Live News »

चुनाव नतीजों से पहले शेयर बाजार में भारी गिरावट

चुनाव नतीजों से पहले शेयर बाजार में भारी गिरावट

मुंबई। पांच राज्यों में चुनाव के नतीजों को लेकर आशंकाओं और कच्चे तेल की कीमतों में वृद्धि के कारण सोमवार को देश के शेयर बाजार में भारी गिरावट देखने को मिली। वैश्विक शेयर बाजारों में भी गिरावट का दौर जारी है। वहीं अन्‍तर बैंक विदेशी मुद्रा बाजार में रूपया डॉलर के मुकाबले 46 पैसे कमजोर रहा। एक डॉलर 71 रूपये 27 पैसे का बोला गया।

गौरतलब है कि बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 713.53 अंक यानी 2% और नैशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) निफ्टी 205.25 अंक यानी 1.92% टूटकर क्रमशः 34,959.72 और 10,488.45 पर बंद हुआ। कारोबार में सुबह से ही भारी गिरावट दर्ज की गई। सेंसेक्स में सुबह 600 से अधिक अंकों की गिरावट दर्ज की गई जबकि एनएसई के 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी में 190 अंकों की गिरावट आई। 

और पढ़ें

Most Related Stories

नहीं बढ़ रहा फ्लाइट्स का संचालन, कोलकाता के लिए एयर कनेक्टिविटी शुरू होने का इंतजार

जयपुर: घरेलू फ्लाइट्स का संचालन शुरू हुए गुरुवार को चौथा दिन है, लेकिन जयपुर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर अभी भी फ्लाइट्स का संचालन नहीं बढ़ पा रहा है. हालांकि आज अपेक्षाकृत रूप से यात्रीभार अधिक देखा जा रहा है. लेकिन इसके बावजूद गुरुवार को 20 में से 11 फ्लाइट रद्द रही हैं. फ्लाइट संचालन के चौथे दिन भी पश्चिम बंगाल के लिए एयर कनेक्टिविटी शुरू नहीं हो सकी है. जयपुर से पश्चिम बंगाल के कोलकाता के लिए इंडिगो एयरलाइन ने एक फ्लाइट शुरू करने का शेड्यूल दिया है, लेकिन पश्चिम बंगाल की राज्य सरकार के विरोध के कारण अभी तक इस फ्लाइट को उड़ान भरने की मंजूरी नहीं मिल सकी. एयरपोर्ट प्रशासन से जुड़े सूत्रों का कहना है कि शुक्रवार से कोलकाता के लिए फ्लाइट शुरू हो सकती है.

मुम्बई के लिए फिर रद्द हुई इंडिगो की फ्लाइट:
हालांकि गुरुवार को भी कुल फ्लाइट्स की संख्या में कमी देखी गई है. बुधवार को जहां जयपुर एयरपोर्ट से 10 फ्लाइट संचालित हुई थीं, वहीं आज 9 फ्लाइट ही संचालित हो रही हैं. दरअसल चार एयरलाइंस ने जयपुर एयरपोर्ट से कुल 20 फ्लाइट संचालित करने के लिए शेड्यूल दिया था. इनमें सर्वाधिक 8 फ्लाइट का शेड्यूल स्पाइसजेट एयरलाइन ने दिया था. इंडिगो ने 6 फ्लाइट, एयर इंडिया और एयर एशिया ने तीन-तीन फ्लाइट संचालित करने की बात कही थी, लेकिन पिछले चार दिनों में अभी तक एक भी दिन सभी 20 फ्लाइट संचालित नहीं हो सकी हैं. गुरुवार को 11 फ्लाइट्स जयपुर एयरपोर्ट से रद्द की गई हैं. स्पाइसजेट की 6, इंडिगो की 2, एयर एशिया की 2 और एयर इंडिया की 1 फ्लाइट रद्द हुई है.

धौलपुर के सैपऊ में तूफान से गिरा मकान, मलबे में दबने से 3 लोगों की मौत 

ये 11 फ्लाइट आज रद्द
- स्पाइसजेट की सुबह 5:45 बजे सूरत जाने वाली फ्लाइट SG-2763 हुई रद्द
- स्पाइसजेट की सुबह 7:20 बजे जालंधर जाने वाली फ्लाइट SG-2750 हुई रद्द
- इंडिगो की सुबह 6:40 बजे मुंबई जाने वाली फ्लाइट 6E-218 हुई रद्द
- एयर इंडिया की सुबह 7:35 बजे आगरा जाने वाली फ्लाइट 9I-687 हुई रद्द
- इंडिगो की शाम 4:45 बजे कोलकाता जाने वाली फ्लाइट 6E-6156 हुई रद्द
- स्पाइसजेट की सुबह 8 बजे मुंबई जाने वाली फ्लाइट SG-279 हुई रद्द
- स्पाइसजेट की सुबह 9:45 बजे उदयपुर जाने वाली फ्लाइट SG-6632 हुई रद्द
- स्पाइसजेट की सुबह 11:15 बजे अमृतसर जाने वाली फ्लाइट SG-3522 हुई रद्द
- स्पाइसजेट की दोपहर 2:15 बजे गुवाहाटी जाने वाली फ्लाइट SG-448 हुई रद्द
- एयर एशिया की सुबह 9:15 बजे बेंगलूरु जाने वाली फ्लाइट I5-1721 हुई रद्द
- एयर एशिया की शाम 5:15 बजे पुणे जाने वाली फ्लाइट I5-1427 हुई रद्द

