से बचने का कर रहा था प्रयास:
पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर मामले की जांच शुरू की. मामले की गंभीरता को थानाधिकारी के द्वारा आरोपी की धरपकड़ के लिए एक विशेष टीम का गठन किया गया. टीम के द्वारा लगातार आरोपी की तलाश की जा रही थी. लेकिन आरोपी लगातार पुलिस से बचने का प्रयास कर रहे थे.

Rajasthan Corona Updates: राजस्थान में 2617 कोरोना संक्रमित, पिछले 12 घंटे में सामने आये 33 नए केस, जानिए जिलेवार आंकड़े

कनावटी जेल तोड़ने का मास्टरमाइंड:
टीम को सूचना मिली कि आरोपी मिट्ठू लाल पिता उदयलाल बावरी निवासी नाराणी, अमृतलाल पिता रायसिंह बावरी निवासी नाराणी डोकाखाल के जंगल के केसुन्दा मध्यप्रदेश की सीमा के पास में छिपे हुए हैं. जिस पर टीम ने सुनियोजित तरीके से घेराबंदी कर दोनों आरोपी को गिरफ्तार किया गया. पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से लूट की बाइक बरामद की है. आरोपी मिट्ठू लाल बावरी थाने का हिस्ट्रीशीटर है. जिसके खिलाफ थाने में 25 प्रकरण दर्ज है. आरोपी मिट्ठू लाल कनावटी जेल तोड़ने का मास्टरमाइंड रह चुका है.

प्रतापगढ़ में एक बुजुर्ग की तालाब में मिली लाश, इलाके फैली सनसनी

प्रतापगढ़ में एक बुजुर्ग की तालाब में मिली लाश, इलाके फैली सनसनी

प्रतापगढ़: प्रदेश प्रतापगढ़ जिले के छोटीसादड़ी तालाब में एक बुजुर्ग की लाश मिलने से सनसनी फैल गई. लाश की पहचान कासम भाई  बोहरा के रूप में हुई है,जो सुबह घर से निकला था. जानकारी मुताबिक आसपास रहने वालों लोगों ने तालाब के बाहर टोपी, जूते और पर्स देखा तो उन्हें शंका हुई और लोगों ने पर्स में मिली डायरी से दो तीन जनों को कॉल किया तो एक कॉल उनकी पत्नी को लगा.

जरूरतमंदो को राशन नही देने पर किया हंगामा, खाद्य सुरक्षा में चयनित परिवारों ने किया हंगामा

पोस्टमार्टम के लिए शव भेजा अस्पताल:
लोगों ने इसके बारे में सूचना दी. सूचना पर परिजन ओर पुलिस मौके पर पहुंचे और  नगरपालिका कर्मचारियों ने तालाब में बुजुर्ग को काफी देर तक ढूंढा. बड़ी मशक्कत के बाद तालाब के बीच में कासम भाई दाऊजी बोहरा मिला. शव को पालिका कर्मचारियों की मदद से बाहर निकाला गया. पुलिस बल ने शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेजा और जांच-पड़ताल शुरू की.

Rajasthan Corona Updates: कोटा में कोरोना मरीजों की संख्या पहुंची 148, परकोटा सहित 6 थाना इलाकों में कर्फ्यू जारी

प्रतापगढ़ में शांतिभंग के आरोप में एक मौलाना गिरफ्तार, जांच में जुटी पुलिस 

प्रतापगढ़ में शांतिभंग के आरोप में एक मौलाना गिरफ्तार, जांच में जुटी पुलिस 

प्रतापगढ़: प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले में पुलिस ने शनिवार को शांति भंग के मामले में एक मौलाना को गिरफ्तार किया है. वाटर वर्क्स रोड इलाके में की गई इस कार्रवाई के दौरान पुलिस ने 6 अन्य लोगों को भी हिरासत में लिया है. इनकी स्क्रीनिंग करवाई जा रही है. गिरफ्तार मौलाना उड़ीसा के भद्रक का बताया जा रहा है. पुलिस अब इस संदिग्ध के तबलीगी जमात से जुड़े होने के एंगल पर भी जांच कर रही है.

