शहीद जवानों के बच्चों के सुदृढ़ भविष्य के लिए BSF कर्मियों ने की टेली-काउंसलिंग नंबर की शुरुआत

शहीद जवानों के बच्चों के सुदृढ़ भविष्य के लिए BSF कर्मियों ने की टेली-काउंसलिंग नंबर की शुरुआत

शहीद जवानों के बच्चों के सुदृढ़ भविष्य के लिए BSF कर्मियों ने की टेली-काउंसलिंग नंबर की शुरुआत

नई दिल्लीः राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (एनसीपीसीआर) और सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने ड्यूटी के दौरान बलिदान देने वाले इस सशस्त्र बल के कर्मियों के बच्चों के लिए टोल-फ्री टेली-काउंसलिंग नंबर की शुरुआत की है. इससे बच्चों के भविष्य को सुदृढ़ता मिलेगी और सरकार का ये कदम बच्चों के करियर में ये काफी मददगार साबित होगा. 

सहारा मंच करेगा गाइडेंस में मदद 

आधिकारिक बयान के मुताबिक, सशस्त्र पुलिस बल के कर्मियों के बच्चों के लिए मंच सहारा की शुरुआत की गई है जिसका मकसद बच्चों को भावनात्मक समर्थन प्रदान करना और उनकी काउंसलिंग करना है. इससे बच्चों को संबलता मिलेगी और गाइडेंस भी, जिससे वे बेहतक कर की ओर बढ़ सके. 

ऐसे काम करता है ये मंच 

यह टोल-फ्री नंबर 1800-1-236-236 सोमवार से शुक्रवार के बीच सुबह 10 बजे से शाम पांच बजे तक सेवा में उपलब्ध होगा. बीएसएफ के महानिदेशक राकेश अस्थाना और एनसीपीसीआर के अध्यक्ष प्रियंक कानूनगो ने सहारा टोल-फ्री नंबर की शुरुआत की है. (सोर्स-भाषा)

और पढ़ें