हालांकि यात्रीभार में दिख रही अपेक्षाकृत बढ़ोतरी:
जिस तरह से एयरलाइंस अपने शेड्यूल के मुताबिक फ्लाइट संचालित नहीं कर रही हैं, उससे यात्रियों के लिए परेशानी बढ़ गई है. दरअसल जिन यात्रियों ने फ्लाइट में पहले से बुकिंग कर ली है, उनके टिकट को रद्द किया जा रहा है. इसके एवज में यात्रियों को उनकी राशि भी नहीं लौटाई जा रही है, बल्कि उनकी राशि को क्रेडिट शेल के रूप में एयरलाइन अपने पास ही रख रही हैं. ऐसे में यदि यात्रियों का दुबारा कोई शेड्यूल नहीं बैठता है तो उन्हें इसका रिफंड कभी नहीं मिल सकेगा. हालांकि एयरलाइंस का कहना है कि यात्री अगले एक साल की अवधि में इस क्रेडिट शेल की राशि से टिकट बुक करवा सकते हैं. आपको बता दें कि इस कारण जिन यात्रियों ने मुम्बई, जालंधर, सूरत आदि शहरों से आने या जाने के लिए टिकट बुक करवा रखे थे, उन्हें इसका नुकसान झेलना पड़ रहा है. अब देखना होगा कि फ्लाइट्स के रद्द होने का यह सिलसिला कितने दिनों तक जारी रहेगा.

COVID-19 की वैक्सीन बनाने में 30 ग्रुप कर रहे है काम, अक्टूबर तक मिल सकती है सफलता:  डॉ. राघवन

...फर्स्ट इंडिया के लिए काशीराम चौधरी की रिपोर्ट

VIDEO: फ्लाइट्स में नहीं बढ़ रहा यात्री भार, 70 फीसदी सीटें खाली

जयपुर: हवाई यात्रा को शुरू हुए आज तीसरा दिन है, लेकिन फ्लाइट्स में हवाई यात्रीभार में बढ़ोतरी होती नहीं दिख रही है. पहले 2 दिनों में मात्र 25 से 30% यात्रियों ने ही विमानों में आवागमन किया है. यानी करीब 70 से 75% सीटें खाली हैं. 

Rajasthan Corona Updates: पिछले 12 घंटे में सामने आए 131 नए पॉजिटिव, 6 की मौत, जिलेवार जाने आंकड़े 

तय मानकों के अनुरूप ही यात्रियों से किराया लिया जा रहा:
जयपुर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से फ्लाइट संचालन का बुधवार को तीसरा दिन था. बुधवार को सुबह पहली फ्लाइट जब बेंगलुरु के लिए रवाना हुई तो 180 सीट क्षमता के इस विमान में मात्र 30 यात्री मौजूद थे. विमान में सफर करने वाले यात्रियों के लिहाज से तो यह अच्छी खबर थी, कि वे सोशल डिस्टेंसिंग रखते हुए बेंगलुरु तक पहुंच सकते हैं. लेकिन फ्लाइट का संचालन कर रही एयरलाइन के लिए कम यात्रीभार मुनाफे का सौदा नहीं है. एयरलाइंस ने केंद्र सरकार के निर्देश पर हवाई किराए की दरें भी बहुत अधिक नहीं बढ़ाई हैं. तय मानकों के अनुरूप ही यात्रियों से किराया लिया जा रहा है. लेकिन इसके बावजूद यात्रियों की संख्या काफी कम है. सबसे खराब स्थिति तो पहले दिन 25 मई को देखी गई, जब दिल्ली से जयपुर पहुंची एयर इंडिया की फ्लाइट में मात्र 2 यात्री दिल्ली से जयपुर आए. 70 सीट क्षमता के इस विमान में मात्र 2 यात्री ही मौजूद थे. इसी तरह 26 मई को भी जयपुर से अमृतसर रवाना हुए 80 सीट क्षमता के विमान में मात्र 6 यात्री मौजूद थे. यात्री भार में कमी के चलते एयरलाइंस को कई फ्लाइट रद्द भी करनी पड़ रही हैं. पहले दिन जहां जयपुर एयरपोर्ट से 12 फ्लाइट रद्द रही. वहीं दूसरे दिन 9 फ्लाइट्स का संचालन रद्द करना पड़ा. आज भी जयपुर एयरपोर्ट से 10 फ्लाइट संचालित नहीं हो रही हैं. 

