बसपा के रामजी गौतम ने राज्‍यसभा के लिए दाखिल किया नामांकन 

बसपा के रामजी गौतम ने राज्‍यसभा के लिए दाखिल किया नामांकन 

बसपा के रामजी गौतम ने राज्‍यसभा के लिए दाखिल किया नामांकन 

लखनऊ: राज्‍यसभा की दस सीटों के लिए अगले माह होने वाले द्विवार्षिक चुनाव की खातिर सोमवार को बहुजन समाज पार्टी के उम्‍मीदवार रामजी गौतम ने अपना नामांकन पत्र दाखिल किया. उत्तरप्रदेश से राज्‍यसभा की दस सीटों के चुनाव के लिए नामांकन प्रक्रिया चल रही है. सोमवार को बसपा उम्‍मीदवार रामजी गौतम ने बसपा के वरिष्‍ठ नेता सतीश चंद्र मिश्र और विधानसभा में पार्टी के नेता लालजी वर्मा की मौजूदगी में अपना नामांकन पत्र दाखिल किया.

9 नवंबर को होगा मतदानः
27 अक्टूबर को नामांकन पत्र दाखिल करने की अंतिम तिथि है और 28 अक्टूबर को मतपत्रों की जांच होगी, जबकि दो नवंबर नाम वापस लेने की आखिरी तारीख है. यदि आवश्यक हुआ तो मतदान 9 नवंबर को होगा. इसके पहले बुधवार को समाजवादी पार्टी के राष्‍ट्रीय महासचिव प्रोफेसर रामगोपाल ने अपनी पार्टी की ओर से नामांकन पत्र दाखिल किया था. सोमवार की शाम तक भारतीय जनता पार्टी ने अपने उम्‍मीदवार घोषित नहीं किये हैं.

बसपा का उम्‍मीदवार उतारना आश्‍चर्यजनकः
विधानसभा में अपने 304 सदस्‍य होने से भाजपा सर्वाधिक आठ सीटें जीत सकती है जबकि 48 सदस्‍यों वाली समाजवादी पार्टी एक सीट पर आराम से जीत हासिल कर लेगी. इसके अलावा किसी दल के पास अपने उम्‍मीदवार को जिताने के लिए पर्याप्‍त संख्‍या बल नहीं है. बसपा के पास पर्याप्‍त संख्‍या बल न होने पर भी आश्‍चर्यजनक रूप से उसने अपना उम्‍मीदवार उतारा है.

बसपा नेता ने कहा था-भाजपा को रोकना चाहते हैं तो वे हमारा समर्थन करेंगेः
विधानसभा में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के 18 सदस्य जबकि अपना दल (एस) के नौ सदस्य हैं, कांग्रेस के सात, सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के चार और पांच निर्दलीय हैं. अपना दल (एस) का भाजपा से गठबंधन है. बसपा के एक वरिष्‍ठ नेता ने गत दिनों कहा था कि 'कांग्रेस और भारतीय समाज पार्टी के पास भी पर्याप्‍त संख्‍या बल नहीं है और सपा भी अपनी मौजूदा ताकत के साथ दूसरे उम्‍मीदवार को चुनने को स्थिति में नहीं है. यदि सभी मिलकर भाजपा को रोकना चाहते हैं तो वे हमारा समर्थन करेंगे.
सोर्स भाषा

और पढ़ें