VIDEO: विधानसभा चुनाव में पराजय के कारण जानने जिलों के दौरे पर बीजेपी नेता

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/12/23 04:42

जयपुर (योगेश शर्मा)। लोकसभा चुनावों से पहले पार्टी को मजबूती देने के लिये बीजेपी नवीन योजना पर काम कर रही है। इसके तहत आगामी दो दिनों में पार्टी के शीर्ष नेता जिला स्तर पर बैठकें लेंगे और योजना का निर्माण करेंगे। विधानसभा चुनावों में सत्ता गंवाने के बाद बीजेपी का यह बड़़ा अभियान है। 22 से लेकर 24 दिसम्बर तक प्रभारी अपने अपने जिलों में प्रवास पर रहेंगे। पराजय के बाद संवेदनशीलता की पराकाष्ठा यह है कि बीजेपी में सर्वाधिक राज्यों को प्रभारी के तौर पर देखने वाले वी सतीश भी योजना वर्ग के तहत एक जिले में जाकर संगठनात्मक बैठक लेंगे। खास रिपोर्ट-

राजस्थान के चुनाव परिणामों के बाद हताशा से गुजर रही बीजेपी में नया जोश भरने के लिये शीर्ष नेतृत्व ने कार्यक्रम जारी कर दिया है। जिला संगठनों को फिर ऊर्जावान बनाने के लिये शीर्ष नेतृत्व ने योग्य और अनुभवी नेताओं को प्रभारी बनाकर जिलों के प्रवास पर भेजना तय किया है। 22 से लेकर 24 दिसम्बर के बीच प्रमुख नेता पार्टी संविधान के अनुसार बनाये गये 41 जिलों में प्रभारी के नाते प्रवास करेंगे। 

22-23 दिसंबर बीजेपी की जिलेवार बैठकें

—बीजेपी ने बनाया योजना बैठक के जिला प्रभारी
—बाड़मेर-राजेन्द्र गहलोत, जैसलमेर-शंकर सिंह राजपुरोहित 
—बीकानेर-कैलाश मेघवाल, श्रीगंगानगर-काशीराम गोदारा
—हनुमानगढ़ - राजेन्द्र राठौड़, चूरु-मुकेश दाधीच 
—चितौड़-कनकमल कटारा, प्रतापगढ - किरण माहेश्वरी
—अजमेर - गजेन्द्र सिंह शेखावत, टोंक-अशोक परनामी
—भीलवाड़ा - ओम बिरला, नागौर - मदन लाल सैनी
—जोधपुर - चंद्रशेखर, पाली-जोगेश्वर गर्ग
—जालोर - मदन राठौड़, सिरोही-जोगाराम पटेल
—करौली-अल्का गुर्जर, स माधोपुर - मदन दिलावर
—कोटा-नारायण पंचारिया, बारां-प्रहलाद पंवार, श्याम शर्मा
—बूंदी-रामकुमार वर्मा, झालावाड़ - वीरम देव सिंह
—उदयपुर - अविनाश खन्ना, राजसमंद-पुष्प जैन
—बांसवाड़ा - चुन्नी लाल गरासिया, डूंगरपुर - सीपी जोशी(MP) 
—जयपुर शहर-ओंकार सिंह लखावत
—जयपुर देहात-भजनलाल शर्मा
—सीकर-सतीश पूनिया, अलवर-वी सतीश
—झुंझुनूं - अभिषेक मटोरिया, दौसा-संजय शर्मा
—भरतपुर - अर्जुन मेघवाल, धौलपुर - अरुण चतुर्वेदी 

राजनीतिक तौर पर बीजेपी का कार्यकर्ता इस वक्त अवसाद में है उसे जरुरत है हौंसला अफजाई की। जिला प्रवास का मकसद ही यही है कि बडे नेता मंडल स्तर तक की बैठकें लेकर कार्यकर्ता को फिर मोबालाइज करे जिससे लोकसभा चुनावों में पार्टी बेहतरीन परफोरमेंस दे सके। जिला प्रवास के दौरान प्रभारी के लिये यह कार्य प्रमुख तौर पर रहेंगे। 

बीजेपी केे जिला प्रवास में क्या रहेगा

—जिले की संगठनात्मक स्थिति
—राजनीतिक स्थिति
—विधानसभा चुनावों में पराजय के क्या प्रमुख कारण रहे
—लोकसभा चुनावों की तैयारी
—वैचारिक संगठन की स्थिति क्या है
—25दिसम्बर को बीजेपी सुशासन दिवस मनायेगी
—इसी दिन पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती है 
—30दिसम्बर को मन की बात कार्यक्रम
—मंडल औऱ शक्ति केन्द्र बैठक
—11-12जनवरी दिल्ली में बीजेपी का राष्ट्रीय अधिवेशन

योजना वर्ग बैठकें और जिला प्रवास की अहमियत का इस बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि बीजेपी के राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री वी सतीश ने भी जिला स्तर पर जाकर बैठक लेंगे। वे अलवर के दौरे पर रहेंगे। बीजेपी के प्रदेश प्रभारी अविनाश राय खन्ना को उदयपुर का जिम्मा सौंपा गया है। केन्द्रीय मंत्रियों को भी जिला स्तर पर प्रभारी बनाया गया है केन्द्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल को भरतपुर के प्रवास पर भेजा जा रहा है, वहीं गजेन्द्र सिंह शेखावत रहेंगे अजमेर जिले के प्रवास पर। नागौर में मदन लाल सैनी जाएंगे तो जोधपुर के प्रवास पर चंद्रशेखर रहेंगे। राजेन्द्र राठौड़, अशोक परनामी, ओंकार सिंह लखावत, चंद्रप्रकाश जोशी, सतीश पूनिया जैसे  दिग्गजों को भी जिला प्रवास का जिम्मा सौंपा गया है। बीजेपी ने लोकसभा चुनावों से पहले अपने कार्यकर्ताओं में जोश भरने का निश्चय किया है, साथ ही जिला प्रवाक के जरिये प्रमुख नेता पराजय के कारणों की रिपोर्ट भी तैयार करेंगे। बीजेपी आलाकमान तक रिपोर्ट जाएगी। 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in