पिछले 2 दिन में एक जैसा यात्रीभार, बढ़ोतरी नहीं:
- 25 मई को पहले दिन 8 फ्लाइट का हुआ डिपार्चर
- 289 यात्री गए जयपुर से इन 8 फ्लाइट से
- 8 फ्लाइट में 1130 सीट थी, केवल 289 यात्री गए यानी 25.57% रहा यात्रीभार
- 25 मई को 11 फ्लाइट का हुआ अराइवल
- इन फ्लाइट से 893 यात्री आए जयपुर
- 11 फ्लाइट में थी 1670 सीट, 893 यात्रियों का आगमन हुआ, यानी यात्री भार रहा 53.47%
- 26 मई को 10 फ्लाइट का हुआ डिपार्चर
- कुल 440 यात्री गए जयपुर से इन 10 फ्लाइट से
- 10 फ्लाइट में थी 1390 सीट, यात्री गए 440, यानी औसत यात्रीभार रहा 31.65 प्रतिशत
- 26 मई को 11 फ्लाइट का हुआ अराइवल
- 872 यात्री जयपुर आए इन फ्लाइट से
- 1570 सीट थी विमान में, यात्री आए 872, यानी यात्रीभार रहा 55.54 प्रतिशत

जम्मू-कश्मीर में टला बड़ा आतंकी हमला, पुलवामा की तरह गाड़ी में रखी गई थी IED 

दरअसल कम यात्रीभार के पीछे सख्त क्वॉरेंटाइन नियमों को कारण माना जा रहा है. कई राज्यों ने दूसरे राज्य से यात्रियों के आने पर 14 दिन तक संस्थागत क्वॉरेंटाइन रखने के निर्देश दिए हैं. महाराष्ट्र में मुम्बई पहुंचते ही यात्रियों का कोविड-19 टेस्ट किया जा रहा है. वहीं तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश आदि राज्यों ने भी सख्त नियम बनाए हैं. राजस्थान आने वालों को भी 14 दिन होम क्वॉरेंटाइन किया जा रहा है. अभी केवल वे लोग ही यात्रा कर रहे हैं जिन्हें जरूरी कार्य से ड्यूटी ज्वाइन करनी है या फिर पिछले 2 माह से लॉक डाउन के कारण फंस गए थे. बिजनेस या अन्य कार्यों के सिलसिले में यात्रा करने वाले लोग अभी यात्रा करने से बच रहे हैं. उन्हें डर है कि यात्रा के तुरंत बाद 14 दिन तक क्वॉरेंटाइन कर दिया जाएगा. ऐसे में यह जरूरी है कि एविएशन इंडस्ट्री को बढ़ावा देने के लिए क्वॉरेंटाइन नियमों में शिथिलता दी जाए. जिस तरह दिल्ली सरकार ने हवाई यात्रा को लेकर क्वॉरेंटाइन समाप्त किया है, उसी तरह के निर्णय सभी राज्यों को लेने होंगे, तभी फ्लाइट्स में यात्री भार बढ़ सकता है. यदि इसी तरह के हालात रहे तो कम यात्रीभार के चलते एयरलाइंस का आर्थिक संकट बढ़ेगा और उनके लिए फ्लाइट संचालित कर पाना संभव नहीं होगा.  

...काशीराम चौधरी, फर्स्ट इंडिया न्यूज़, जयपुर

जयपुर एयरपोर्ट से फ्लाइट संचालन का दूसरा दिन, कुल 11 फ्लाइट्स का हुआ संचालन, 20 में से 9 फ्लाइट रहीं रद्द

जयपुर: घरेलू फ्लाइट्स के संचालन का मंगलवार को दूसरा दिन इस लिहाज से बेहतर रहा कि फ्लाइट्स की संख्या में बढ़ोतरी हुई है. हालांकि मंगलवार को भी जयपुर से जाने वाली फ्लाइट्स में यात्रियों की संख्या बहुत अच्छी नहीं रही, लेकिन यह अपेक्षाकृत रूप से कल से ज्यादा रही. जयपुर एयरपोर्ट से 9 फ्लाइट का संचालन रद्द रहा. हवाई सेवाओं पर 2 माह के लंबे लॉक डाउन के बाद एविएशन इंडस्ट्री एक बार फिर रफ्तार पकड़ रही है. धीरे-धीरे एयरलाइंस फ्लाइट की संख्या में बढ़ोतरी कर रही हैं. जयपुर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से 11 फ्लाइट्स का संचालन किया गया. जयपुर से जाने वाली फ्लाइट्स में आज कल की अपेक्षा यात्री भार थोड़ा ज्यादा देखा गया. मंगलवार को इंडिगो एयरलाइन ने अपनी फ्लाइट की संख्या में बढ़ोतरी की.

