भाजपा में टिकटों को लेकर घमासान शुरू, नाराज नेताओं को मनाना चुनौती

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/03/16 10:47

जयपुर। प्रदेश में 25 सीटें जीतने का दावा करने वाली प्रदेश भाजपा के सामने टिकटों को लेकर घमासान शुरू हो चुका है। पार्टी विद डिफरेन्स की बात कहने वाली भाजपा के सामने अब नाराज नेताओं को मनाना भी चुनौती होगा।

चुनाव करीब है लेकिन प्रदेश भाजपा के कई सांसदों का विरोध जो अब तक अंदरखाने था। अब बाहर तक आ चुका है। प्रदेश की इन सीटों की फेहरिस्त में सांसदों के साथ राज्य से केंद्रीय मंत्री भी है। ताज्जुब की बात ये है कि अब पार्टी के बडे नेताओं के सामने नाराजों को मनाने की चुनौती शुरू हो चुकी है। इस वक्त राजस्थान में मौजूद जिन दिग्गजों के सामने नाराज भाजपा नेता पहुँचे है । उनमें पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और राजस्थान की नब्ज को बखूबी जानने वाले ओमप्रकाश माथुर ,भाजपा के प्रदेश लोकसभा चुनाव प्रभारी प्रकाश जावड़ेकर, प्रदेश अध्यक्ष मदनलाल सैनी और प्रदेश संगठन महामंत्री चंद्रशेखर के पास जाने का सिलसिला जारी है। ऐसा नही कि दर्जन भर सीटों में ये विरोध महज महज छोटे कार्यकर्ता कर रहे है। विरोध करने वालो में विधायक, पूर्व विधायक,  जिला परिषद सदस्य और जिला प्रमुख प्रधान समेत अन्य जनप्रतिनिधि भी है।

भाजपा की 2 दिन पहले हुई कोर कमेटी की बैठक में लोकसभा क्षेत्र में दिग्गजों के विरोध जैसे विषय का मुद्दा भी प्रमुखता से उठा था। हालांकि पार्टी के अंदरूनी हलकों में चर्चा ये भी है कि एयर स्ट्राइक के बाद बने माहौल के बाद कुछ विधायक और पूर्व विधायकों की टिकट की इच्छा तेजी से जगी है। दूसरी तरफ टिकट के दावेदार नेता , पार्टी के राज्य में 4 प्रमुख नेताओं से मिलकर तो टूक खुद के आंकलन के लिहाज से नाम बता चुके या कहें तो कुछ  खुद का नाम भी सामने ला चुके। लेकिन पार्टी के घमासान को लेकर अब भाजपा प्रदेश अध्यक्ष कुछ इस तरह से कहते है।

बहरहाल अब तक संगठन के छोटे नेताओं के द्वारा टिकटों में विरोध देखा जाता था लेकिन भाजपा में ऐसा संभवतया पहली बार हुआ है जब पार्टी के राज्य में बड़े नेताओं जिनमे पूर्व सांसद , विधायक, पूर्व विधायक, जिला प्रमुख, प्रधान और अन्य जनप्रतिनिधिओं का कई सांसदों के विरोध में खुलकर आना भाजपा के लिए बड़ी चुनौती होगा। अब देखना है कि अब प्रदेश के प्रमुख दिग्गज एक साथ बैठकर नाराजों को मनाने की कवायद कब शुरू करते है।

भाजपा नेता राजेंद्र राठौड़ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर अशोक गहलोत द्वारा दिए गए बयानों पर पलटवार करते हुए कहा कि किस प्रकार का बयान ना केवल राष्ट्रभक्ति की भावनाओं के विरोध में बल्कि जांबाज सैनिकों के खिलाफ है जिन्होंने देश के लिए बलिदान दिया है। अशोक गहलोत कुछ मतों के ध्रुवीकरण के लिए इस तरीके के बयान दे रहे हैं । सीएम के पद के व्यक्ति देश की सेना का मनोबल तोड़ने वाला बयान देना उन्हें शोभा नहीं देता।

राठौड़ ने किसानों के प्याज खरीद पर भी आरोप लगाते हुए कहा कि यह राज्य सरकार का काम है कि उनकी प्याज खरीद करें साथ ही कहा कि किसान सम्मान योजना पर किसान के खाते में केंद्र से जो पैसा आना था उस से किसान को मेहरूम किया गया है।

...योगेश शर्मा के साथ ऐश्वर्य प्रधान की रिपोर्ट

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

जानिए कुछ ऐसे उपाय जिन्हे करने के बाद आपका जीवन बिना परेशानी से चलेगा| Good Luck Tips

कांग्रेस-बीजेपी के भरोसे\'मंद\' - 25 !
सैम पित्रोदा के बयान पर कांग्रेस की किरकिरी
सैम पित्रोदा के एयर स्ट्राइक पर विवादित बयान को लेकर सियासत
लोकसभा चुनाव का सियासी गणित
धन संबधित परेशानी है तो जानिए कुछ असरकारी टोटके| Good Luck Tips
BJP ने 182 लोकसभा उम्मीदवारों की पहली सूची की जारी
BJP थोड़ी देर में जारी करेगी उम्मीदवारों की पहली सूची