Modified lockdown: सचिवालय में प्रवेश करते वक्त अधिकारियों और कर्मचारियों को इन नियमों का पालन करना जरूरी

एक सप्ताह से देखी गई संदिग्ध गति​विधियां:
कोतवाली थाना के सहायक पुलिस निरीक्षक पारस शर्मा ने बताया कि सूचना मिली थी कि वाटर वर्क्स रोड इलाके में पिछले 1 सप्ताह से कुछ लोगों की संदिग्ध गतिविधियां देखी जा रही है. इस पर पुलिस मौके पर पहुंची और यहां मौजूद मौलाना से पूछताछ की तो उसने सहयोग नहीं किया और पुलिसकर्मियों से उलझने लगा. 

जांच में जुटी पुलिस:
इस पर पुलिस ने सख्ती दिखाते हुए मौलाना को शांति भंग के आरोप में गिरफ्तार कर लिया. साथ ही इलाके में मौजूद छह अन्य लोगों को भी हिरासत में लेकर स्क्रीनिंग के लिए जिला चिकित्सालय भिजवाया गया. फिलहाल सभी की गतिविधियों को संदिग्ध मानते हुए पुलिस जांच में जुटी है.

भरतपुर में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ने पर पर्यटन मंत्री विश्वेंद्र सिंह ने जताई गहरी चिंता

प्रतापगढ़ पुलिस ने गिरफ्तार किए 3 इनामी शूटर, हत्या के आरोप में चल रहे थे फरार

प्रतापगढ़ पुलिस ने गिरफ्तार किए 3 इनामी शूटर, हत्या के आरोप में चल रहे थे फरार

प्रतापगढ़: डेढ़ साल पहले प्रतापगढ़ में एक भाजपा कार्यकर्ता की गला रेतकर और गोली मारकर हत्या करने के मामले में फरार चल रहे तीन इनामी शूटर को गुरुवार को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. इस मामले में पुलिस पहले ही 5 आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है. गिरफ्तार शूटरों पर हत्या और लूट के कई मामले पहले ही दर्ज है. इन पर पुलिस ने पांच-पांच हजार रुपए का इनाम घोषित कर रखा था. अधीक्षक पूजा अवाना ने बताया कि 3 नवंबर 2018 को कोतवाली थाना क्षेत्र के संचई गांव के रहने वाले समरथ कुमावत की कड़ियावद फंटे पर तीन बदमाशों ने गोली मारकर और गला रेत कर हत्या कर दी थी.

जमीनी विवाद की वजह से की गई हत्या:
इस मामले में मृतक के भाई शांतिलाल की ओर से कोतवाली थाने में प्रकरण दर्ज करवाया गया था, जिसमें बताया गया कि उसका भाई दोपहर में अपने गांव से बाइक द्वारा प्रतापगढ़ आ रहा था तभी रास्ते में कड़ियावद फंटे के निकट बदमाशों ने उसकी गोली मारकर और गला रेत कर हत्या कर दी. इसके बाद वह मौके से फरार हो गए. शांतिलाल ने दी गई रिपोर्ट में बताया कि उनका गांव के ही कुछ लोगों से जमीनी विवाद चल रहा था जिसके कारण उसकी हत्या की गई है. इस मामले में पुलिस जांच के बाद सामने आया कि मृतक समरथ कुमावत के गांव में स्थित खेत के पास गायरी समाज का देवरा बना हुआ है. जिसको लेकर विवाद चल रहा था.