इंडिगो ने किया जयपुर से चार फ्लाइट का संचालन:
सोमवार को जहां एयरलाइन ने मात्र एक फ्लाइट संचालित की थी, आज इंडिगो ने जयपुर से चार फ्लाइट का संचालन किया. हालांकि आज भी महाराष्ट्र के मुंबई के लिए एक भी फ्लाइट संचालित नहीं की गई. वहीं पश्चिम बंगाल के कोलकाता के लिए भी फ्लाइट का संचालन निरस्त रहा. हालांकि महाराष्ट्र के पुणे के लिए दो फ्लाइट संचालित की गई. स्पाइसजेट और एयर एशिया एयरलाइन ने पुणे के लिए जाने व आने की फ्लाइट संचालित की. मंगलवार सुबह सबसे पहली फ्लाइट इंडिगो एयरलाइन की बेंगलुरु के लिए संचालित हुई, जिसमें 180 सीटर विमान में मात्र 25 यात्रियों ने यात्रा की. स्पाइसजेट एयरलाइन की अमृतसर जाने वाली फ्लाइट में 80 यात्रियों की सीट पर मात्र 6 यात्री मौजूद रहे.

नौतपा में भट्टी सा तपा शेखावाटी, 50 डिग्री पहुंचा चूरू का तापमान  

ये 9 फ्लाइट रहीं रद्द
- स्पाइसजेट की सुबह 5:45 बजे सूरत जाने वाली फ्लाइट SG-2763 हुई रद्द
- स्पाइसजेट की सुबह 7:20 बजे जालंधर जाने वाली फ्लाइट SG-2750 हुई रद्द
- इंडिगो की सुबह 6:40 बजे मुंबई जाने वाली फ्लाइट 6E-218 नहीं हुई संचालित
- एयर इंडिया की सुबह 7:35 बजे आगरा जाने वाली फ्लाइट 9I-687 हुई रद्द
- इंडिगो की शाम 4:45 बजे कोलकाता जाने वाली फ्लाइट 6E-6156 हुई रद्द
- स्पाइसजेट की सुबह 8 बजे मुंबई जाने वाली फ्लाइट SG-279 हुई रद्द
- स्पाइसजेट की सुबह 9:45 बजे उदयपुर जाने वाली फ्लाइट SG-6632 हुई रद्द
- स्पाइसजेट की दोपहर 2:15 बजे गुवाहाटी जाने वाली फ्लाइट SG-448 हुई रद्द
- एयर एशिया की शाम 5:15 बजे पुणे जाने वाली फ्लाइट I5-1427 आज शेड्यूल में रद्द थी

मुंबई से आये परिवार के 3 लोग पाए गए पॉजिटिव, गांव में मची खलबली, दुकानें हुई बंद 

यात्रियों की संख्या एयरपोर्ट पर एक साथ बढ़ गई:
मंगलवार सुबह जब बेंगलुरु, दिल्ली, अमृतसर और हैदराबाद की फ्लाइट का समय एक साथ था, तब यात्रियों की संख्या एयरपोर्ट पर एक साथ बढ़ गई. इस दौरान डिपार्चर गेट पर यात्रियों की कतार डिपार्चर गेट से लेकर अराइवल गेट तक पहुंच गई. करीब 100 मीटर लंबी कतार में सोशल डिस्टेंसिंग की पालना नहीं हो सकी. दरअसल चिकित्सा विभाग की टीमों के मेडिकल स्क्रीनिंग करने के दौरान अधिक समय लग रहा है, जिसके चलते यात्रियों की कतार लग रही है. इसके लिए जरूरी है कि एयरपोर्ट प्रशासन चिकित्सा विभाग के अधिकारियों के साथ बातचीत कर मेडिकल स्क्रीनिंग के काउंटर्स की संख्या में बढ़ोतरी करे। साथ ही डिपार्चर गेट भी एक से बढ़ाकर 2 किए जाएं. अन्यथा आने वाले दिनों में जब यात्रीभार और बढ़ेगा, तब यात्रियों और एयरपोर्ट प्रशासन के लिए परेशानी और बढ़ सकती है.

