जयपुर VIDEO: सरिस्का से आ रही बुरी खबर, उम्रदराज बाघिन ST-3 की हुई मौत, लगभग 16 वर्ष थी उम्र 

VIDEO: सरिस्का से आ रही बुरी खबर, उम्रदराज बाघिन ST-3 की हुई मौत, लगभग 16 वर्ष थी उम्र 

जयपुर: बाघ विहीन हो चुके सरिस्का को दोबारा आबाद करने के लिए 13 वर्ष पूर्व रणथंभौर से लाई गई बाघिन एसटी 3 की आज 16 वर्ष की उम्र में बीमारी के चलते सरिस्का में मौत हो गई. रणथंभौर में वर्ष 2006 में बाघिन मछली के चौथे लिटर से तीन बाघिन पैदा हुई उनमें से एक एसटी 3 भी थी. रणथंभौर में टी 18 नंबर दिया गया था. इसकी दो और बहने सुंदरी और कृष्णा थी.

वर्ष 2009 में इसे सरिस्का पुनर्वास कार्यक्रम के तहत रणथंभौर से सरिस्का लाया गया था यहां इसको नया नंबर मिला एस टी 3. यह बाघिन पिछले सात-आठ दिन से बीमार चल रही थी. आज बघानी एनीकट के पास इसकी मौत हो गई. सरिस्का के डीएफओ सुदर्शन शर्मा और उनकी टीम ने मौके पर पहुंचकर शव को रिकवर किया और पोस्टमार्टम कराकर अंतिम संस्कार कर दिया. इससे पहले बाघ एसटी 6 की भी 19 अप्रैल को 16 वर्ष की उम्र में बीमारी के चलते मौत हो गई थी.

अब सरिस्का में सबसे उम्रदराज बाघिन एसटी 2 मौजूद है, जिसकी उम्र लगभग 18 वर्ष हो चुकी है. सरिस्का को आबाद करने में एसटी 2 का महत्वपूर्ण योगदान रहा है. सरिस्का के डीएफओ सुदर्शन शर्मा एसटी 2 की भी नियमित मॉनिटरिंग करवा रहे हैं. दरअसल एक बाघ या बाघिन की औसत उम्र 16 वर्ष के आसपास ही होती है. ऐसे में एसटी 2 इस आयु सीमा को भी पार कर चुकी है और इस समय प्रदेश के सबसे उम्रदराज बाघ बाघिनों में से एक है.

और पढ़ें