श्री खोले के हनुमान मंदिर में रामनवमी उत्सव सम्पन्न, दशमी को होगी हवन-पूजा

पुलिस ने कई ठिकानों पर दी दबिश:
इस मामले में अक्खेपुर निवासी रोशम खान ने मध्यस्थता कर समरथ कुमावत से बात की थी. जांच में सामने आया कि समरथ कुमावत ने रोशन खान की बात नहीं मानी और उसकी बेइज्जती कर दी तभी से रोशम खान ने उसको ठिकाने लगाने का मानस बना लिया था. रोशम खान ने मध्य प्रदेश के ताल के रहने वाले शार्प शूटर सोयद, साजिद और अमजद को इसके लिए सुपारी दी. साथ ही गांव के रविंद्र सिंह ,ओम प्रकाश गिरी सहित चार लोगों को समरथ की रेकी करने के लिए लगाया. पुलिस ने मामले में रोशम खान सहित रेकी करने वाले चारों लोगों को पहले ही गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था.

भरतपुर में कोरोना पॉजिटिव मिलने पर प्रशासन में मचा हड़कंप, जुरहरी में कर्फ्यू के आदेश

मध्य प्रदेश के रहने वाले यह शार्प शूटर तभी से फरार चल रहे थे. पुलिस ने इनके कई ठिकानों पर दबिश दी, लेकिन कभी हाथ नहीं आए. कोतवाली थाना अधिकारी मदन लाल खटीक को आज सूचना मिली कि हतुनिया थाना क्षेत्र के बागलिया गांव में यह तीनों शार्प शूटर आए हुए हैं. इस पर दो टीमें गठित कर इन को गिरफ्तार कर लिया गया. एसपी अवाना ने बताया कि इन तीनों शार्प शूटर पर पुलिस ने पांच पांच हजार का इनाम घोषित किया हुआ था . तीनों शार्प शूटर पर हत्या और लूट के कई मामले पहले से दर्ज है.

बड़े ही उत्साह और उमंग के साथ मनाया जा रहा दशा माता का पर्व

बड़े ही उत्साह और उमंग के साथ मनाया जा रहा दशा माता का पर्व

प्रतापगढ़: जिले में आज दशा माता का पर्व बड़े ही उत्साह और उमंग के साथ मनाया जा रहा है. व्रत आराधना कर बड़ी संख्या में आज महिलाओं ने पीपल वृक्ष की पूजा कर परिवार में सुख समृद्धि और शांति की कामना की. 

जैसलमेर में विख्यात तनोट और रामदेवरा मंदिर में कोरोना का असर, गाइडलाइन जारी 

महिलाएं आज व्रत आराधना कर पीपल वृक्ष की पूजा करती है:
होली के दूसरे दिन धुलेंडी से ही दशा माता का 10 दिवसीय पर्व प्रारंभ हो जाता है. डॉक्टर निशा शर्मा ने बताया कि इस दिन महिलाएं सूत के धागे को धारण करती है, जिसमें 10 गांठ लगी होती है. महिलाएं आज व्रत आराधना कर पीपल वृक्ष की पूजा करती है और 10 परिक्रमा देती है. परिवार में सुख समृद्धि और शांति बनी रहे साथ ही सुहाग की लंबी उम्र की कामना को लेकर पूजा-अर्चना की जाती है.

VIDEO: अजमेर में बजरी से भरे डंपर व कार में भीषण भिड़ंत, कार सवार 5 लोगों की मौत 

भारतीय संस्कृति में पीपल वृक्ष की पूजा का काफी महत्व:
शहर में विभिन्न स्थानों पर पीपल वृक्ष की पूजा अर्चना का यह दौर आज सुबह से ही शुरू हो गया था. यहां पर बड़ी संख्या में सुहागीने सज धज कर पूजा की थाली लेकर पहुंची और पीपल वृक्ष की पूजा की. डॉ शर्मा के मुताबिक भारतीय संस्कृति में पीपल वृक्ष की पूजा का काफी महत्व है, इसे माता पार्वती का दर्जा दिया गया है. महिलाएं आज के दिन व्रत रखकर यह सूत का धागा जिसे वेर कहा जाता है धारण करती है. 

Open Covid-19