...फर्स्ट इंडिया के लिए काशीराम चौधरी की रिपोर्ट

जयपुर एयरपोर्ट से शुरू हुआ फ्लाइट संचालन, पहले दिन रद्द हुई ज्यादा फ्लाइट, संचालन हुआ कम, 20 में से 13 फ्लाइट्स रद्द

जयपुर: देश में सोमवार से घरेलू फ्लाइट्स का संचालन शुरू हो गया है. जयपुर एयरपोर्ट से भी घरेलू फ्लाइट्स का आवागमन शुरू हुआ. हालांकि पहला दिन एयरलाइंस और यात्रियों के लिहाज से अच्छा नहीं रहा. जयपुर एयरपोर्ट से सोमवार को एक दर्जन से ज्यादा फ्लाइट रद्द रही, हालांकि उम्मीद जताई जा रही है कि आगामी दिनों में फ्लाइट संचालन बेहतर हो सकेगा. केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने 5 दिन पूर्व जब फ्लाइट संचालन 25 मई से शुरू करने की बात कही थी, तो उम्मीद जताई जा रही थी कि फ्लाइट्स का आवागमन अच्छे से रफ्तार पकड़ेगा. लेकिन पहले दिन हवाई यात्रियों को निराशा झेलनी पड़ी. जयपुर एयरपोर्ट प्रशासन को 20 फ्लाइट संचालित करनी थी, जिनमें से 13 फ्लाइट रद्द रही.

सबसे ज्यादा 6 फ्लाइट स्पाइसजेट की हुई रद्द:
यात्रीभार कम रहने से एयरलाइंस के लिए भी फ्लाइट संचालित करना मुश्किल था. सोमवार  सुबह पहली फ्लाइट सुबह 5:45 बजे स्पाइसजेट द्वारा संचालित की जानी थी. यह फ्लाइट जयपुर से सूरत के लिए रवाना होनी थी. लेकिन एयरलाइन ने संचालन कारणों के चलते फ्लाइट को रद्द कर दिया. स्पाइस जेट ने सुबह 7:20 पर जालंधर जाने वाली दूसरी फ्लाइट को भी रद्द कर दिया. इसके बाद सुबह 8:45 बजे पहली फ्लाइट बेंगलुरु से एयर एशिया एयरलाइन की जयपुर पहुंची. इस फ्लाइट से 145 यात्री जयपुर पहुंचे. वापसी में सुबह 9:15 बजे यही फ्लाइट बेंगलुरु के लिए रवाना हुई.

सीकर में कोरोना विस्फोट, 30 नए केस आये सामने, जिला प्रशासन ने लोगों से की अपील, जरूरी हो तब ही घरों से निकले बाहर

जयपुर से फ्लाइट में मात्र 23 यात्री हुए रवाना:
जयपुर से इस फ्लाइट में मात्र 23 यात्री रवाना हुए. इसके बाद दूसरी फ्लाइट एयर इंडिया की दिल्ली से जयपुर आई. इस फ्लाइट में मात्र 2 यात्री जयपुर आए. जबकि इस विमान की क्षमता 72 यात्रियों की है. वापसी में जयपुर से दिल्ली के लिए कुल 12 यात्री रवाना हुए. यानी फ्लाइट्स में बहुत ज्यादा यात्री भार नहीं रहा और इसी वजह से बड़ी संख्या में फ्लाइट्स रद्द की गई. फ्लाइट रद्दीकरण के पीछे महाराष्ट्र और पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा विरोध को भी कारण माना गया.

ये फ्लाइट रहीं रद्द
- स्पाइसजेट की सुबह 5:45 बजे सूरत जाने वाली फ्लाइट SG-2763 हुई रद्द
- स्पाइसजेट की सुबह 7:20 बजे जालंधर जाने वाली फ्लाइट SG-2750 हुई रद्द
- इंडिगो की सुबह 6:40 बजे मुंबई जाने वाली फ्लाइट 6E-218 नहीं हुई संचालित
- इंडिगो की सुबह 5:50 बजे बेंगलुरु जाने वाली फ्लाइट 6E-839 नहीं हुई संचालित
- एयर इंडिया की सुबह 7:35 बजे आगरा जाने वाली फ्लाइट 9I-687 हुई रद्द
- इंडिगो की शाम 4:45 बजे कोलकाता जाने वाली फ्लाइट 6E-6156 हुई रद्द
- इंडिगो की दोपहर 12:30 बजे दिल्ली जाने वाली फ्लाइट 6E-203 हुई रद्द
- इंडिगो की शाम 8:05 बजे हैदराबाद जाने वाली फ्लाइट 6E-471 हुई रद्द
- स्पाइसजेट की सुबह 8 बजे मुंबई जाने वाली फ्लाइट SG-279 हुई रद्द
- स्पाइसजेट की सुबह 9:45 बजे उदयपुर जाने वाली फ्लाइट SG-6632 हुई रद्द
- स्पाइसजेट की दोपहर 2:15 बजे गुवाहाटी जाने वाली फ्लाइट SG-448 हुई रद्द
- स्पाइसजेट की दोपहर 3:30 बजे पुणे जाने वाली फ्लाइट SG-6636 हुई रद्द
- एयर एशिया की शाम 5:15 बजे पुणे जाने वाली फ्लाइट I5-1427 हुई रद्द

