बाड़मेर बाड़मेर के लाल शहीद सांवलाराम विश्नोई का अंतिम संस्कार, हजारों की संख्या में लोगों ने नम आंखो से दीं अंतिम विदाई 

बाड़मेर के लाल शहीद सांवलाराम विश्नोई का अंतिम संस्कार, हजारों की संख्या में लोगों ने नम आंखो से दीं अंतिम विदाई 

बाड़मेर के लाल शहीद सांवलाराम विश्नोई का अंतिम संस्कार, हजारों की संख्या में लोगों ने नम आंखो से दीं अंतिम विदाई 

बाड़मेर: बाड़मेर के लाल बांड गांव निवासी शहीद सांवलाराम विश्नोई का आज राष्ट्रीय सम्मान से उनके पैतृक गांव में अंतिम संस्कार किया गया. यूएन की शांति सेना में शहीद सांवलाराम विश्नोई तैनात थे. BSF में मुख्य आरक्षक पद पर तैनात थे. सैन्य कैंप पर हुए हिंसक हमले में 26 जुलाई को सांवलाराम विश्नोई कांगो में शहीद हुए. 23 वर्ष की सेवा में सदैव ईमानदारी व समर्पण के साथ निर्वहन किया. 

रविवार को विमान से जोधपुर पार्थिव देह लाया गया था जिसके बाद रविवार रात तक सड़क मार्ग से बाड़मेर पार्थिव देह लाया गया. आज सुबह बाड़मेर में श्रद्धांजलि सभा का आयोजन हुआ जिसमें शहीद के दोनों बेटे अक्षय व अभिनव ने सबसे पहले पुष्प अर्पित किए. वहीं मंत्री हेमाराम चौधरी, गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष मेवाराम जैन, कलेक्टर लोकबंधु, एसपी दीपक भार्गव व BSF के अधिकारियों ने पुष्प अर्पित किए.

बाड़मेर से पार्थिव देह उनके पैतृक गांव बांड स्थित घर पहुंचा जिसमें बीच में जगह-जगह हज़ारों की संख्या में लोगों ने पुष्प अर्पित किए. शहीद के घर पर पार्थिव देह पहुंचने पर लोगों की आंखे नम हो गई, परिवार और अन्य लोगों ने अंतिम दर्शन किए जिसके बाद पैतृक गांव में ही राष्ट्रीय सम्मान से अंतिम संस्कार किया. कांगो में शहीद हुए बाड़मेर के लाल सांवलाराम विश्नोई को आज हज़ारों लोगों ने नम आंखो से अंतिम विदाई दी. केबिनेट मंत्री हेमाराम चौधरी, राज्यमंत्री सुखराम विश्नोई, विधायक पदमाराम, BSF के अधिकारी, पुलिस व प्रशासन के अधिकारी मौजूद रहे.

और पढ़ें