बाड़मेर बाड़मेर में कोरोना वायरस के संदिग्ध मरीजों की संख्या हुई चार, सभी चीन से लौटे थे घर

बाड़मेर में कोरोना वायरस के संदिग्ध मरीजों की संख्या हुई चार, सभी चीन से लौटे थे घर

बाड़मेर में कोरोना वायरस के संदिग्ध मरीजों की संख्या हुई चार, सभी चीन से लौटे थे घर

बाड़मेर: चीन के बाद राजस्थान में भी कोरोना वायरस दस्तक दे रहा है. राजस्थान के कई जिलो से कोरोना वायरस के संदिग्ध मरीज सामने आने के बाद हड़कंप मचा हुआ है. 

कोरोना वायरस के संदिग्धों की संख्या 4 हो गई: 
चीन में कोरोनो वायरस के बाद अब बाड़मेर मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भी कोरोना वायरस के संदिग्धों की संख्या 4 हो गई है. चारों मेडिकोज को आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है, जहां पर चिकित्सकों व नर्सिंगकर्मी लगातार निगरानी रखे हुए हैं. संदिग्धों की संख्या बढ़ने के साथ ही स्वास्थ्य विभाग की भी चिंता बढ़ गई है. अस्पताल में दो छात्र पहले से आइसोलेशन वार्ड में है, इसी बीच दो और मेडिकोज के चीन से लौटने की जानकारी मिलने पर उन्हें अस्पताल बुलाया गया. दोनों मेडिकोज की चिकित्सा जांच के बाद आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है.

चारों छात्र छुट्टियों के दौरान चीन से घर आए थे:
गौरतलब है कि चारों छात्र छुट्टियों के दौरान चीन के हुवान से बाड़मेर अपने घर आ गए थे,कोरोना वायरस की ग्लोबल वार्निंग के पहले बाड़मेर आने के कारण इनकी कहीं पर भी स्क्रीनिंग नहीं हुई. अस्पताल के प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डॉ. बीएल मंसुरिया ने बताया कि वायरस प्रभावित क्षेत्र से लौटे लोगों को कम से कम 14 दिन तक निगरानी में रखना आवश्यक होता है इस दौरान भले ही उनकी रिपोर्ट नेगेटिव आती हैं तो भी उनको अस्पताल में ही रहना होगा. 

संदिग्धों की संख्या बढ़ने से विभाग को भी चिंता सताने लगी:
अस्पताल में कोरोना वायरस के संदिग्धों की संख्या बढ़ने से विभाग को भी चिंता सताने लगी है अब तक चार संदिग्ध बाड़मेर में सामने आ चुके हैं. विभाग अपने स्तर पर तथा छात्रों से पता करके अन्य किसी मेडिकोज के बाड़मेर आने की जानकारी भी जुटा रहा है. साथ ही अस्पताल आए दो मेडिकोज के नमूना लेकर जांच के लिए जयपुर भेज दिए हैं. इस बीच पूर्व में 2 छात्रों के भेजे गए नमूनों की जांच रिपोर्ट 4 दिन बाद भी नहीं आई है. 

और पढ़ें