कोलकाता गायक KK के निधन पर BJP ने बंगाल सरकार को ठहराया जिम्मेदार, TMC ने किया पलटवार

गायक KK के निधन पर BJP ने बंगाल सरकार को ठहराया जिम्मेदार, TMC ने किया पलटवार

गायक KK के निधन पर BJP ने बंगाल सरकार को ठहराया जिम्मेदार, TMC ने किया पलटवार

कोलकाता: मशहूर गायक कृष्णकुमार कुन्नथ का मंगलवार की रात कोलकाता में निधन होने के बाद बुधवार को एक नया राजनीतिक विवाद पैदा हो गया. राज्य के विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने पश्चिम बंगाल प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए गायक की मौत के मामले की निष्पक्ष जांच की मांग की है, वहीं सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए भाजपा से मौत पर राजनीति नहीं करने को कहा है.

KK नाम से मशहूर कृष्णकुमार कुन्नथ 53 साल के थे. उनके परिवार में पत्नी और दो बेटे हैं. KK ने अपने करियर में कई हिट गीत दिए. ‘यारों’, ‘तड़प तड़प के’, ‘बस एक पल’, ‘आंखों में तेरी’, ‘कोई कहे’, ‘इट्स द टाइम टू डिस्को’ आदि KK के मशहूर गीतों में शुमार हैं.

गायक को दक्षिण कोलकाता के एक निजी अस्पताल ले जाया गया:

अधिकारियों ने बताया कि मंगलवार की शाम को गुरुदास कॉलेज ने दक्षिण कोलकाता के ‘नजरुल मंच’ में एक समारोह का आयोजन किया था. वहां करीब एक घंटे तक प्रस्तुति देने के बाद जब KK अपने होटल लौटे, तो उन्हें बेचैनी महसूस हुई और वह अचानक बेहोश हो गए. गायक को दक्षिण कोलकाता के एक निजी अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.

भाजपा की राज्य इकाई के प्रवक्ता सामिक भट्टाचार्य ने कहा कि घटना की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए क्योंकि प्रशासन ने उचित सुरक्षा व्यवस्था मुहैया कराने में लापरवाही बरती. उन्होंने कहा कि कार्यक्रम स्थल में कम से कम सात हजार लोग मौजूद थे, जबकि उस स्थान की कुल क्षमता करीब तीन हजार लोगों की है. वह वहां लोगों से घिर गए थे जिसका मतलब है कि वीआईपी के लिए सुरक्षा इंतजाम उचित नहीं थे.

एक दुखद घटना का राजनीतिकरण नहीं करना चाहिए: 

इस पर पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है. पार्टी की राज्य इकाई के महासचिव कुणाल घोष ने कहा कि भाजपा को अपनी गिद्ध राजनीति बंद करनी चाहिए और एक दुखद घटना का राजनीतिकरण नहीं करना चाहिए.

घोष ने कहा कि उनका निधन वास्तव में बेहद दुखद है और हम सभी इससे शोकाकुल हैं. लेकिन भाजपा जो कर रही है उसकी उम्मीद नहीं थी. भाजपा को अपनी गिद्ध राजनीति बंद करनी चाहिए. उन्हें मौत का राजनीतिकरण बंद करना चाहिए. अगर भाजपा KK को पार्टी का नेता बताना शुरू कर दे तो हमें कोई आश्चर्य नहीं होगा.

KK की मौत के कारण का पता लगाने के लिए उनके शव का आज पोस्टमार्टम कराया जाएगा: 

उन्होंने कहा कि प्रशासन सभी कदम उठा रहा है और जांच चल रही है. शुरुआती जांच में पता चला है कि दो कॉलेज में कार्यक्रमों में प्रस्तुति देने के लिए कोलकाता के दो दिवसीय दौरे पर आए 53 वर्षीय गायक को उस होटल में प्रशंसकों की भीड़ ने ‘‘लगभग घेर’’ लिया था. कोलकाता के दक्षिणी भाग में स्थित नजरुल मंच सभागार में प्रस्तुति देने के बाद वह होटल लौटे थे. KK की मौत के कारण का पता लगाने के लिए उनके शव का आज पोस्टमार्टम कराया जाएगा. सोर्स-भाषा 

और पढ़ें