Live News »

अवैध अतिक्रमण पर बीकानेर नगर निगम की कार्रवाई

अवैध अतिक्रमण पर बीकानेर नगर निगम की कार्रवाई

बीकानेर। जिले की पुरानी गिन्नानी क्षेत्र में बुधवार को अवैध अतिक्रमण पर नगर निगम का पीला पंजा चला। नगर निगम ने अल सुबह से पुरानी गिन्नानी में स्थित नालों पर हो रखे अवैध कब्जों को हटाने की कार्रवाई हो रही है। पुरानी गिन्नानी क्षेत्र में नालों के ऊपर किए गए अवैध अतिक्रमण को निगम दस्ते द्वारा तोड़ा जा रहा है। निगम द्वारा गठित दो अतिक्रमण निरोधक दलों ने कार्रवाई कर रही है। गिन्नानी स्थित तीन बड़े नालों पर चिन्हित 89 अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की जा रही है। मौके पर पुलिस जवान और निगम अधिकारी भी मौजूद है।  

गौरतबल है कि पिछले दिनों शहर में हुई भारी बारिश के बाद गिन्नानी में पानी जमा हो गया, क्योंकि नालों की अच्छी तरह से सफाई नहीं हुई । जलभराव की स्थिति होने के बाद निगम प्रशासन हरकत में आया है और नालों के ऊपर हो रखे अवैध अतिक्रमण को तोड़ा जा रहा है।

और पढ़ें

Most Related Stories

कोरोना काल के सच्चे पब्लिक सर्वेंट, चार युवा IAS अधिकारियों ने जरूरतमंदों की मदद कर छोड़ी छाप

कोरोना काल के सच्चे पब्लिक सर्वेंट, चार युवा IAS अधिकारियों ने जरूरतमंदों की मदद कर छोड़ी छाप

बीकानेर: जिले में अब तक बहुत हद तक कोराना कन्ट्रोल में रहा. प्रवासियों के लौटने से पहले एक बारगी तो बीकानेर जिला कोरोना फ्री भी हो गया था. निश्चित तौर पर डाक्टर्स और पैरामैडिकल स्टाफ के साथ साथ प्रशासन की भी अहम भूमिका रही. कलक्टर-एसपी के अलावा बीकानेर में चार युवा IAS ऑफिसर्स के काम ने खूब ध्यान खींचा है. खास तौर पर मीडिया की चमक से दमक से दूर रहकर वे साइलेंट परफॉर्मर रहे. 

बीकानेर में युवा चार आइएएस अधिकारियों ने फील्ड में जबरदस्त मेहनत की:
राज्य में लॉकडॉउन के साथ ही पुलिस और प्रशासन के लिए चुनौती शुरू हो गई थी. एक तरफ कोरोना संक्रमण को रोकने की चुनौती तो दूसरी तरफ सूबे के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के निर्देश थे कि कोई जरूरत मंद भूखा नहीं रहे. करीब 50 हजार प्रवासियों के लौटने के बाद चुनौतिया भी बढ़ी है. ऐसे में बीकानेर में युवा चार आइएएस अधिकारियों ने वाकई फील्ड में जबरदस्त मेहनत की.  

पुलिसकर्मी तक इस युवा आइएएस अधिकारियों के मुरीद दिखे:
युवा महिला IAS ऑफिसर रिया केजरीवाल फूड पैकेट्स बटवाने से लेकर मजदूरों को घर भिजवाने को लेकर जो काम किया कि पुलिसकर्मी तक इस युवा महिला IAS के मुरीद दिखे. वहीं माध्यमिक शिक्षा निदेशक सौरभ स्वामी जिनको प्रवासी मजदूरों को लाने ले जाने की व्यवस्था का नोडल अधिकारी बनाया था देर रात तक ट्रेन जाने से घण्टो पहले और जाने के बाद भी व्यवस्था में जुटे दिखाई दिए. निगम आयुक्त आइएएस खुशाल यादव भी खासे सक्रिय नजर आए तो ट्रेनी IAS अभिषेक सुराणा भी पीछे नही दिखे. आइए जानते है बीकानेर के इस युवा IAS ब्रिगेड का संक्षिप्त परिचय...

