जयपुर भाजपा नेताओं के पास ज्वलंत मुद्दों का कोई जवाब नहीं- गोविंद सिंह डोटासरा

भाजपा नेताओं के पास ज्वलंत मुद्दों का कोई जवाब नहीं- गोविंद सिंह डोटासरा

भाजपा नेताओं के पास ज्वलंत मुद्दों का कोई जवाब नहीं- गोविंद सिंह डोटासरा

जयपुर: महंगाई पर कांग्रेस (Congress) के विरोध को राम जन्मभूमि स्थापना दिवस से जोड़ने को लेकर भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेताओं पर निशाना साधते हुए कांग्रेस की राजस्थान इकाई के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा (Govind Singh Dotasara ) ने शनिवार को कहा कि भाजपा नेताओं के पास ज्वलंत मुद्दों का कोई जवाब नहीं है और इसी लिये वे इस मुद्दे से ध्यान भटकाकर लोगों को गुमराह कर रहे हैं.

डोटासरा ने कहा कि महंगाई और बेराजगारी के विरोध को राज जन्मभूमि स्थापना दिवस से कैसे जोड़ा जा सकता है और इसे राम भक्तों का अपमान कैसे कहा जा सकता है? यह विरोध बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी और आवश्यक वस्तुओं पर जीएसटी (वस्तु एवं सेवा कर लगाने) जैसे महत्वपूर्ण मुद्दों को लेकर था. इन मुद्दों ने आम आदमी को बुरी तरह प्रभावित किया है. चूंकि उनके (भाजपा नेताओं) पास इन मुद्दों का कोई जवाब नहीं है, इसलिये वे लोगों को केवल गुमराह करने के लिये एक हास्यास्पद कहानी लेकर आये हैं.

मोदी सरकार और भाजपा को लोगों की परवाह नहीं:
उन्होंने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को जनता का ध्यान भटकाने की कोशिश करने के बजाय कांग्रेस पार्टी द्वारा जनता के हित में उठाये गए मुद्दों पर बोलना चाहिए. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार और भाजपा को लोगों की परवाह नहीं है और उनका लोगों की पीड़ा से कोई लेना देना नहीं है, इसलिये वे इस तरह के हास्यास्पद बयान देकर जनता का ध्यान भटकाने की कोशिश कर रहे हैं.

कांग्रेस नेताओं के विरोध को पार्टी की ‘‘तुष्टिकरण’’ की राजनीति से जोड़ा:
उल्लेखनीय है कि शाह ने शुक्रवार को महंगाई और बेरोजगारी के मुद्दों पर कांग्रेस नेताओं के विरोध को पार्टी की ‘‘तुष्टिकरण’’ की राजनीति से जोड़ा. उन्होंने कहा कि यह प्रदर्शन इसलिए किया गया ताकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 2020 में इस दिन राम मंदिर की नींव रखे जाने का विरोध किया जा सके. उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने भी कहा कि अयोध्या दिवस पर काले कपड़े पहनकर कांग्रेस का विरोध करना राम भक्तों का अपमान है. सोर्स- भाषा 

और पढ़ें