भाजपा का कांग्रेस पर निशाना, कहा- वें स्पष्ट करें कि वह फारुक, महबूबा के राष्ट्र विरोधी बयानों के साथ हैं या खिलाफ

भाजपा का कांग्रेस पर निशाना, कहा- वें स्पष्ट करें कि वह फारुक, महबूबा के राष्ट्र विरोधी बयानों के साथ हैं या खिलाफ

भाजपा का कांग्रेस पर निशाना, कहा- वें स्पष्ट करें कि वह फारुक, महबूबा के राष्ट्र विरोधी बयानों के साथ हैं या खिलाफ

नई दिल्लीः भाजपा ने जम्मू एवं कश्मीर के राजनीतिक दलों के गुपकर घोषणापत्र गठबंधन में कांग्रेस के शामिल होने की आलोचना करते हुए सोमवार को इसे ‘‘गुप्तचर गठबंधन’’ करार दिया और कहा कि इसका एकमात्र उद्देश्य अनुच्छेद 370 बहाल करना है जो पाकिस्तान चाहता है. पार्टी ने गुपकर घोषणापत्र गठबंधन में शामिल नेशनल कांफ्रेंस के फारूक अब्दुला और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की महबूबा मुफ्ती के ‘‘भारत विरोधी बयानों’’ के बारे में भी कांग्रेस से अपना रुख स्पष्ट करने को कहा.

रविशंकर प्रसाद ने पूछा-सोनिया और राहुल, साफ-साफ बताए कि क्या कांग्रेस अनुच्छेद 370 को बहाल करने के पक्ष में हैंः
वरिष्ठ भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने संवादाताओं को संबोधित करते हुए जम्मू और कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद राज्य के लोगों को मिल रहे विभिन्न केंद्रीय कानूनों के लाभ का उल्लेख करते हुए कांग्रेस से यह भी पूछा कि क्या वह चाहती है कि जम्मू और कश्मीर की जनता इन केंद्रीय कानूनों के फायदों से वंचित रहे. उन्होंने पूछा कि सोनियाजी और राहुल गांधी, साफ-साफ बताइए कि क्या कांग्रेस अनुच्छेद 370 को बहाल करने के पक्ष में है? क्या कांग्रेस चाहती है संसद ने जो जम्मू कश्मीर के लोगों के हित में कानून बनाए हैं उससे वहां के लोग वंचित रहे? उन्होंने कहा कि कांग्रेस को यह जवाब भी देना पड़ेगा कि क्या वह कांग्रेस फारूक अब्दुल्ला के उस बयान का समर्थन करती है कि जिसमें उन्होंने कहा था कि अनुच्छेद 370 को वापस लाने के लिए वह चीन का समर्थन लेंगे. उन्होंने पूछा कि क्या कांग्रेस महबूबा मुफ्ती के उस वक्तव्य का समर्थन करती है जिसमें उन्होंने कहा था कि तब तक तिरंगा नहीं फहराएंगे जब तक जम्मू और कश्मीर का झंडा फहराने का अधिकार नहीं मिलेगा. प्रसाद ने कहा कि ये (फारुक और महबूबा के बयान) जबरदस्त देश विरोधी बातें हैं. कांग्रेस को जवाब देना होगा. हम छोड़ने वाले नहीं हैं. पूरे देश में यह सवाल आपसे पूछा जाएगा कि क्या आप गुपकर घोषणापत्र के उद्देश्य के साथ हैं? आप अनुच्छेद 370 वापस लाना चाहते हैं? कांग्रेस से हम जवाब की अपेक्षा करते हैं.

