जयपुर Azadi Ka Amrit Mahotsav: राजस्थान ने रचा इतिहास, एक करोड़ स्कूली बच्चों ने एक साथ गाए राष्ट्रभक्ति के गाने

Azadi Ka Amrit Mahotsav: राजस्थान ने रचा इतिहास, एक करोड़ स्कूली बच्चों ने एक साथ गाए राष्ट्रभक्ति के गाने

जयपुर: देश आजादी का अमृत महोत्सव (Azadi Ka Amrit Mahotsav) मना रहा है और इस मौके पर राजस्थान ने आज नया इतिहास बना दिया. आज प्रदेशभर के करीब 1 करोड़ स्कूली बच्चों ने एक साथ देश भक्ति के गीतों का 25 मिनट तक निरंतर गायन किया. राज्य स्तरीय कार्यक्रम करीब 25 हजार स्कूली बच्चों के बीच जयपुर के एसएमएस स्टेडियम पर आयोजित हुआ, जिसमें मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) की मौजूदगी में बच्चों ने पूरे माहौल को देशभक्ति के रंग में रंग दिया. 

भारत की आजादी के 75 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में राजस्थान के स्कूली बच्चों ने स्वतंत्रता दिवस से पूर्व शुक्रवार को एक साथ देशभक्ति गीतों का गायन कर विश्व कीर्तिमान रच दिया. राज्य, जिला, ब्लॉक एवं स्कूल स्तर पर हुए इस कार्यक्रम में प्रदेश की करीब एक लाख स्कूलों के एक करोड़ से अधिक बच्चे एक साथ देशभक्ति गीतों का गायन किया. विद्यार्थियों में देश प्रेम की भावना को प्रगाढ़ करने के उद्देश्य से राज्य के समस्त राजकीय एवं गैर राजकीय विद्यालयों में आज सुबह सवा 10 बजे एक ही समय एक साथ देश भक्ति गीतों का सामूहिक गायन करवाया गया. 

इस दौरान सभी स्तरों पर आयोजित कार्यक्रमों में विद्यार्थी एक समान, एक लय और एक ताल में 6 देशभक्ति गीतों का गायन किया. गायन की शुरूआत राष्ट्रगीत वंदे मातरम् से हुई और समापन राष्ट्रगान के साथ हुआ. इस कार्यक्रम में करीब 66 हजार राजकीय विद्यालय एवं करीब 50 हजार गैर राजकीय विद्यालयों के कक्षा 9 से 12 के एक करोड़ से अधिक विद्यार्थियों ने भाग लिया. राज्य स्तरीय कार्यक्रम मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के मुख्य आतिथ्य में जयपुर स्थित सवाई मानसिंह स्टेडियम में आयोजित किया गया, जिसमे करीब 25 हजार स्कूली बच्चे शामिल हुए. 

गायन की शुरुआत वंदे मातरम के साथ की गई:
कार्यक्रम में शिक्षा मंत्री बीडी कल्ला, शिक्षा राज्य मंत्री जाहिदा खान, एसीएस शिक्षा पवन कुमार गोयल,राजस्थान खेल परिषद अध्यक्ष डॉ. कृष्णा पूनिया,उपाध्यक्ष सतवीर चौधरी, माध्यमिक शिक्षा निदेशक गौरव अग्रवाल, जयपुर कलेक्टर प्रकाश राजपुरोहित सहित कई गणमान्य मौजूद रहे,,, गायन की शुरुआत वंदे मातरम के साथ की गई,,तो वहीं सारे जहां से अच्छा  हिंदुस्ता हमारा, झंडा गीत, आओ बच्चों तुम्हें दिखाएं झांकी हिंदुस्तान की, हम होंगे कामयाब देशभक्ति गीतों का गायन किया गया,,,देशभक्ति के गीतों के गायन के बाद वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड के उपाध्यक्ष ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड का प्रोविजनल सर्टिफिकेट सौंपा.

कार्यक्रम बहुत ही अद्भुत और शानदार रहा:
इस मौके पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि कार्यक्रम बहुत ही अद्भुत और शानदार रहा. जहां प्रदेश के करीब 1 करोड़ से ज्यादा बच्चों के साथ ही शिक्षकों, जनप्रतिनिधियों और अभिभावकों ने इसमें  हिस्सा लिया. देश को आजाद हुए 75 सालों का समय हो चुका है. आजादी के समय एक सुई तक नहीं बनती थी. लेकिन आज भारत सबसे आगे की कतार में गिना जाता है. आजादी में सबने अपना योगदान दिया था. आजादी के लिए युवा फांसी तक हंसते हंसते चढ़ गए थे. आना वाला भविष्य इन बच्चों को कंधों पर टिका हुआ है. इसलिए इन बच्चों में देशभक्ति की भावना होनी चाहिए. आजादी के अमृत महोत्सव के तहत हर घर तिरंगा अभियान केन्द्र सरकार और राज्य सरकार द्वारा चलाया जा रहा है जो अच्छी बात है. 

पूरे राजस्थान में इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया:
शिक्षा मंत्री डॉ बीडी कल्ला ने कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव के तहत इससे अच्छा कार्यक्रम क्या हो सकता है जब 1 करोड़ से ज्यादा बच्चे एक साथ देशभक्ति गीतों का गायन करें. पूरे राजस्थान में इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया है. वहीं शिक्षा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव पवन कुमार गोयल ने बताया कि शिक्षा विभाग की ओर से पिछले 15 दिनों से इस कार्यक्रम की तैयारी की जा रही थी, और आज इसका सफल आयोजन किया गया है. शिक्षा विभाग के तमाम लोगों और प्रशासन की ओर से मिलकर इस सफल कार्यक्रम का आयोजन किया गया है. इस प्रकार के कार्यक्रमों से बच्चों को दिल में देशभक्ति की भावना को बढ़ाना ही उद्देश्य है.

राजस्थान सरकार ने आज अनूठा कार्यक्रम आयोजित किया:
आजादी के अमृत महोत्सव के तहत पूरे देश में अनेकानेक कार्यक्रम हो रहे है. इसी क्रम में राजस्थान सरकार ने आज अनूठा कार्यक्रम आयोजित किया. अब 13 अगस्त से हर घर तिरंगा कार्यक्रम होगा. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी प्रदेशवासियों से अपील की है कि वे अपने घरों पर तिरंगा लहराए, क्योंकि तिरंगा हर देशवासी की आन बान शान है. 

और पढ़ें