जयपुर पश्चिमी राजस्थान से निकली बड़ी सियासी खबर, मंत्री हरीश चौधरी व वरिष्ठ MLA हेमाराम ने साथ-साथ किया गुढ़ामालानी विधानसभा क्षेत्र दौरा

पश्चिमी राजस्थान से निकली बड़ी सियासी खबर, मंत्री हरीश चौधरी व वरिष्ठ MLA हेमाराम ने साथ-साथ किया गुढ़ामालानी विधानसभा क्षेत्र दौरा

पश्चिमी राजस्थान से निकली बड़ी सियासी खबर, मंत्री हरीश चौधरी व वरिष्ठ MLA हेमाराम ने साथ-साथ किया गुढ़ामालानी विधानसभा क्षेत्र दौरा

जयपुर: पश्चिमी राजस्थान (Western Rajasthan) से इस समय की सबसे बड़ी सियासी खबर निकलकर सामने आई है. राजस्व मंत्री हरीश चौधरी (Revenue Minister Harish Chaudhary) व वरिष्ठ कांग्रेसी विधायक हेमाराम चौधरी (MLA Hemaram Chaudhary) ने शनिवार को साथ-साथ गुढ़ामालानी विधानसभा क्षेत्र (Gudhamalani assembly constituency) का दौरा किया है. हेमाराम चौधरी के इस्तीफे के बाद दोनों ही नेता एक साथ आज पहली बार क्षेत्र के दौरे पर निकले. दोनों को स्थानीय कांग्रेस (Congress) राजनीति में एक दूसरे का विरोधी माना जाता है. यह अलग बात है को दोनों सार्वजनिक तौर पर एक दूसरे की बुराई नहीं करते. बल्कि एक दूसरे को सम्मान देते हैं. 

यह भी सच है कि हरीश चौधरी मंत्री नहीं बलते तो हेमाराम ही मंत्री होते. हरीश चौधरी आज मालानी की राजनीति के उभरते सितारे हैं. वहीं हेमाराम चौधरी मालानी की राजनीति के पितामह ! मंत्री हरीश ने आज गुढ़ामालानी कोविड सेंटर का जायजा लिया, इस दौरान पूरे समय हेमाराम चौधरी उनके साथ साथ रहे. दोनों ही नेताओं ने गुढ़ामालानी विधानसभा क्षेत्र के धोरीमना, गुढ़ामालानी में कोविड केयर सेंटर में व्यवस्थाओं का जायजा लिया साथ ही साथ कोविड सेंटर में भर्ती मरीजों की स्वास्थ्य जानकारी ली. 

हेमाराम चौधरी व हरीश चौधरी की दूरियों के जिक्र का पटाक्षेप हुआ:
दोनों ही नेताओं ने चिकित्सा अधिकारियों के साथ भी क्षेत्र में कोरोना सहित अन्य बीमारियों को लेकर विस्तृत रूप से चर्चा करते हुए संसाधनों एवं आइएलआई सर्वे को लेकर भी दिशा निर्देश दिए. ऐसे में मीडिया रिपोर्ट्स में हेमाराम चौधरी व हरीश चौधरी की दूरियों के जिक्र का पटाक्षेप हुआ है. हालांकि दोनों ही नेताओं ने कभी यह नहीं कहा था कि उनमें कोई दूरी है. लेकिन आज दोनों नेताओं के एक साथ दौरे से कई सवालों पर विराम लग जाएगा. 

और पढ़ें