बिजनी Assam Election 2021: बदरुद्दीन पर बरसे अमित शाह, बोले- कान खोल कर सुन लो अजहर, असम को फिर से घुसपैठियों का अड्डा नहीं बनने देंगे

Assam Election 2021: बदरुद्दीन पर बरसे अमित शाह, बोले- कान खोल कर सुन लो अजहर, असम को फिर से घुसपैठियों का अड्डा नहीं बनने देंगे

Assam Election 2021: बदरुद्दीन पर बरसे अमित शाह, बोले- कान खोल कर सुन लो अजहर, असम को फिर से घुसपैठियों का अड्डा नहीं बनने देंगे

बिजनीः बीजेपी के वरिष्ठ नेता और गृहमंत्री अमित शाह ने हाल ही में विपक्ष के नेता को खरी-खरी बात कही है. शाह ने कहा है कि बीजेपी असम को फिर से घुसपैठियों का अड्डा नहीं बनने देगी. असम में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए एआईयूडीएफ प्रमुख अजहर बदरुद्दीन से कहा है कि बीजेपी पिछले पांच वर्षों के दौरान उनके द्वारा अतिक्रमण की गई जमीन को छुड़ाने के बाद असम को फिर से घुसपैठियों का अड्डा नहीं बनने देगी. 

अजहर का दावा अगली सरकार के गठन का ताला-चाबी उनके हाथ में

गौरतलबग है कि अजहर ने दावा किया था कि राज्य में अगली सरकार के गठन का ताला-चाबी (एआईयूडीएफ का चुनाव चिन्ह) उनके हाथ में है. उनके इसी बयान पर तंज कसते हुए अमित शाह ने कहा है कि ये तो जनता तय करेगी की असम में सत्ता कौन चलाएगा. शाह ने चिरांग जिले के बिजनी में रैली को संबोधित करते हुए कहा है कि कान खोल कर सुन लो अजहर, असम को फिर से घुसपैठियों का अड्डा नहीं बनने देंगे.

कांग्रेस पर घुसपैठ को रोकने में नाकाम होने का आरोप लगाया

शाह ने कहा है कि अजमल दावा करते हैं कि सरकार बनाने का ताला-चाबी उनके हाथ में है और वो तय करेंगे की असम में सरकार कौन बनाएगा. शाह ने आगे कहा है कि उन्हें पता नहीं है कि ताला चाबी जनता के हाथ में है. इस दौरान शाह ने कांग्रेस पर घुसपैठ को रोकने में नाकाम होने का आरोप भी लगाया है. शाह ने कहा है कि हमें पांच साल  दे दीजिए, आदमी तो क्या, परिंदे भी घुस नहीं पाएंगे. 

पीएम मोदी ने की थी बोडो समझौते की पहल

उन्होंने दावा किया है कि केन्द्र सरकार और सीएम सर्बानंद सोनोवाल की डबल इंजन सरकार ने सफलतापूर्वक हिंसा को रोकने और आंदोलन के दौर को समाप्त करने का काम किया है. उन्होंने आगे कहा है कि पांच साल पहले मैं यहां राष्ट्रीय अध्यक्ष के रुप में आया था और आप से हिंसा, आंदोलन को खत्म करने और विकास करने का वादा किया था. उन्होंने कहा है कि पीएम मोदी ने बोडो समझौते की पहल की थी जिससे शांति स्थापित हुई है. 

और पढ़ें