छत्तीसगढ़: थाने में पूर्व मंत्री का हंगामा, जमीन पर लेटकर करने लगे खुद की गिरफ्तारी की मांग

छत्तीसगढ़: थाने में पूर्व मंत्री का हंगामा, जमीन पर लेटकर करने लगे खुद की गिरफ्तारी की मांग

छत्तीसगढ़: थाने में पूर्व मंत्री का हंगामा, जमीन पर लेटकर करने लगे खुद की गिरफ्तारी की मांग

जशपुर: छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले में एक अनोखा मामला देखने को मिला. जशपुर में जनजातीय सुरक्षा मंच की रैली को प्रशासन ने रैली शुरू होने से 1 घंटे पूर्व रद्द कर दिया. इस से BJP नेता और पूर्व मंत्री गणेशराम भगत भड़क गए और थाने पहुंचकर जमकर हंगामा किया. यहां तक की मंत्री थाने में जमीन पर ही लेट गए और स्वयं को गिरफ्तार करने की बात कहने लगे.

पूर्व मंत्री बोले मुझे गिरफ्तार करो:
छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले के पांच आदिवासी कोरवा परिवारों की जमीन को खाद्य मंत्री अमरजीत भगत के बेटे के नाम रजिस्ट्री होने से राजनीति गरमाई हुई है. इसके खिलाफ मंगलवार को जशपुर के बगीचा में जनजातीय सुरक्षा मंच ने रैली का आयोजन किया था. प्रशासन ने रैली शुरू होने से एक घंटे पहले अनुमति देने से इनकार कर दिया. इसके बाद BJP नेता और पूर्व मंत्री गणेशराम भगत थाने पहुंच गए और हंगामा कर दिया. पुलिस ने उन्हें हटाने की कोशिश की तो बोले कि मुझे गिरफ्तार करो.

रैली शुरू होने से महज एक-डेढ़ घंटे पहले रद्द किए रैली के आदेश:
जानकारी के अनुसार अखिल भारतीय जनजातीय सुरक्षा मंच  के बैनर तले BJP नेता गणेशराम भगत ने मंगलवार को विरोध रैली का आयोजन किया था. इसके लिए 10 दिन पहले ही अनुमति ले ली गई थी. लेकिन कार्यक्रम शुरू होने से महज एक-डेढ़ घंटे पहले बगीचा SDM ने तहसीलदार को भेजकर रोक लगा दी. इसकी सूचना मिलने के बाद पूर्व मंत्री गणेश राम भगत बगीचा थाना पंहुच गए. उन्होंने स्थानीय प्रशासन पर दमनकारी नीति का आरोप लगाते हुए कहा कि प्रशासन या तो अनुमति या फिर उन्हें गिरफ्तार करे.

जमीन पर लेट कर खुद को गिरफ्तार करने की जिद करने लगे पूर्व मंत्री:
पूर्व मंत्री भगत थाने में ही धरने पर बैठ गए. पुलिस ने उन्हें उठाने के लिए हाथ जोड़े. लेकिन वह मानने के लिए तैयार नहीं थे. जबरदस्ती की तो वहीं जमीन पर लेट गए. बाद में उन्होंने बगीचा SDM से पूछा कि कुछ दिन पहले जब एक NGO का कार्यक्रम यहां हो सकता है तो उनकी रैली क्यों नहीं हो सकती. उन्होंने कहा कि कार्यक्रम को अनुमति नहीं देनी थी तो कुछ दिन पहले ऐसा करते. 10 दिन से आवेदन रखा हुआ है और लोगों के जुट जाने के बाद कार्यक्रम की अनुमति नहीं देने की बात गलत है.

खाद्य मंत्री के बेटे ने फर्जी तरीके से करवाई है जमीन की रजिस्ट्री:
खाद्य मंत्री अमरजीत भगत के खिलाफ BJP पिछले एक महीने से आंदोलित है. BJP का आरोप है कि जशपुर जिले के मनोरा तहसील के गुतकिया गांव में पांच पहाड़ी कोरवा परिवारों की 24.88 एकड़ जमीन है. खाद्य मंत्री अमरजीत भगत के पुत्र आशीष भगत ने 22 जनवरी को पटवारी और दलाल से मिलकर फर्जी तरीके से रजिस्ट्री करा लिया. BJP ने रायगढ़ सांसद गोमती साय की अध्यक्षता में छह सदस्यीय समिति से मामले की जांच कराई है.

मामले पर खाद्य मंत्री का बयान:
जशपुर में हुए इस ड्रामे और पूर्व मंत्री द्वारा उनके बेटे पर फर्जी तरीके से जमीन की रजिस्ट्री करवानें के मामले में खाद्या मंत्री अमरजीत भगत ने आरोपों को बेबुनियाद बताया है. उन्होने कहा कि जमीन खरीदने के लिए दिए गए 11 लाख रुपए खाते में आएंगे तो लौटा दिया जाएगा. किसी से जबरदस्ती जमीन नहीं खरीदी गई थी.
 

और पढ़ें