वाशिंगटन चीन पर निर्भरता से बचने के लिए बाइडेन प्रशासन ने चिप्स में 50 अरब डॉलर के निवेश की योजना की घोषणा की

चीन पर निर्भरता से बचने के लिए बाइडेन प्रशासन ने चिप्स में 50 अरब डॉलर के निवेश की योजना की घोषणा की

चीन पर निर्भरता से बचने के लिए बाइडेन प्रशासन ने चिप्स में 50 अरब डॉलर के निवेश की योजना की घोषणा की

वाशिंगटन: अमेरिका के बाइडन प्रशासन ने घोषणा की है कि चीन पर निर्भरता कम करने और घरेलू सेमीकंडक्टर उद्योग स्थापित करने के लिए वह 50 अरब डॉलर का निवेश करेगा. अमेरिका में सेमीकंडक्टर का उत्पादन नहीं होता है जबकि उसके यहां इनकी खपत 25 फीसदी है.

राष्ट्रपति जो बाइडन ने पिछले महीने 280 अरब डॉलर के चिप विधेयक पर हस्ताक्षर किए थे. दरअसल बाइडन प्रशासन सेमीकंडक्टर विनिर्माण के क्षेत्र में चीन को टक्कर देने के साथ-साथ घरेलू स्तर पर इनके उच्च प्रौद्योगिकी के विनिर्माण को बढ़ावा देना चाहता है.
अमेरिका की वाणिज्य मंत्री जीना रेईमोंडो ने मंगलवार को व्हाइट हाउस में संवाददाताओं से कहा कि वाणिज्य विभाग की योजना चिप क्षेत्र में 50 अरब डॉलर का निवेश करने की है.

भविष्य में प्रतिस्पर्धी के तौर पर स्थापित हो सकें:
उन्होंने कहा कि बीते वर्ष हमने चिप की कमी का असर देखा जिसकी वजह से मुद्रास्फीति बढ़ी. सेमीकंडक्टर की कमी की वजह से कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ा. हमारी अर्थव्यवस्था और सेना की प्रौद्योगिकी पर निर्भरता बढ़ गई है इसलिए यह और आवश्यक हो गया है कि हम ऐसी रणनीति विकसित करें जो इस तरह की अर्थव्यवस्था और विनिर्माण अवसंरचना की योजना बनाने में मदद दे जिसके बूते हम आज और भविष्य में प्रतिस्पर्धी के तौर पर स्थापित हो सकें.

प्रशासन के इस निर्णय से रोजगारों का भी सृजन होगा:
अमेरिकी प्रशासन के इस निर्णय के तहत अमेरिका में अत्याधुनिक सेमीकंडक्टर विनिर्माण उद्योग को घरेलू स्तर पर स्थापित करने और इसका विस्तार करने के उद्देश्य से 50 अरब डॉलर का निवेश किया जाएगा. रेईमोंडो ने कहा कि आज अमेरिका में दुनिया की अत्याधुनिक चिप की खपत 25 फीसदी से अधिक है जबकि उत्पादन शून्य. उन्होंने कहा कि बाइडन प्रशासन के इस निर्णय से रोजगारों का भी सृजन होगा. सोर्स-भाषा

और पढ़ें