बांसवाड़ा Banswara: शहर में रिकॉर्ड तोड़ बारिश, जलभराव से लोगों की आम दिनचर्या प्रभावित

Banswara: शहर में रिकॉर्ड तोड़ बारिश, जलभराव से लोगों की आम दिनचर्या प्रभावित

Banswara: शहर में रिकॉर्ड तोड़ बारिश, जलभराव से लोगों की आम दिनचर्या प्रभावित

बांसवाड़ा: जिले में बीते 14 घंटे के दौरान रिकॉर्ड तोड़ साढ़े 21 इंच बारिश हुई है. इसमें सबसे ज्यादा बारिश गढ़ी में हुई. जहां 120 MM यानी 4.72 इंच पानी बरसा. इसी प्रकार सज्जनगढ़ में 102, कुशलगढ़ में 85 और बांसवाड़ा में बारिश का आंकड़ा 27 MM रहा. पिछले साल के बारिश आंकड़ों के हिसाब से अगस्त के पहले सप्ताह के मुकाबले ज्यादा है. एक जून 2022 से अब तक बांसवाड़ा में 8161 MM बरसात हाे चुकी है जबकि जनवरी 2022 से अब तक का आंकड़ा 8343 MM है. 

मोहकमपुरा क्षेत्र में बरसाती नाले में आए उफान के बीच रपट पर दो बाइक सहित उस पर सवार 6 लोगों के बहने की सूचना है. इसमें भंवरदा सरपंच तेरिसंह चारेल की पत्नी भी शामिल थी. जिसे लोगों ने बहाव से खींचकर एक साइड किया. गनीमत ये रही कि बहने वाल सभी लोग तैरना जानते थे जो झाड़ियों की मदद से किनारे पर आ गए. 

बारिश के बीच संभाग के सबसे बड़े माही डेम का जल स्तर भी 281.50 के मुकाबले बुधवार सुबह 11 बजे 275.15 मीटर पर पहुंच गया. यहां प्रति घंटा 5 सेमी पानी की आवक बनी हुई है. दूसरी ओर मौसम की बात करें तो बांसवाड़ा के आसमान में घने काले बादल छाए हुए हैं. मोटी बूंदों के साथ रूक-रूककर हल्की तेज बारिश का दौर अभी भी जारी है.

खेत बारिश के पानी से लबालब हो गए:

मौसम के व्यवहार को देखते हुए बहुत से बच्चे सुबह के समय स्कूल नहीं गए. लोगों की आम दिनचर्या भी बारिश से प्रभावित दिखाई दी. बांसवाड़ा के आसमान में मौसम का ये बदलाव बीती शाम को एकदम से हुआ था. कुशलगढ़ और मध्यप्रदेश बॉर्डर पर हुई बारिश से नॉन कमांड इलाके में पानी-पानी हो गया है. सभी बरसाती पुलिया और रपट के ऊपर से पानी बह रहा है. सूखे रहने वाले खेत बारिश के पानी से लबालब हो गए हैं.

और पढ़ें