उत्तराखंडः मुख्यमंत्री रावत पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों की सीबीआई जांच के उच्च न्यायालय के आदेश का भाजपा ने किया स्वागत

उत्तराखंडः मुख्यमंत्री रावत पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों की सीबीआई जांच के उच्च न्यायालय के आदेश का भाजपा ने किया स्वागत

उत्तराखंडः मुख्यमंत्री रावत पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों की सीबीआई जांच के उच्च न्यायालय के आदेश का भाजपा ने किया स्वागत

देहरादूनः उत्तराखंड भाजपा ने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों की सीबीआई जांच के उच्च न्यायालय के आदेश पर गुरुवार को उच्चतम न्यायालय द्वारा रोक लगाये जाने का स्वागत किया और कहा कि इससे उन्हें बदनाम करने तथा राज्य सरकार को अस्थिर करने की साजिश नाकाम हो गई है.

भाजपा ने कहा-मुख्यमंत्री को बदनाम करने और राज्य सरकार को अस्थिर करने का प्रयास कर रहे षड्यंत्रकारीः
प्रदेश भाजपा अध्यक्ष बंशीधर भगत ने यहां एक बयान में कहा कि हम शीर्ष अदालत के स्थगनादेश का स्वागत करते हैं. मुख्यमंत्री को बदनाम करने तथा राज्य सरकार को अस्थिर करने का प्रयास कर रहे षड्यंत्रकारियों के लिए यह एक झटका है. उन्होंने कहा कि इस मसले पर बवाल मचा रही कांग्रेस स्वयं एक शर्मनाक स्थिति में फंस गई है. हांलांकि, इस मुद्दे पर हमलावर विपक्षी कांग्रेस ने रैली निकाली और मुख्यमंत्री रावत से नैतिक आधार पर इस्तीफा देने की मांग की.

कांग्रेस ने की थी रावत को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने की मांगः 
कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव एवं पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह की अगुवाई में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री और सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए राजभवन की ओर कूच किया. हांलांकि, पुलिस ने उन्हें हाथीबडकला के आगे लगा बैरियर पार नहीं करने दिया और उन्हें रोक लिया. इस मौके पर कांग्रेस नेता रावत ने कहा कि आरोप लगने के बाद मुख्यमंत्री को पद पर बने रहने का कोई नैतिक आधार नहीं रह गया है इसलिए उन्हें अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए.
सोर्स भाषा

और पढ़ें