रानीवाड़ा में बीजेपी की हेट्रिक, मौजूदा विधायक नारायणसिंह देवल पर जताया भरोसा

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/11/12 11:50

रानीवाड़ा(गुमान सिंह राव)। भाजपा ने उम्मीदवार चयन एवं प्रथम सूची की घोषणा करने में बाजी मार ली है। कल देर रात्रि को 131 उम्मीदवारों की सूची जारी कर दी है। जालोर जिले में तीन मौजूदा विधायकों को घर की राह दिखायी है वही, संघ पृष्ठभूमि के नए चेहरों को तरजीह दी है। हम बात कर रहे है रानीवाड़ा विधानसभा क्षेत्र की तो यहा से मौजूदा  विधायक नारायणसिंह देवल को एक बार फिर से किस्मत आजमाने का अवसर दिया है। वैसे भाजपा यहा पेशोपेश हालत में है क्यूंकि तीन बार भाजपा से विधायक व मंत्री रहे अर्जुनसिंह देवड़ा ने भाजपा छोड़ने का ऐलान कर दिया है। भाजपा इस वक्त मुश्किलात का सामना कर रही है। हालांकि, मौजूदा विधायक देवल अपने सरल स्वभाव एवं विकास कार्यो की लंबी फेहरिस्त की बदौलत मजबूत भूमिका में है।

जालोर जिले के रानीवाड़ा विधानसभा क्षेत्र में गत 1980 के बाद कोई उम्मीदवार लगातार दूसरी बार विधानसभा में नही पहुंचा है। ऐसा माना जाता है कि यह श्राप आपेश्वर सेवाडिया मठ के महंत स्व. गंगाभारती महाराज का दिया हुआ है। अब इस श्राप की कितनी लंबी उम्र है वो तो वक्त ही बताएगा। पर क्षेत्र में चहुंओर चर्चा जरूर हो रही है। मौजूदा विधायक नारायणसिंह देवल को तीसरी बार पार्टी ने उम्मीदवार बनाकर विश्वास जताया है। देवल पूर्व में जिला प्रमुख रह चुके है। देवल के बड़े भाई स्व. उकसिंह देवल जिले के लोकप्रिय नेता होने के साथ जिलाप्रमुख एवं जसवंतपुरा पंचायत समिति के प्रधान पद पर सेवाएं दे चुके है।

आर्थिक रूप मजबूत देवल परिवार रानीवाड़ा विधानसभा की जसवंतपुरा पंचायत समिति के पावली ग्राम पंचायत के पहाडपुरा गांव के मूल निवासी है। रियासतकाल में पहाडपुरा गांव नाथ संम्प्रदाय की जागीर का गांव रहा है। कालान्तर में नाथ तो चले गए पर देवल राजपूतों के दो सौ से ज्यादा परिवार यहा निवास करते है। देवल की कर्मभूमि मुम्बई रही है, इनके बड़े भाई जिला प्रमुख उकसिंह देवल की दुर्घटना में मौत होने के बाद विधायक देवल ने उनकी विरासत संभाली और यही बस गए। इनका व्यवसाय देवल पुत्र संभाल रहे है।

पूर्व भाजपा नेता अर्जुनसिंह देवड़ा के द्वारा भाजपा छोड़ने के ऐलान के बाद और उनका कांग्रेस की ओर झुकाव होने से भाजपा को नुकसान होना तय है पर नुकसान कितना होगा वो तो वक्त ही बताएगा। बहरहाल, दोनों दलों के कार्यकर्ता आमने सामने होने के लिए कमर कसते नजर आ रहे है। हालांकि, कांग्रेस ने अभी तक उम्मीदवारों की आधिकारिक सूची जारी नही की है। पर उम्मीदवार चयन में पूर्व विधायक रतन देवासी की स्थिति मजबूत दिखयी दे रहे है।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

कांग्रेस-बीजेपी के भरोसे\'मंद\' - 25 !

सैम पित्रोदा के बयान पर कांग्रेस की किरकिरी
सैम पित्रोदा के एयर स्ट्राइक पर विवादित बयान को लेकर सियासत
लोकसभा चुनाव का सियासी गणित
धन संबधित परेशानी है तो जानिए कुछ असरकारी टोटके| Good Luck Tips
BJP ने 182 लोकसभा उम्मीदवारों की पहली सूची की जारी
BJP थोड़ी देर में जारी करेगी उम्मीदवारों की पहली सूची
देश के 3 प्रमुख मंदिरों की होली