राजसमंद ACB की बड़ी कार्रवाई, सेंट्रल GST विभाग का अधीक्षक ट्रैप, 15 हजार की रिश्वत लेते किया ट्रैप 

यात्रियों के लिए नया अनुभव साबित:
2 महीने के लॉक डाउन के बाद जब सोमवार को फ्लाइट संचालन फिर से शुरू हुआ तो यात्रियों के लिए नया अनुभव साबित हुआ. फ्लाइट में बोर्डिंग के लिए जाने वाले यात्रियों को डिपार्चर एरिया में कई नए नियमों को फॉलो करना पड़ा. यात्रियों की मेडिकल स्क्रीनिंग और सुरक्षा जांच के दौरान टचलेस सिस्टम को अपनाया गया. वहीं अराइवल के दौरान भी प्रत्येक यात्री से डिक्लेरेशन फॉर्म भरवाया गया. इसके आधार पर यात्रियों को 14 दिन होम क्वॉरेंटाइन में रहने के निर्देश दिए गए. कुल मिलाकर पहला दिन हवाई यात्रा के लिहाज से बहुत अच्छा साबित नहीं हुआ. लेकिन उम्मीद की जा रही है कि आगामी दिनों में ना केवल यात्रियों की संख्या में बढ़ोतरी होगी, साथ ही फ्लाइट्स का संचालन भी गति पकड़ेगा.
...फर्स्ट इंडिया के लिए काशीराम चौधरी की रिपोर्ट

जयपुर एयरपोर्ट पर शुरू हुआ फ्लाइट संचालन, बेंगलुरु से जयपुर की फ्लाइट में आए 145 यात्री

जयपुर एयरपोर्ट पर शुरू हुआ फ्लाइट संचालन, बेंगलुरु से जयपुर की फ्लाइट में आए 145 यात्री

जयपुर: जयपुर एयरपोर्ट पर सोमवार से घरेलू फ्लाइट्स का संचालन शुरू हो गया है. सोमवार सुबह पहली फ्लाइट एयर एशिया एयरलाइन की जयपुर पहुंची. यह फ्लाइट संख्या I5-1720 बेंगलुरु से सुबह 8:45 बजे जयपुर पहुंची.

नए बदलावों का करना पड़ेगा सामना:
फ्लाइट में बेंगलुरु से 145 यात्री जयपुर आए. वहीं जयपुर से 23 यात्री इसी फ्लाइट से बेंगलुरु के लिए रवाना हुए. अब एयरपोर्ट पर आगमन के दौरान यात्रियों को कई नए बदलावों का सामना करना पड़ेगा. 

अब गाजियाबाद ने भी सील की दिल्ली बॉर्डर, सिर्फ इमरजेंसी सेवा और पास वालों को एंट्री

14 दिन का होम क्वॉरेंटाइन:
आगमन के समय यात्रियों का बॉडी टेंपरेचर लेने के साथ ही उनसे आवागमन व निवास की डिटेल ली जा रही है. साथ ही सभी यात्रियों को 14 दिन के लिए होम क्वॉरेंटाइन किया जा रहा है. 

सीकर में कोरोना विस्फोट, 30 नए केस आये सामने, जिला प्रशासन ने लोगों से की अपील, जरूरी हो तब ही घरों से निकले बाहर

घट गई एयर कनेक्टिविटी! अब मात्र 13 शहरों के लिए चलेंगी जयपुर से फ्लाइट, अहमदाबाद और चेन्नई के लिए कोई फ्लाइट नहीं

जयपुर: सोमवार से देश में हवाई अड्डों पर घरेलू फ्लाइट्स का संचालन शुरू हो जाएगा. जयपुर हवाई अड्डे से कुल 21 फ्लाइट संचालित होंगी. हालांकि यह जरूर होगा कि कई प्रमुख शहरों के लिए जयपुर से अब सीधी फ्लाइट नहीं मिलेंगी. फ्लाइट्स की संख्या में कमी के चलते यात्रियों को परेशानी झेलनी होगी. कौन-कौन से शहरों के लिए नहीं मिलेगी सीधी फ्लाइट, चलिए जानते है. देश में हवाई सेवाओं का संचालन फिर से शुरू होना यात्रियों के लिए राहत भरी खबर है. अब फिर से एक से दूसरे शहर तक पहुंचना सुगम हो जाएगा. हालांकि कोरोना के संक्रमण को देखते हुए केंद्र सरकार ने यात्रियों से जरूरी होने पर ही यात्रा करने की अपील की है.