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि ये गुपकर है या गुप्तचरः
पार्टी मुख्यालय में आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि ये गुपकर है या गुप्तचर है? ये कौन सा गठबंधन है? ये गुप्तचर गठबंधन क्या चाहता है?... ये वहीं चाहता है जो पाकिस्तान चाहता है, जो हिन्दुस्तान के दुश्मन देश चाहते हैं. उन्होंने आरोप लगाया कि एक तरफ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ‘‘सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास’’ के सपने को आगे बढ़ाते हुए जम्मू एवं कश्मीर के विकास में लगे हुए हैं वहीं कुछ राजनीतिक दल ऐसे हें जो देश का ‘‘अहित’’ सोचते हैं. पात्रा ने कहा कि गुपकर गठबंधन का मुख्य उद्देश्य अनुच्छेद 370 को रोकना है. उन्होंने कहा कि ये बहुत ही धिक्कार का विषय है. ये कोई चीन और पाकिस्तान का कानून नहीं है जिसे वे रोकना चाह रहे हैं. ये हिन्दुस्तान का कानून है और इसे यहां की संसद ने बनाया है और लोकतांत्रिक तरीके से बनाया है.

फारुक अब्दुल्ला ने चीन साथ मिलकर अनुच्छेद 370 वापस लाने और मुफ्ती ने तिरंगा नहीं उठाने के लिए कहा थाः
भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि गुपकर गठबंधन में शामिल एक दल के नेता फारुक अब्दुल्ला कहते हैं कि वह चीन के साथ मिलकर अनुच्छेद 370 वापस लाएंगे जबकि दूसरे दल की नेता महबूबा मुफ्ती कह रही है कि वह तिरंगा नहीं उठाएंगी और ना ही उठाने देंगी. उन्होंने कहा कि एक चीन के साथ मिलना चाहता है और दूसरा तिरंगा नहीं उठाना चाहता है. इन सबके बीच पी चिदम्बरम कहते हैं कि अनुच्छेद 370 हटाना अनुचित है और हम इसकी वापसी चाहते हैं. ये सब जुड़े हुए हैं. पाकिस्तान भी यही चाहता है. पाकिस्तान ने हर मंच पर अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के खिलाफ आवाज बुलंद की है. हर जगह कह रहा है कि अनुच्छेद 370 हटना अच्छी बात नहीं है. इसे वापस किया जाना चाहिए, यह कहते हुए वह संयुक्त राष्ट्र तक चला गया. ये गुप्तचर अलायंस भी वही कह रहा है. उसमें राहुलजी और सोनियाजी सम्मिलित हैं.

भाजपा ने सोनिया और राहुल पूछा- क्या वे अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती के बयानों के साथ हैं या उसके खिलाफ
भाजपा नेता ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी से पूछा कि क्या वे अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती के बयानों के साथ हैं या उसके खिलाफ. उन्होंने पूछा कि आप इनको खारिज करते हैं या समर्थन करते हैं. आप इन वाक्यों के साथ खड़े हैं या विरोध में खड़े हैं. बिहार चुनाव में कांग्रेस के निराशाजनक प्रदर्शन के लिए पूर्व पार्टी अध्यक्ष पर निशाना साधते हुए भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि बिहार की जनता ने राहुल गांधी को कहा है ‘चुप कर’.और ये यहां चले हैं बनने गुपकर. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी जिसका स्पर्श करते हैं उसका वजूद समाप्त हो जाता है. आप साइकिल पर बैठे, आज साइकिल का क्या हाल है सभी जानते हैं. बाद में आपको साइकिल के कैरियर से उतारना पड़ा. आप लालटेन के पास बैठे, वह बुझ गया. आज आपके साथी भी कह रहे हैं. हम तो शुरु से कह रहे हैं आप एनपीए (नॉन परफार्मिंग एसेट) हैं. आज शिवानंद तिवारी कह रहे हैं आप नान परफार्मिंग पिकनिकिंग प्रेसिडेंट हैं. पीडीपी अध्यक्ष मुफ्ती, गुपकर घोषणापत्र गठबंधन की उपाध्यक्ष हैं और नेशनल कांफ्रेस के फारूक अब्दुल्ला इसके अध्यक्ष हैं.
सोर्स भाषा

और पढ़ें