रायबरेली UP Elections 2022: सोनिया गांधी बोलीं- भाजपा ने किया रायबरेली के साथ किया है सौतेला व्यवहार

UP Elections 2022: सोनिया गांधी बोलीं- भाजपा ने किया रायबरेली के साथ किया है सौतेला व्यवहार

UP Elections 2022: सोनिया गांधी बोलीं- भाजपा ने किया रायबरेली के साथ किया है सौतेला व्यवहार

रायबरेली: कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने सत्तारूढ़ भाजपा पर अपने संसदीय निर्वाचन क्षेत्र रायबरेली के साथ 'सौतेला व्यवहार' करने का आरोप लगाते हुए लोगों से उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में लोगों से उनकी पार्टी को वोट देने की अपील की. सोनिया ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर कोविड-19 महामारी के दौरान खराब प्रबंधन करने का आरोप भी लगाया.

सोनिया ने विधानसभा चुनाव के चौथे चरण के चुनाव प्रचार के अंतिम दिन अपने वर्चुअल संबोधन में कहा, "यह बहुत महत्वपूर्ण चुनाव होने जा रहा है क्योंकि पिछले पांच वर्षों के दौरान हमने एक ऐसी सरकार देखी है जिसने लोगों को बांटने के सिवा और कोई काम नहीं किया." सोनिया रायबरेली से सांसद हैं, जहां राज्य विधानसभा चुनाव के चौथे चरण में आगामी 23 फरवरी को मतदान होगा. सोनिया ने कहा "हम आपके लिए अनेक विकास परियोजनाएं लेकर आए लेकिन मोदी और योगी की सरकार ने उन सब पर रोक लगा दी. रायबरेली के साथ सौतेला व्यवहार किया गया." उन्होंने कहा "आपने कांग्रेस की राजनीति भी देखी है जो जनसेवा और लोगों को अधिकार देने की भावना पर आधारित है. कांग्रेस सरकार ही मनरेगा जैसे कानून लेकर आई जिससे लोगों को रोजगार का अधिकार मिला और उन्हें बेहतर जीवन जीने में मदद मिली है लेकिन यह दुर्भाग्य है कि कोविड-19 महामारी के दौरान मनरेगा का बजट बढ़ाए जाने के बजाय उसमें कटौती कर दी गई." सोनिया ने आरोप लगाया कि किस तरह लोगों को कोविड-19 महामारी के दौरान भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ा. उन्होंने कहा कि उन्हें ऑक्सीजन, दवाओं और अस्पतालों में बेड के लिए जद्दोजहद करनी पड़ी और बहुत से लोगों को अपने अपनों को खोना पड़ा.

उन्होंने आरोप लगाया, "हालांकि मोदी और योगी की सरकार ने इस बात का सबूत दिया कि वह कितनी गैर जिम्मेदार हैं. उन्होंने आपकी समस्याओं से मुंह मोड़ लिया और आपकी तकलीफों पर आंखें मूंद लीं. इतना ही नहीं लॉकडाउन के दौरान आपके प्रति उनका व्यवहार भी अच्छा नहीं था. सरकार ने आपको कोई भी मदद नहीं पहुंचाई." सोनिया ने आरोप लगाया, ‘‘उत्तर प्रदेश के किसान कर्ज के बोझ तले दबे हैं और छुट्टा पशु उनकी फसलें बर्बाद कर रहे हैं. ऐसा ही हाल युवाओं का भी है जो रोजगार के लिए मेहनत करके पढ़ाई करते हैं लेकिन भाजपा सरकार ने उन्हें घर पर ही बैठने को मजबूर कर दिया है. प्रदेश में इस वक्त 12 लाख सरकारी पद खाली हैं लेकिन भाजपा उन पर भर्ती नहीं कर रही है.’’ उन्होंने कहा कि पेट्रोल और डीजल के साथ-साथ रसोई गैस और सरसों का तेल आम आदमी की पहुंच से दूर होता जा रहा है और महिलाओं के लिए घर चलाना मुश्किल हो गया है. कांग्रेस अध्यक्ष ने बेरोजगारी के मुद्दे पर केंद्र की भाजपा सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि लोगों का बोझ कम करने के बजाय सरकार ने अनेक कंपनियां अपने दोस्तों को कम कीमत पर बेच दी जिसकी वजह से बेरोजगारी बढ़ी. सोर्स- भाषा

और पढ़ें