बांसवाड़ा Banswara: मोताने की मांग को लेकर 2 घरों में लगाई आग, आगजनी और हत्या के इरादे से 31 लोगों के खिलाफ कराया केस दर्ज

Banswara: मोताने की मांग को लेकर 2 घरों में लगाई आग, आगजनी और हत्या के इरादे से 31 लोगों के खिलाफ कराया केस दर्ज

Banswara: मोताने की मांग को लेकर 2 घरों में लगाई आग, आगजनी और हत्या के इरादे से 31 लोगों के खिलाफ कराया केस दर्ज

बांसवाड़ा: जिले के सज्जनगढ़ (Sajjangarh) थाना क्षेत्र में दुर्घटना में हुई युवक की मौत का बदला लेने के लिए एक परिवार के 31 लोगों ने दो भाइयों के मकान पर चढ़ाई कर दी. हमले के बीच प्रभावित परिवार के लोग जान बचाने के लिए पहाड़ों पर चढ़ गए. बदमाशों ने पीड़ित परिवार के मकान को तहस नहस कर दिया. पहले तो गेहूं, नगदी और जेवर लूटे. बाद में जाते समय मकान को आग लगा दी. इसके बाद बेघर हुए परिवार ने पुलिस की शरण ली. पुलिस ने 31 जनों के खिलाफ आगजनी और लूट का मामला दर्ज किया है. मामला सज्जनगढ़ थाना क्षेत्र के मैराणा गांव का है. सज्जनगढ़ थाना प्रभारी धनपतसिंह ने बताया कि मैराणा निवासी ईश्वर पुत्र राजहेंग गरासिया ने रिपोर्ट दी है. 

बताया है कि बहादूर पुत्र नाथू पटेल, थावरी पत्नी नाथू, रतना पिता सोनिया सहित करीब 31 हथियारबंद लोगों ने बीती शाम 6 बजे उनके मकानों पर हमला बोल दिया. किलकारी के साथ हुए हमले की जानकारी पर पूरे परिवार में ईश्वर, उसकी पत्नी बना, मां रमीला और पिता राजहेंग जान बचाने के लिए मकान छोड़कर मक्के की खेती के बीच होते हुए पहाड़ियों पर चढ़ गए. बदमाशों ने दोनों घरों में पड़े हुए गेहूं को बाहर बिखेर दिया. अंदर से कपड़ों की पेटियां लाकर बाहर फेंक दी. मवेशी बांधने वाली जगहों पर आग लगा दी. गेहूं में छिपाकर रखे हुए 10 हजार रुपए लूट लिए.

मौत के बदले 5 लाख की मांग की:

इसके बाद खेतों में खड़ी मक्के की फसल नष्ट कर दी. वह वारदात के चश्मदीद भी है. ईश्वर ने बताया कि 20 जुलाई को उसका भाई पंकज गरासिया गांव में रहने वाले नाथू पटेल के बेटे मनीष को बाइक से साथ लेकर गया था. जहां भीलकुआं के आगे सड़क दुर्घटना में मनीष की मौके पर मौत हो गई. लेकिन आरोपी परिवार ने मामले को हत्या बताते हुए पंकज पर आरोप लगाए. इसके बाद 3 अगस्त को गांव में पंचों के बीच मौताणें को लेकर भांजगड़ा (समझौता बैठक) हुआ. यहां आरोपी परिवार ने मनीष की मौत के बदले 5 लाख की मांग की लेकिन समझौता पूरा नहीं हुआ. इसी से खफा होकर आरोपी परिवार पंकज और उनके परिवार के लोगों की हत्या करने की फिराक में है. ये हमला भी उसी उद्देश्य से हुआ था लेकिन घर पर कोई नहीं मिला.
 

और पढ़ें