बंगाल सरकार ने यौन उत्पीड़न की शिकायत के बाद दो डॉक्टरों का किया तबादला

बंगाल सरकार ने यौन उत्पीड़न की शिकायत के बाद दो डॉक्टरों का किया तबादला

बंगाल सरकार ने यौन उत्पीड़न की शिकायत के बाद दो डॉक्टरों का किया तबादला

कोलकाता: पश्चिम बंगाल सरकार ने यहां सरकारी एसएसकेएम (SSKM) अस्पताल के दो डॉक्टरों का तबादला कर दिया है. पोस्ट डॉक्टरेट डिग्री की एक छात्रा ने पुलिस में इन डॉक्टरों के खिलाफ यौन उत्पीड़न की शिकायत दर्ज करायी थी. जिसके बाद डाक्टरों का तबादला किया गया..

राज्य के स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी एक आदेश में कहा गया है कि एक सहायक प्रोफेसर और एसएसकेएम अस्पताल की गहन चिकित्सा ईकाई के प्रमुख का तबादला कर दिया गया है. गहन चिकित्सा ईकाई के प्रमुख पर सहायक प्रोफेसर को कथित तौर पर शह देने का आरोप है.

2020 से डॉक्टर कर रहा था उत्पीड़न:
पुलिस ने बताया कि महिला ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया कि सहायक प्रोफेसर ने फरवरी 2020 से उत्पीड़न शुरू किया जब छात्रा उनके साथ थी और विभाग के प्रमुख एक मेडिकल सम्मेलन में भाग लेने के लिए हैदराबाद गए हुए थे. हालात खराब होने पर महिला छात्रा ने एसएसकेएम अस्पताल के प्राधिकारियों को इसकी शिकायत की. 

अस्पताल परिसर में हंगामे के बाद किया तबादला:
अस्पताल के एक वरिष्ठ डॉक्टर ने गोपनीयता की शर्त पर बताया कि इस साल मार्च में गठित विशाखा समिति ने दोनों को इस कृत्य के लिए दोषी ठहराया और पीड़िता को लिखित में भी यह दिया लेकिन दोनों के खिलाफ कोई कदम नहीं उठाया गया. अस्पताल परिसर में बृहस्पतिवार को भारी हंगामे के बाद राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने दोनों के लिए तबादले के आदेश जारी कर दिए. विभाग प्रमुख का कलकत्ता मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में तबादला किया गया है जबकि आरोपी सहायक प्रोफेसर का एनआरएस मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में तबादला किया गया है. सोर्स भाषा 
 

और पढ़ें