रिया केजरीवाल-


झारखंड मूल की 2017 बैच की ये 28 वर्षीय युवा महिला IAS रिया केजरीवाल के कोरोना काल मे काम की खूब सराहना हुई उन्होंने पार्टी पॉलिटिक्स से ऊपर उठकर गरीब और जरूरतमंद के लिए बेहतरीन काम किया. एक बड़े कांग्रेसी नेता थोड़े नाखुश भी हुए लेकिन मजदूर, आमलोग और यहां तक पुलिसकर्मी भी रिया केजरीवाल की संवेदनशीलता की तारीफ करते नहीं थकते है. कर्फ़्यू से लेकर मजदूरों को घर भेजने की प्रकिया में रिया केजरीवाल ने फील्ड में जमकर पसीना बहाया. नौकरशाही प्रपंचों से दूर बेहद साइलेंट परफ़ॉर्मर के तौर पर रिया ने खास पहचान बनाई. 

सौरभ स्वामी-


2015 बैच के IAS ऑफिसर, माध्यमिक शिक्षा निदेशक के तौर पर कोराना काल में राज्य के सबसे बड़े मैन पॉवर वाले डिपार्टमेंट को हैंडल करने के साथ हर जरूरी आदेश समय पर निकालने में सफल रहे. फिर चाहे परीक्षाओं की बात हो ऑन लाइन एडुकेशन की. जब मजदूरों को लाने ले जाने वाली ट्रेन्स का नोडल अधिकारी बनाया गया तो भी उतने तन्मयता से काम किया. इनकी पत्नी RJS टॉपर रही है. कार्यालय में देर रात तक समय बिताने के लिए जाने जाते हैं. 

खुशाल यादव- 


2017 बैच के IAS ऑफिसर हरियाणा मूल के यादव ने नगर निगम आयुक्त के तौर सफाई कर्मियों की मॉनिटरिंग से लेकर फ़ूड पैकेट्स वितरण में अच्छा योगदान दिया.  हालांकि रिजर्व नेचर के चलते मीडिया में नकारात्मक खबरे भी दिखी. 

अभिषेक सुराणा-


IAS प्रोबेशनर अभिषेक सुराणा भी तेजतर्रार ऑफिसर माने जाते हैं. जिला कलक्टर की आंख कान भी भी. ग्रामीण क्षेत्रो में भी बेहतर काम किया. 

कुल मिलाकर कहा जा सकता है कि इस महामारी के दौर में इन युवा IAS अधिकारियों ने अपनी परफॉमेंस से ना केवल छाप छोड़ी है अपितु सेवा कर जनता और जरूरतमंदों को दिल भी जीता है. 

...फर्स्ट इंडिया के लिए बीकानेर से संवाददाता लक्ष्मण राघव की रिपोर्ट


 

55 वर्षीय कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति की मौत, सम्पर्क में आये सभी निकले कोरोना संक्रमित, इलाके में लगाया कर्फ्यू

55 वर्षीय कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति की मौत, सम्पर्क में आये सभी निकले कोरोना संक्रमित, इलाके में लगाया कर्फ्यू

बीकानेर: राजस्थान के बीकानेर जिले के सिटी कोतवाली थाना क्षेत्र के सुनारों की गुवाड़ में रहने वाले 55 वर्षीय कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति की मौत के बाद उसके सम्पर्क में आने वाले पांच लोगों की देर रात्रि को आई रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है. मृतक के दो बेटे,दामाद,पुत्रवधु व एक भतीजा कोरोना पॉजिटिव आए है.

मुंबई से डूंगरपुर पहुंचा कोरोना संक्रमण, 18 नए प्रवासी पाये गए कोरोना संक्रमित, कुल मरीजों की संख्या पहुंची 60

सिटी कोतवाली थाना क्षेत्र के कई इलाकों में कर्फ्यू:
कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद सिटी कोतवाली थाना क्षेत्र के कई इलाकों में कर्फ्यू लगाया गया है. जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग भी मुस्तेद है. कर्फ्यू क्षेत्र में पुलिस के जवान लगातार गश्त कर रहे है ओर लोगो को घरों में रहकर कर्फ्यू की सख्ती से पालना की अपील कर रहे है.

