लखनऊ Uttar Pradesh: योगी आदित्यनाथ के शपथ से पहले भाजपा कार्यकर्ताओं ने मंदिरों में की पूजा अर्चना, सरकार के लिए मांगा आशीर्वाद

Uttar Pradesh: योगी आदित्यनाथ के शपथ से पहले भाजपा कार्यकर्ताओं ने मंदिरों में की पूजा अर्चना, सरकार के लिए मांगा आशीर्वाद

Uttar Pradesh: योगी आदित्यनाथ के शपथ से पहले भाजपा कार्यकर्ताओं ने मंदिरों में की पूजा अर्चना, सरकार के लिए मांगा आशीर्वाद

लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधानसभा में पूर्ण बहुमत हासिल करने के बाद दोबारा सत्तासीन होने जा रही भारतीय जनता पार्टी (BJP) की नई सरकार के शुक्रवार की शाम होने वाले शपथ ग्रहण से पहले राज्‍य के काशी, मथुरा और अयोध्या समेत विभिन्न स्थानों पर मंदिरों में भाजपा कार्यकर्ताओं ने पूजा अर्चना कर लोक कल्याण की कामना की. शुक्रवार शाम चार बजे यहां भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी इकाना स्टेडियम में आयोजित शपथ ग्रहण समारोह में योगी आदित्यनाथ दूसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. योगी आदित्यनाथ को गुरुवार को बतौर पर्यवेक्षक केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और सह पर्यवेक्षक झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास की मौजूदगी में एक बार फिर सर्वसम्मति से भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नवनिर्वाचित विधायक दल का नेता चुन लिया गया. राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने उन्हें सरकार बनाने का न्योता दिया है. प्रदेश भाजपा महामंत्री गोविंद नारायण शुक्ल ने 'पीटीआई-भाषा' को बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा के अध्यक्ष जेपी नड्डा समेत देश भर के गणमान्य मेहमानों के अलावा 70 हजार कार्यकर्ताओं की मौजूदगी में भाजपा सरकार का शपथ ग्रहण समारोह होगा. 

उन्होंने बताया कि प्रदेश भर में मंदिरों में लोक कल्याण की कामना के साथ हवन पूजन करके कार्यकर्ता शपथ ग्रहण समारोह के लिए निकले हैं. उन्होंने बताया कि शपथ ग्रहण का यह आयोजन राज्य के विकास में मील का पत्थर साबित होगा. जिलों से मिल रही खबरों के अनुसार शपथ ग्रहण से पहले शुक्रवार सुबह आठ से नौ बजे तक भाजपा कार्यकर्ताओं ने राज्य भर के मंदिरों में जाकर लोक कल्‍याण के लिए पूजा अर्चना की. भाजपा के सांगठनिक 27 हजार शक्ति केंद्रों के स्‍तर पर कार्यकर्ताओं को पार्टी ने यह जिम्मेदारी सौंपी थी. वाराणसी से मिली खबर के मुताबिक योगी आदित्यनाथ सरकार के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने से पहले वाराणसी में भाजपा पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने विभिन्न मंदिरों में पूजा-अर्चना कर सरकार के लिए आशीर्वाद मांगा. शपथ ग्रहण समारोह में लखनऊ रवाना होने पूर्व काशी क्षेत्र के अध्यक्ष महेश चंद्र श्रीवास्तव ने वाराणसी के परेड कोठी स्थित महावीर मंदिर में पूजा-अर्चना कर योगी सरकार के लिए आशीर्वाद मांगा नमामि गंगे के पदाधिकारियों ने काशी विश्वनाथ धाम के गंगा द्वार पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और योगी आदित्यनाथ की तस्वीर के साथ मां गंगा का दूध से अभिषेक कर आरती उतारी. नमामि गंगे के संयोजक राजेश शुक्ला ने बताया कि हमने मां गंगा की आरती कर योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में प्रदेश के उत्तम भविष्य के लिए प्रार्थना की.’’ वाराणसी के भाजपा महानगर अध्यक्ष विद्यासागर राय ने बताया कि शहर के लगभग 2000 से अधिक पदाधिकारी लखनऊ में योगी सरकार के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होंगे. 

