बालोतरा अनूठी पहल: रेतीले धोरों में महज 24 घंटे में बना कोविड अस्पताल, सभी सुविधाओं से युक्त हैं ये अस्थायी हॉस्पिटल 

अनूठी पहल: रेतीले धोरों में महज 24 घंटे में बना कोविड अस्पताल, सभी सुविधाओं से युक्त हैं ये अस्थायी हॉस्पिटल 

अनूठी पहल: रेतीले धोरों में महज 24 घंटे में बना कोविड अस्पताल, सभी सुविधाओं से युक्त हैं ये अस्थायी हॉस्पिटल 

बालोतरा: सरहदी बाड़मेर जिले में राजस्थान सरकार के राजस्व मंत्री के आमजन को कॉविड-19 से बचाने के जज्बे ने 24 घंटे में रण के इलाके में एक अस्पताल को खड़ा कर दिया. सैकड़ो लोगों और भामाशाहों के सहयोग से कोविड-19 के मरीजों के लिए अस्थाई अस्पताल का रिकॉर्ड समय में निर्माण हुआ. अब यहां कोविड के मरीजों का इलाज सुलभ होगा. देश भर की तरह सरहदी बाड़मेर जिले में अचानक बढ़े कोविड 19 के मरीजों के चलते जिला अस्पताल और बालोतरा उपखंड के नाहटा अस्पताल में हाउसफुल हुए बेड के हालातों को देखते हुए राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने पचपदरा के सांभरा में 24 घण्टों में कोविड 19 अस्थाई अस्पताल बना डाला. लोगों के सहयोग और भामाशाहों के साथ से बंक हाउस में बनाया गया यह अनूठा अस्पताल अब कोविड के मरीजो के लिए जीवन देने वाला साबित होगा.

Image preview

राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने कराया उद्घाटन:
शनिवार को राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने एक मजदूर के हाथ से इसका उद्घाटन करवाया. जिस जगह पर कल तक बबूल के कंटीले पेड़ो का साम्राज्य था. आज उस जगह पर कोविड के मरीजो को नया जीवन देने वाला कोविड अस्पताल बना नजर आया. हालांकि राजस्व मंत्री ने पिछले 24 घण्टों से यहां खड़े रहकर इस हॉस्पिटल का निर्माण करवाया, लेकिन वह इस पूरे निर्माण  का श्रेय भामाशाहों और आम जनता को देते नजर आ रहे है. राजस्व मंत्री चौधरी को इनका मिला सहयोग-बाड़मेर-जोधपुर हाइवे पर बने इस कोविड अस्प्ताल के लिए  राजस्व मंत्री हरीश चौधरी के निर्देशन में स्थानीय जन प्रतिनिधियों, स्थानीय भामाशाहों के साथ साथ इंटरनेशनल बंकर निर्माता किरी ग्रुप के ललित किरी ने निशुल्क बंकर मुहैया करवाये. वहीं जिला परिषद सदस्य व स्थानीय सरपंच प्रतिनिधि खेराज राम हुड्डा तथा कोसरिया सरपंच रुगाराम सारण के सहयोग से 24 घण्टे के भीतर जंगली इलाके में एक वातानुकूलित अस्पताल खड़ा किया गया.

Image preview

ये रहेंगे चिकित्सा के पुख्ता इंतजाम:  
कोविड 19 की आपदा की इस घड़ी में सांभरा गांव में स्थापित किए गए अस्थाई अस्पताल में लोगो ने भी दिल खोलकर मदद की है. अब इस जगह चिकित्सा एंव स्वास्थ्य विभाग ने डॉक्टरों के साथ साथ स्वास्थ्य कर्मियों को तैनात कर दिया गया है. यहां अब कोविड 19 संक्रमितों का इलाज शुरू कर दिया है. मरीजों को संपूर्ण चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए मेडिकल टीम कार्यरत रहेगी.

Image preview

यहां चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के लिए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ बी एल विश्नोई ने डॉ हितेंद्र सिंह, डॉ मुकेश राजपुरोहित के निर्देशन में चिकित्सा कर्मियों को तैनात किया है , यह 24 घंटे सेवाएं देंगे. किसी जनप्रतिनिधि द्वारा महज 24 घण्टे में कोविड अस्पताल का निर्माण अपने आप मे किसी रिकॉर्ड से कम नही है. आज आपदा के हालातों में इसी तरह के प्रयास जनता की जान बचाने में महती भूमिका अदा करेगा.

Image preview

हो सकेगी बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध:
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने केन्द्र एवं राज्य सरकार के संयुक्त उपक्रम एचपीसीएल राजस्थान रिफाइनरी लिमिटेड को अस्पताल के निर्माण के लिए राजस्व मंत्री के प्रयासों से पचपदरा तहसील के ग्राम सांभरा में 15 एकड़ भूमि निशुल्क आवंटित किए जाने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है. गहलोत की इस मंजूरी से रिफाइनरी क्षेत्र में कार्य करने वाले कार्मिकों एवं क्षेत्रीय लोगों को बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध हो सकेगी.

...फर्स्ट इंडिया के लिए बंशीलाल चौधरी की रिपोर्ट 

और पढ़ें