वाशिंगटन कोविड-19 के कारण अमेरिका थक चुका है, लेकिन अब भी बेहतर स्थिति में: बाइडन

कोविड-19 के कारण अमेरिका थक चुका है, लेकिन अब भी बेहतर स्थिति में: बाइडन

कोविड-19 के कारण अमेरिका थक चुका है, लेकिन अब भी बेहतर स्थिति में: बाइडन

वाशिंगटन: अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने इस बात को स्वीकार किया कि कोविड-19 वैश्विक महामारी के कारण अमेरिका के लोग थक चुके हैं और उनका मनोबल भी काफी कम हुआ है. हालांकि, उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि इससे निपटने के लिए उन्होंने काफी बेहतर तरीके से काम किया है. बाइडन ने अमेरिका के राष्ट्रपति पद का कार्यभार संभालने के एक वर्ष पूरे होने के मौके पर बुधवार को एक संवाददाता सम्मेलन में मुद्रास्फीति तथा वैश्चिक महामारी से निपटने का वादा किया और रिपब्लिकन पर नए विचार पेश करने की बजाय उनके प्रस्तावों के खिलाफ विपक्ष को एकजुट करने का आरोप लगाया.

उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि मतदाता जरूर उनके कार्यकाल और उनकी संकटग्रस्त पार्टी की स्थिति को समझेंगे. उन्होंने लोगों से धैर्य रखने की अपील की. बाइडन ने यूक्रेन की सीमा पर रूस के 1,00,000 से अधिक सैनिकों को तैनाती और उसके घुसपैठ और बढ़ाने के मुद्दे पर भी बात की. राष्ट्रपति ने कहा कि उन्हें लगता है कि रूस और आगे बढ़ सता है, लेकिन उनका मानना है कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन यूक्रेन के साथ पूर्ण युद्ध नहीं चाहते हैं. उन्होंने कहा कि पुतिन के सैन्य घुसपैठ करने पर रूस को इसकी बड़ी कीमत चुकानी होगी.

बाइडन ने कहा कि वह चीन और पश्चिम के बीच की दुनिया में अपनी जगह बनाने की कोशिश कर रहे हैं.उन्होंने कहा कि यूक्रेन में पूरी तरह घुसपैठ करने की तुलना में मामूली घुसपैठ के परिणाम भी सामान्य होंगे.उनके इस बयान की कुछ लोगों ने निंदा भी की. रिपब्लिकन सीनेटर बेन सैस ने कहा कि राष्ट्रपति बाइडन ने एक मामूली घुसपैठ संबंधी कथित बयान देकर एक तरह से पुतिन को यूक्रेन में घुसपैठ के लिए हरी झंडी दिखा दी है.

व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव जेन साकी ने बाद में एक बयान में स्पष्ट किया कि यह जरूरी नहीं कि यह टैंकों और सैनिकों के बारे में कहा गया हो. साकी ने कहा कि राष्ट्रपति बाइडन अपने लंबे अनुभव से इस बात से अवगत हैं कि रूस के पास साइबर हमले तथा अर्धसैनिक रणनीति सहित कई अन्य आक्रामक तरीके हैं.उन्होंने आज पुष्टि की कि रूसी आक्रमण के उन कृत्यों से एक निर्णायक, पारस्परिक और एकजुट ढंग से निपटा जाएगा.

व्हाइट हाउस के पूर्वी कक्ष में बाइडन ने लगभग एक घंटे 50 मिनट तक पत्रकारों से बातचीत की. इस दौरान उनकी पत्रकारों के साथ बहस भी हुई और कई बार वह अपनी घड़ी की ओर देखते भी नजर आये, लेकिन फिर भी वह मुस्कुराते हुए सवालों के जवाब देते रहे.बाइडन ने संवाददाता सम्मेलन में मुद्रास्फीति, यूक्रेन को लेकर रूस के इरादे, ईरान के साथ परमाणु वार्ता, मतदान के अधिकार, राजनीतिक विभाजन, 2024 चुनाव में उपराष्ट्रपति कमला हैरिस का स्थान, चीन के साथ व्यापार और सरकार की क्षमता से जुड़े कई सवालों के जवाब दिए.

बाइडन ने दावा किया कि ऐसे देश में जहां कोरोना वायरस से लड़ाई अब भी जारी है, वहां उन्होंने इतना बेहतर प्रदर्शन किया है, जितना किसी ने सोचा भी नहीं था. उन्होंने कहा कि वैश्विक महामारी के कारण लगभग दो वर्ष के शारीरिक, भावनात्मक और मनोवैज्ञानिक प्रभाव के बाद.हम में से कई लोगों ने बहुत कुछ सहन किया है. राष्ट्रपति ने कहा कि कुछ लोग मौजूदा स्थिति को नया सामान्य जीवन बता सकते हैं. मैं कहूंगा कि काम अभी पूरा नहीं हुआ है. स्थिति और बेहतर होगी. (एजेंसी)

और पढ़ें