Rajasthan: 16 नवंबर को होगी गहलोत कैबिनेट की बैठक, पेट्रोल-डीजल से वैट कम करने पर होगा फैसला

Rajasthan: 16 नवंबर को होगी गहलोत कैबिनेट की बैठक, पेट्रोल-डीजल से वैट कम करने पर होगा फैसला

जयपुर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में 16 नवंबर को कैबिनेट की बैठक होने जा रही है. मंत्रिमंडल विस्तार या पुनर्गठन की चर्चाओं के बीच इस बैठक को काफी अहम माना जा रहा है. सूत्रों की माने तो बैठक में पेट्रोल-डीजल से वैट कम करने पर फैसला होने की संभावना जताई जा रही है. कैबिनेट मीटिंग को लेकर मुख्यमंत्री गहलोत ने रविवार को कहा कि कई राज्यों ने वैट में कमी करके दाम घटाए हैं जिससे राज्यों के बीच भी असमानता हो गई है. पड़ोसी राज्यों और राजस्थान में भी पेट्रोल-डीजल की कीमतों में काफी अंतर आ गया है. 

उन्होंने कहा कि बीजेपी अनावश्यक रूप से हम पर आरोप लगाती है कि राज्य सरकार वैट के रेट कम क्यों नहीं कर रही है. लेकिन हमारी मांग हर आदमी नहीं समझ पा रहा है. जब तक लोग गहराई में नहीं जाएंगे, हमारी मांग नहीं समझ पाएंगे. हमारी मांग है कि केन्द्र जो भी टैक्स कम करेगा उसके अनुपात में राज्य का भी टैक्स अपने आप कम हो जाएगा. इसके साथ ही सीएम गहलोत ने कहा कि हम कैबिनेट और मंत्रिपरिषद की बैठककर इस बारे में विचार-विमर्श करेंगे. जो भी संभव होगा, हम वो फैसला करेंगे. 

25-30 रु. प्रति लीटर बढ़ा दिए और फिर अब अचानक दिखावे के लिए 5-10 रुपए घटा दिए:
इससे आगे बोलते हुए उन्होंने कहा कि पेट्रोल-डीजल को लेकर केन्द्र सरकार की नीति बहुत खराब रही है. साल 2020 में रोजाना वृद्धि करते हुए 25-30 रु. प्रति लीटर बढ़ा दिए और फिर अब अचानक दिखावे के लिए 5-10 रुपए घटा दिए. हमारी मांग है कि केन्द्र सरकार एक्साइज में 10 से 15 रुपए और कम करे. इससे राजस्थान में 3500 करोड़ रुपए का रेवेन्यू का नुकसान होगा. वो जनहित में हमें मंजूर है, जनता की जेब खाली होना बंद होना चाहिए. इसके साथ ही रसोई का बजट बिगड़ रहा है, वो भी कम होना चाहिए. सोनिया गांधी-राहुल गांधी ने यह जनजागरण का प्रोग्राम दिया है, जो पूरे देश में चलेगा. इससे केंद्र सरकार को समझ में आ जाएगा कि महंगाई सबसे बड़ा मुद्दा है. अगर समय रहते फैसला नहीं किया तो उसे भुगतना पड़ेगा. 

और पढ़ें