बांसवाड़ा Banswara: 12 नाबालिग लड़कियों की तस्करी के आरोप में 3 लोग गिरफ्तार, कोझीकोड रेलवे स्टेशन पर किया डिटेन

Banswara: 12 नाबालिग लड़कियों की तस्करी के आरोप में 3 लोग गिरफ्तार, कोझीकोड रेलवे स्टेशन पर किया डिटेन

Banswara: 12 नाबालिग लड़कियों की तस्करी के आरोप में 3 लोग गिरफ्तार, कोझीकोड रेलवे स्टेशन पर किया डिटेन

बांसवाड़ा: जिले के सज्जनगढ़ (Sajjangarh) क्षेत्र के महुड़ी गांव की 12 नाबालिग लड़कियों (Minor Girls) को केरल के कोझीकोड रेलवे स्टेशन (Kozhikode Railway Station) पर डिटेन किए जाने की जानकारी मिली है. केरल के अनारकुलम जिले की एक संस्था में पढ़ने के लिए नाबालिग लड़कियों को ले जाया गया था. लेकिन वह संस्था जे जे एक्ट (Juvenile Justice) के तहत अधिकृत नहीं है. इस पर केरल पुलिस ने मानव तस्करी का केस दर्ज कर संस्थान के मैनेजर और दो अन्य लोगों को गिरफ्तार किया है. केरल आरपीएफ ने नाबालिग लड़कियों को बाल कल्याण समिति को सुपुर्द किया है. इनमें से तीन लड़कियों के पिता भी साथ में है. 

पुलिस ने सभी नाबालिगों के अभिभावकों को सूचित कर कोझीकोड बुलाया है. कोझीकोड सीडब्ल्यूसी चेयरमैन अब्दुल नासिर ने बताया कि 26 जुलाई देर रात कोझीकोड रेलवे स्टेशन पुलिस ने 12 नाबालिग लड़कियों को एक साथ सफर करते हुए देख पुलिस ने पूछताछ की. इसमें मामला संदिग्ध होना सामने आया. इस पर पुलिस ने सभी नाबालिगों को स्टेशन पर उतारकर कोझीकोड सीडब्ल्यूसी को सुपुर्द किया. इसके बाद पुलिस ने अनारकुलम स्थित करुणा स्कूल नामक संस्था से संपर्क किया. उन्होंने बच्चों के यहां आने की पुष्टि की तो जांच में पता चला कि संस्था जुवेनाइल जस्टिस एक्ट के तहत पंजीकृत नहीं है. 

दो आरोपियों के खिलाफ मानव तस्करी का मामला दर्ज:

इसके बाद संस्था के मैनेजर और साथ में सफर कर रहे दो अन्य आरोपियों के खिलाफ मानव तस्करी का मामला दर्ज किया गया है. पुलिस ने तुरंत कार्रवाई करते हुए आरोपियों को कोर्ट के समक्ष पेश किया. जहां से उन्हें जेल भेज दिया. सीडब्ल्यूसी ने बताया कि सभी औपचारिकताएं पूरी करने के बाद नाबालिग लड़कियों को बांसवाड़ा सीडब्ल्यूसी को सुपुर्द कर दिया जाएगा. बांसवाड़ा सीडब्ल्यूसी अध्यक्ष दिलीप रोकड़िया ने बताया कि उनके पास में अभिभावक की ओर से एक लेटर प्राप्त हुआ है. जिसमें पुलिस द्वारा उनको परेशान करने की बात कही जा रही है.
 

और पढ़ें