जयपुर से चार एयरलाइंस की कुल 21 फ्लाइट होंगी संचालित:
सोमवार से जयपुर एयरपोर्ट से घरेलू फ्लाइट उड़ान भरने लगेंगी. जयपुर से चार एयरलाइंस की कुल 21 फ्लाइट संचालित होंगी. गौरतलब है कि लॉक डाउन से पहले जयपुर एयरपोर्ट से 63 फ्लाइट संचालित हो रही थी, जिनमें 7 इंटरनेशनल और 56 घरेलू फ्लाइट थी. जबकि अब केवल 21 फ्लाइट ही शुरू होंगी. नए शेड्यूल में समस्या यह है कि कई शहरों के लिए अब सीधी फ्लाइट नहीं मिल सकेंगी. जयपुर से अहमदाबाद, चेन्नई, जैसलमेर, देहरादून, भोपाल, लखनऊ आदि प्रमुख शहरों के लिए कोई फ्लाइट नहीं मिलेगी. इन शहरों के लिए अब यात्रियों को दिल्ली में फ्लाइट बदलने की जरूरत होगी.

भाई ने किया रिश्तों को शर्मसार, दोस्तों के साथ मिलकर नाबालिग बहन का रेप कर उतारा मौत के घाट 

एयरलाइन्स नहीं बना सकी यात्रियों की जरूरत के मुताबिक शेड्यूल
- जयपुर से अहमदाबाद के लिए रोजाना अच्छा हवाई यात्री भार रहता है
- लॉक डाउन से पहले जयपुर से अहमदाबाद के लिए रोज 4 फ्लाइट चल रही थी
- 1 इंडिगो, 1 गो एयर और 2 फ्लाइट स्पाइसजेट की हो रही थी संचालित
- लेकिन अब एक भी एयरलाइन ने अहमदाबाद के लिए नहीं दिया शेड्यूल
- भोपाल के लिए लॉक डाउन से पहले स्पाइसजेट और एयर इंडिया की 2 फ्लाइट चल रही थी
- लेकिन अब एक भी फ्लाइट नहीं चलेगी भोपाल के लिए
- चेन्नई के लिए जयपुर से कोई भी सीधी फ्लाइट नहीं मिलेगी
- इन शहरों को जाने के लिए पहले दिल्ली की फ्लाइट लेनी होगी
- इसके बाद दिल्ली से कनेक्टिंग फ्लाइट से यात्री दूसरे शहर तक पहुंच सकेंगे

कितनी कम हुई फ्लाइट्स
- मुंबई के लिए पहले रोज 9 फ्लाइट चल रही थी, अब मात्र 2 फ्लाइट मिलेंगी
- बेंगलुरु के लिए पहले रोज 6 फ्लाइट थी, अब मात्र 3 फ्लाइट मिलेंगी
- हैदराबाद के लिए पहले 6 फ्लाइट थी, अब मात्र 2 फ्लाइट मिलेंगी
- कोलकाता के लिए पहले 4 फ्लाइट थी, अब मात्र 1 फ्लाइट मिलेगी
- पुणे के लिए पहले तीन फ्लाइट थी, अब दो फ्लाइट मिलेंगी
- दिल्ली के लिए पहले 7 फ्लाइट थी, अब 4 फ्लाइट मिलेंगी

समर शेड्यूल में कई नए शहरों के लिए होनी थी फ्लाइट शुरू:
नए शेड्यूल में उन शहरों के लिए भी फ्लाइट संचालित नहीं होंगी, जिनके लिए एयरलाइंस ने समर शेड्यूल में प्रस्ताव दिए थे. दरअसल 31 मार्च से शुरू होने वाले समर शेड्यूल में कई नए शहरों के लिए फ्लाइट शुरू होनी थी. चंडीगढ़ और इंदौर के लिए इंडिगो को फ्लाइट शुरू करनी थी. इंडिगो एयरलाइन श्रीनगर और गोवा के लिए भी फ्लाइट शुरू करने के लिए शेड्यूल दे चुकी थी. लेकिन इन शहरों के लिए फिलहाल फ्लाइट शुरू नहीं होगी. कुल मिलाकर कोरोना महामारी ने एविएशन सेक्टर को करीब 1 साल पीछे धकेल दिया है. लॉक डाउन से पहले की गति पकड़ने के लिए एयरलाइंस को करीब 1 साल तक का समय लग सकता है.

...फर्स्ट इंडिया के लिए काशीराम चौधरी की रिपोर्ट

दाती महाराज ने उड़ाईं लॉकडाउन की धज्जियां, दिल्ली पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच की शुरू 

3 माह और जारी रहेगी ईएमआई न भरने की मोहलत, आरबीआई ने कोरोना संकट के बीच लिया फैसला

3 माह और जारी रहेगी ईएमआई न भरने की मोहलत, आरबीआई ने कोरोना संकट के बीच लिया फैसला

नई दिल्ली: कोरोना संकट के बीच आरबीआई ने लोन की किस्‍त देने पर 3 माह की अतिरिक्‍त छूट दी गई है. मतलब कि अगर आप अगले 3 माह तक अपने लोन की ईएमआई नहीं देते हैं तो बैंक दबाव नहीं डालेगा. आरबीआई ने लॉकडाउन के शुरुआती दिनों में प्रेस कॉन्‍फ्रेंस कर बैंकों से 3 माह के लिए लोन और ईएमआई पर छूट देने को कहा था.

