कोलकाता थमने का नाम नहीं ले रहा देवी काली पर विवाद, भाजपा ने महुआ मोइत्रा को गिरफ्तार करने की मांग की

थमने का नाम नहीं ले रहा देवी काली पर विवाद, भाजपा ने महुआ मोइत्रा को गिरफ्तार करने की मांग की

थमने का नाम नहीं ले रहा देवी काली पर विवाद, भाजपा ने महुआ मोइत्रा को गिरफ्तार करने की मांग की

कोलकाता: तृणमूल कांग्रेस की सांसद महुआ मोइत्रा की देवी काली पर विवादास्पद टिप्प्णी से हिंदुओं की धार्मिक भावनाएं कथित तौर पर आहत होने को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की पश्चिम बंगाल इकाई ने बुधवार को उनकी (मोइत्रा की) गिरफ्तारी की मांग की. 

भाजपा ने पुलिस पर कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाते हुए कहा कि अगर मोइत्रा के खिलाफ 10 दिनों में कार्रवाई नहीं की गई तो वह अदालत का रुख करेगी.  तृणमूल कांग्रेस की लोकसभा सदस्य महुआ मोइत्रा ने मंगलवार को यह टिप्पणी कर विवाद खड़ा कर दिया कि जिस तरह हर व्यक्ति को अपने तरीके से देवी-देवताओं की पूजा करने का अधिकार है, उसी तरह बतौर एक व्यक्ति उन्हें देवी काली के मांस भक्षण करने वाली एवं मदिरा स्वीकार करने वाली देवी के रूप में कल्पना करने का पूरा अधिकार है. 

देवी काली को धूम्रपान करते हुए दर्शाया गया:
भाजपा ने मोइत्रा के इस बयान को लेकर उन पर कड़ा प्रहार किया और सवाल किया कि क्या यह हिंदू देवी-देवताओं का अपमान करने का पश्चिम बंगाल की सत्तारूढ़ पार्टी का आधिकारिक रूख है. कोलकाता में एक कार्यक्रम में भाग लेते हुए कृष्णानगर से सांसद मोइत्रा ने देवी काली के बारे में यह टिप्पणी उस वक्त की, जब उनसे एक फिल्म के पोस्टर के बारे में पूछा गया, जिसमें देवी काली को धूम्रपान करते हुए दर्शाया गया है. 

टिप्पणियों से धार्मिक भावनाएं आहत हुई हैं:
भाजपा की पश्चिम बंगाल इकाई के अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने कहा कि सनातन हिंदू धर्म के नियमों के अनुसार, देवी काली की पूजा एक ऐसी देवी के रूप में कभी नहीं की जाती जो मदिरापान करती हों और मांस भक्षण करती हों.  हिंदू सदियों से देवी काली को बुराई के खिलाफ शक्ति के प्रतीक के रूप में पूजते रहे हैं.  उनकी (मोइत्रा की) टिप्पणियों से धार्मिक भावनाएं आहत हुई हैं.  हम देवी काली पर की गई टिप्पणी के लिए उन्हें गिरफ्तार करने की मांग करते हैं. 

10 दिन इंतजार करेंगे और फिर अदालत का रुख करेंगे: 
विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी ने कहा कि राज्य भर में मोइत्रा के खिलाफ पुलिस के पास सैकड़ों शिकायतें दर्ज कराई गई हैं. भाजपा विधायक अधिकारी ने कहा कि  तृणमूल कांग्रेस सरकार और राज्य पुलिस (भाजपा की निलंबित प्रवक्ता) नुपुर शर्मा के खिलाफ कार्रवाई के लिए बहुत सक्रिय रही है.  लेकिन, उन्होंने महुआ मोइत्रा के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की.  भाजपा और तृणमूल कांग्रेस नेताओं के लिए अलग-अलग नियम नहीं हो सकते.  हम 10 दिन इंतजार करेंगे और फिर अदालत का रुख करेंगे. 

कांग्रेस ऐसी टिप्पणी की कड़ी निंदा करती:
वहीं, तृणमूल कांग्रेस ने मोइत्रा के बयान से अपनी दूरी बना ली है और कहा कि वह इसका समर्थन नहीं करती है.  पार्टी ने ट्वीट किया,  इंडिया टुडे कॉनक्लेव ईस्ट 2022 में महुआ मोइत्रा द्वारा देवी काली पर की गयी टिप्पणी एवं व्यक्त किये गये विचार उनके व्यक्तिगत हैं और पार्टी इस बयान से खुद को अलग करती है.  तृणमूल कांग्रेस ऐसी टिप्पणी की कड़ी निंदा करती है. सोर्स-भाषा

और पढ़ें