BJP ने पूर्व मंत्री रोहिताश शर्मा को पार्टी से किया बाहर, नोटिस के जवाब से संतुष्ट नहीं हुआ संगठन

BJP ने पूर्व मंत्री रोहिताश शर्मा को पार्टी से किया बाहर, नोटिस के जवाब से संतुष्ट नहीं हुआ संगठन

BJP ने पूर्व मंत्री रोहिताश शर्मा को पार्टी से किया बाहर, नोटिस के जवाब से संतुष्ट नहीं हुआ संगठन

जयपुर: पार्टी लाइन से हटकर बयानबाजी को लेकर प्रदेश भाजपा संगठन ने पूर्व मंत्री रोहिताश शर्मा को पार्टी से बाहर कर दिया है. संगठन ने शर्मा को 6 साल के लिए पार्टी से बाहर कर दिया है. जानकार सूत्रों की माने तो शर्मा को पार्टी की लीक से हटकर बयानबाजी के कारण पिछले दिनों कारण बताओं ​नोटिस दिया गया था. शर्मा ने 17 जुलाई यानी आज बीजेपी संगठन को उस नोटिस का जवाब वाया मेल से दे दिया. अब संगठन शर्मा के जवाब से संतुष्ट नहीं है और इनकों पार्टी से निकालने का फैसला किया गया. 

लगातार पार्टी के नियमों से परे दे रहे थे बयान:
बताया जा रहा है कि डॉ. रोहिताश शर्मा लगातार पार्टी के विरूद्ध बयानबाजी कर रहे थे. शर्मा पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के समर्थक माने जाते है. पिछले दिनों इन्होने प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनीयां के अलवर दौरे पर भी विवादित बयानबाजी की थी. उन्होने कहा था कि प्रदेशाध्यक्ष ने अलवर के थानागाजी बीजेपी को पांच भागों में बांट दिया है. उन्होनें ये भी कहा था कि प्रदेशाध्यक्ष अलवर अपनी महिमांडन करवाने गए थे. इस पर प्रदेश मुख्य प्रवक्ता चौमू विधायक रामलाल शर्मा ने इसे गंभीरता से लिया था और कहा था कि वें मूलत: पार्टी के है ही नहीं. इस पर शर्मा ने रामलाल शर्मा पर पलटवार करते हुए कहा था कि वे अभी राजनीति में बच्चे है. राजे के बिना बीजेपी का राजस्थान में कुछ भी नहीं है. ऐसे में ये बयानबाजी का सिलसिला लगातार जारी था. 

बनाई गई थी अनुशासन समिति:
डॉ. शर्मा द्वारा लगातार पार्टी नियमों के विरूद्ध बयानबाजी कर रहे थे. इसकों लेेेकर संगठन ने एक अनुशासन समिति का गठन किया था और उनकों नोटिस देकर कारण पूछा था. उनकों संगठन द्वारा बार बार बयानबाजी नहीं करने की चेतावनी भी दी गई थी किंतु शर्मा लगातार बयानबाजी के कारण सुर्खियों में बने रहे. ऐसे में पार्टी ने रोहितश शर्मा पर अनुशासनात्मक कार्रवाई करते हुए उन्हे 6 साल के लिए पार्टी से बाहर कर दिया है. 
 

और पढ़ें