आसाराम की Bail याचिका: विरोध में दुष्कर्म पीड़िता के पिता ने किया Supreme Court का रुख

आसाराम की Bail याचिका: विरोध में दुष्कर्म पीड़िता के पिता ने किया Supreme Court का रुख

आसाराम की Bail याचिका: विरोध में दुष्कर्म पीड़िता के पिता ने किया Supreme Court का रुख

जयपुर: आसाराम बापू (Asharam Bapu) की जमानत याचिका (Bail Plea) के मामले में दुष्कर्म पीड़िता (Rape Victim) के पिता ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) का रुख करते हुए उसकी जमानत याचिका का विरोध किया है. पिता ने आशंका जताई है कि उनकी बेटी और उनके परिवार को बापू के अनुयायी (Follower) मार सकते हैं.

याचिका में आसाराम को अत्यंत प्रभावशाली बताया है:
वकील उत्सव बैंस (Lawyer Utsav Bains) के माध्यम से दायर याचिका में कहा गया है कि आसाराम बापू अत्यधिक प्रभावशाली है और राजनीतिक रूप (Politically) से जुड़े हुए हैं। देश भर में उनके लाखों अंधभक्त (Superstitious) हैं. याचिका में कहा गया है कि आसाराम ने हत्यारे कार्तिक हलदर (Killer Kartik Halder) को हायर किया था, जिसने चश्मदीदों (Eyewitnesses) को मार डाला और हमला किया. उसने पुलिस के सामने कबूल किया कि बापू ने हत्या करने के आदेश दिए थे.

10 चश्मदीदों पर किया जा चुका है हमला:
याचिका में कहा गया है कि 10 चश्मदीदों पर हमला किया जा चुका है और उनमें से तीन लोगों की मौत हो चुकी है. आशंका जताई गई है कि अगर आसाराम को जमानत दी जाती है तो वह दुष्कर्म पीड़िता और उसके परिवार से बदला लेगा. पीड़िता के पिता ने याचिका में कहा है कि सुनवाई के दौरान उसे और उसके परिवार के सदस्यों को गंभीर परिणाम (Serious Results) भुगतने की धमकी दी गई थी.

आसाराम दुष्कर्म के एक मामले में उम्रकैद की सजा काट रहे है: 
बता दें कि दुष्कर्म के एक मामले में उम्रकैद की सजा काट रहे आसाराम बापू ने पिछले दिनों आयुर्वेद केंद्र (Ayurveda Center) में इलाज कराने के नाम पर जमानत के लिए शीर्ष अदालत का रुख किया था.  राजस्थान सरकार (Rajasthan Government) ने जमानत देने का विरोध करते हुए कहा है कि वह चिकित्सा उपचार की आड़ में अपनी हिरासत की जगह बदलना चाहता है. आसाराम की याचिका पर शुक्रवार को सुनवाई होनी है.

और पढ़ें