23 मई से शुरू होगा रोडवेज बसों का संचालन, राजस्थान के 55 रूटों पर चलाई जाएगी बस

कुल 6 माह की मिली छूट:
इसके बाद अधिकतर बैंकों ने इसे 3 माह के लिए लागू कर दिया था. अब आरबीआई के नए 3 माह के लिए मोहलत के ऐलान के बाद ग्राहकों को कुल 6 माह की छूट मिल जाएगी. मतलब यह कि आप कुल 6 माह तक लोन की ईएमआई नहीं देना चाहते हैं तो बैंकों की ओर से कोई दबाव नहीं पड़ेगा. वहीं, आपका क्रेडिट स्‍कोर भी दुरुस्‍त रहेगा. यानी बैंक की नजर में आप डिफॉल्‍टर नहीं होंगे. हालांकि, इसके लिए आपको अतिरिक्‍त ब्‍याज देनी पड़ेगी.

रेपो रेट में 0.40 प्रतिशत की कटौती:
आरबीआई गवर्नर ने बताया कि पिछले 3 दिन में एमपीसी ने घरेलू और ग्लोबल माहौल की समीक्षा की. इसके बाद रेपो रेट में 0.40 प्रतिशत की कटौती का फैसला लिया गया है. लॉकडाउन में यह दूसरी बार है जब आरबीआई ने रेपो रेट पर कैंची चलाई है. इससे पहले 27 मार्च को आरबीआई गवर्नर ने 0.75 फीसदी कटौती का ऐलान किया था. इसके बार बैंकों ने लोन पर ब्‍याज दर कम कर दिया था. जाहिर सी बात है कि इससे आपकी ईएमआई भी पहले के मुकाबले कम हो गई है.

25 मई से शुरू होंगी घरेलू फ्लाइट्स, जयपुर से 1 घंटे में अधिकतम 2 फ्लाइट ही होंगी संचालित

RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने रेपो रेट कटौती का किया ऐलान, सस्‍ते होंगे लोन

RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने रेपो रेट कटौती का किया ऐलान, सस्‍ते होंगे लोन

नई दिल्लीः रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के गवर्नर शक्तिदांस दास ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस की. इसमें उन्होंने रेपो रेट में 0.4 फीसदी की कटौती करने का ऐलान किया. ऐसे में अब रेपो रेट घटकर 4 फीसदी पर आ गया है जो कि पहले 4.4 फीसदी था. हालांकि रिवर्स रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं किया गया है और इसे 3.35 फीसदी पर बरकरार रखा गया है. मॉनिटरी पॉलिसी कमेटी के 6 में से 5 सदस्यों ने रेपो रेट घटाने के पक्ष में वोट दिया. कमेटी की बैठक 3 जून से होनी थी, लेकिन पहले ही कर ली गई. 

Rajasthan Corona Updates: पिछले 12 घंटे में 54 नए पॉजिटिव मामले आए सामने, मरीजों को ग्राफ पहुंचा 6281 

बैंकों को आरबीआई से कम ब्याज पर कर्ज मिल सकेंगे:
आरबीआई गवर्नर ने कहा कि रेपो रेट घटाने से बैंकों को आरबीआई से कम ब्याज पर कर्ज मिल सकेंगे और इसका फायदा बैंक अपने ग्राहकों को देंगे जिसके बाद ग्राहकों की ईएमआई कम हो सकती है. कोरोना संकटकाल से अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचा है लेकिन संयुक्त प्रयासों से इस स्थिति से देश उबर सकता है. हालांकि वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान देश की जीडीपी ग्रोथ निगेटिव रहेगी. आने वाले समय में देश में महंगाई को कम बनाए रखना एक चुनौती होगी.

विदेश से वतन लौटने वालों की आज आएगी पहली फ्लाइट, एयरपोर्ट के पास 10 होटल में क्वॉरंटीन के लिए 810 कमरे बुक 

पिछले दो महीनों में तीसरी प्रेस कॉन्फ्रेंस:
आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने कोरोनावायरस संबंधी उपायों से निपटने के लिए पिछले दो महीनों में यह तीसरी प्रेस कॉन्फ्रेंस की है. आरबीआई गवर्नर ने पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस 27 मार्च और दूसरी प्रेस कॉन्फ्रेंस 17 अप्रैल को की थी. इन दोनों प्रेस कॉन्फ्रेंस में गवर्नर ने अर्थव्यवस्था में तेजी लाने और बैंकिंग सिस्टम में लिक्विडिटी बढ़ाने के लिए कई उपायों की घोषणा की थी. 

Open Covid-19