वैदिक मंत्रोच्चार के बीच जिले के 228 शक्ति केंद्रों में आज सुबह पूजा अर्चना की गई
इसके लिए बसों और चार पहिया वाहनों से कार्यकर्ता लखनऊ के लिए रवाना हो गये हैं. यहां लखनऊ में जीडी गोयनका स्कूल के 300 से अधिक छात्रों ने योगी आदित्यनाथ को शुभकामना देने के लिए मानव श्रृंखला बनाकर 'योगी' लिखा. स्कूल प्रशासन के अनुसार यह छात्रों की योगी से उम्मीदों का प्रतीक है. मथुरा से आई एक रिपोर्ट में कहा गया है कि वैदिक मंत्रोच्चार के बीच जिले के 228 शक्ति केंद्रों में आज सुबह पूजा अर्चना की गई. मथुरा से भाजपा जिलाध्यक्ष मधु शर्मा ने कहा कि पार्टी कार्यकर्ताओं ने नौझील स्थित हनुमान मंदिर में हनुमान चालीसा के नारे के बीच माथा टेका तथा बाबा मंदिर, वृंदावन में कात्यानी पीठ और आशेश्वर महादेव नंदगांव मंदिर में भी पूजा-अर्चना की गई. कानपुर में महिला समर्थक बुलडोजर की आरती करती नजर आईं. राज्य की राजधानी लखनऊ में उत्साहित भाजपा समर्थकों ने बुलडोजर पर सवार होकर "बुलडोजर बाबा जिंदाबाद" के नारे लगाए. अपराधियों और माफियाओं द्वारा अवैध तरीकों से बनाई गई संपत्तियों को ध्‍वस्‍त कराने वाले आदित्यनाथ ने एक नया नाम "बुलडोजर बाबा" अर्जित किया है. अधिकारियों के मुताबिक इकाना स्टेडियम को सुबह 11 बजे से आम जनता के लिए खोल दिया गया. दोपहर दो बजे से वीआईपी और गणमान्य व्यक्तियों की आवाजाही शुरू हो गई. भाजपा सूत्रों ने बताया कि कार्यक्रम में शामिल होने के लिए देश के कई नामी उद्योगपति आ रहे हैं. अपर पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने पीटीआई-भाषा को बताया कि उत्तर प्रदेश पुलिस, प्रांतीय सशस्त्र बल (पीएसी) के करीब 8000 कर्मियों के साथ-साथ विशेष कार्य बल (एसटीएफ) और आतंकवाद विरोधी दस्ते जैसी विशेष इकाइयां (एटीएस) को सुरक्षा के लिहाज से आयोजन स्थल और उसके आसपास तैनात किया गया है. 

पुलिस ने आयोजन स्थल और उसके आसपास सीसीटीवी कैमरे भी लगाए हैं
उनके अनुसार सभी संवेदनशील स्थानों पर एटीएस कमांडो के साथ कार्यक्रम स्थल तक सभी पहुंच को सख्ती से नियंत्रित किया जा रहा है. पुलिस ने आयोजन स्थल और उसके आसपास सीसीटीवी कैमरे भी लगाए हैं. समारोह में प्रदेश भर के सामाजिक कार्यकर्ताओं, प्रमुख नेताओं, लेखक, साहित्यकार, चिकित्सक,अभियंता और धार्मिक मठ-मंदिरों के साधु-संतों को भी आमंत्रित किया गया है. देश भर के प्रमुख साधु संतों को भी आमंत्रित किया गया है. भाजपा सूत्रों ने बताया कि देश के कई प्रमुख उद्योगपति कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आ रहे हैं. उत्तर प्रदेश में सात चरणों में संपन्न हुए 403 विधानसभा क्षेत्रों का चुनाव परिणाम 10 मार्च को घोषित हुआ जिसमें भारतीय जनता पार्टी ने 255 और सहयोगी अपना दल (सोनेलाल) ने 12 तथा निर्बल इंडियन शोषित हमारा आम दल (निषाद) ने छह सीटों पर जीत हासिल की. पूर्ण बहुमत हासिल करने के बाद भारतीय जनता पार्टी लगातार दूसरी बार सरकार पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने जा रही है. इसके 37 वर्ष पहले 1985 में नारायण दत्‍त तिवारी के नेतृत्व में संपन्न हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने दोबारा पूर्ण बहुमत की सरकार बनाई और तिवारी ने लगातार दूसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. योगी आदित्यनाथ के खाते में 37 वर्ष बाद यह रिकॉर्ड दर्ज होगा. सोर्स- भाषा

और पढ़ें