Live News »

असम में NRC को लेकर हिंसा, विधेयक के खिलाफ गुवाहाटी में निकला विरोध मार्च 

असम में NRC को लेकर हिंसा, विधेयक के खिलाफ गुवाहाटी में निकला विरोध मार्च 

गुवाहाटी। नागरिकता संशोधन विधेयक (NRC) को लेकर असम में भारी विरोध प्रदर्शन चल रहे हैं। इसी के चलते ऑल असम स्टूडेंट्स यूनियन (AASU) ने आज नागरिकता संशोधन विधेयक के खिलाफ गुवाहाटी में विरोध मार्च निकाला। वहीं दिन में बिल को लेकर तिनसुकिया में भी प्रदर्शनकारियों ने बीजेपी के जिला अध्यक्ष पर हमला कर उन्हें बुरी तरह पीट दिया। 

गौरतलब है कि तिनसुकिया में जहां ऑल असम स्टूडेंट यूनियन के सदस्य प्रदर्शन कर रहे थे, ठीक उसके पास राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ की मीटिंग चल रही थी। वहीं पर आरएसएस के लोगों के साथ इस स्टूडेंट संगठन के सदस्यों के बीच झड़प शुरू हो गई। जिसके बाद बीजेपी के जिला अध्यक्ष लखेश्वर मोरान को यूनियन के सदस्यों ने बुरी तरह पीट दिया। प्रदर्शनकारियों के एक समूह ने 11 जनवरी को  बीजेपी कार्यालय में भी तोड़फोड़ की थी। प्रदर्शनकारियों ने प्रधानमंत्री मोदी, असम के सीएम सर्बानंद सोनोवाल के पुतलों को जलाया और केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए राष्ट्रीय राजमार्ग को भी जाम कर दिया। 

बता दें कि असम में उस समय से विरोध हो रहा है, जब सोमवार को केंद्रीय मंत्रिमंडल ने उस विधेयक को पारित किया। यह ड्राफ्ट असम में रह रहे बांग्लादेशी आव्रजकों को अलग करने का लंबे समय से चल रहे अभियान का हिस्सा है। एनआरसी को अपडेट करने की प्रक्रिया 2013 में शुरू हुई थी और प्रक्रिया सुप्रीम कोर्ट के दिशानिर्देशों के तहत की जा रही है। एनआरसी में उन सभी भारतीय नागरिकों के नाम शामिल होंगे, जो असम में 25 मार्च 1971 के पहले से रह रहे हैं यानी जिनके पास उनके परिवार के इस तारीख से पहले से रहने के सबूत हैं।


 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें
और पढ़ें

Stories You May be Interested in