7 कोरोना पॉजिटिव मरीजों का इलाज जारी:
तो वहीं स्वास्थ्य विभाग की टीमों द्वारा भी लोगो की स्क्रीनिंग भी की जा रही है. जानकारी के अनुसार बीकानेर में अब तक 47 कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आ चुके है. जिसमे से दो महिलाओं और एक पुरुष समेत तीन की मौत हो चुकी है. 37 मरीज ठीक हो चुके है ओर 7 कोरोना पॉजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा है.

राजस्थान में बनेगा लेबर एम्पलॉयमेंट एक्सचेंज, उद्योगों को श्रमिक और श्रमिकों को मिलेगा रोजगार

पहले की पत्नी और पुत्र की पीट-पीटकर हत्या, फिर फंदा लगाकर की जीवनलीला समाप्त

पहले की पत्नी और पुत्र की पीट-पीटकर हत्या, फिर फंदा लगाकर की जीवनलीला समाप्त

बीकानेर: राजस्थान के बीकानेर जिले के जसरासर थाना क्षेत्र में शनिवार को एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है. जसरासर थाना क्षेत्र के बिलनियासर गांव में एक नर्स,उसका पुत्र और पति मृत अवस्था मे मिले. नर्स सुमन ओर उसके बेटे का शव लहुलुहान हालत में थे जबकि पति फांसी के फंदे से लटका हुआ था.

सूचना मिलने पर पुलिस पहुंची मौके पर:
घटना की सूचना एडिशनल एसपी ग्रामीण सुनील कुमार और जसरासर थानाधिकारी उदयभान मौके पर पहुंचे ओर शवों को मोर्चरी में रखवाया. प्रथम दृष्टया मिली जानकारी के मुताबिक  मृतका सुमन बिलनियासर गांव के उप स्वास्थ्य केंद्र में एएनएम थी ओर अपने 11 वर्षीय बेटे आयुष के साथ उप स्वास्थ्य केंद्र के क्वाटर में रहती थी. 

लेकसिटी में मरीजों का आंकड़ा पहुंचा 100 के पार, बढ़ाई सख्ती, पूरे निगम क्षेत्र को घोषित किया कंटेनमेंट जोन

फंदा लगाकर की जीवनलीला समाप्त:
एएनएम सुमन का पति सुरेश झुंझुनू में रहता था. कुछ दिनों पहले ही वो बिलनियासर आया था. देर रात्रि को किसी बात को पति-पति पत्नी में आपसी झगड़ा हो गया. जिससे तैश में आकर पति ने पहले पीट पीट कर अपनी पत्नी एएनएम सुमन ओर 11 वर्षीय बेटे आयुष की हत्या कर दी. इसके बाद सुरेश ने भी फांसी का फंदा लगाकर जीवनलीला समाप्त कर ली.  मृतकों के परिजनों को सूचना दे दी गई ओर घटना के कारणों का पता लगाया जा रहा है.

सादगीपूर्ण मनाई महाराणा प्रताप जयंती, राजपूत सभा भवन के छात्रावास में मनाई जयंती

अब स्कूली बच्चे घर बैठे पढ़ेंगे ऑनलाइन, राज्य स्तर पर ऑनलाइन अध्ययन सामग्री होगी तैयार

अब स्कूली बच्चे घर बैठे पढ़ेंगे ऑनलाइन, राज्य स्तर पर ऑनलाइन अध्ययन सामग्री होगी तैयार

बीकानेर: राजस्थान के स्कूली बच्चे अब घर बैठे ऑनलाइन भी पढ़ सकेंगे. शिक्षा विभाग ने कक्षावार अध्ययन अध्यापन सामग्री को ऑनलाइन करने का मानस बनाया है. ऑनलाइन अध्ययन अध्यापन को बढ़ावा देने के लिए राज्य स्तर पर ऑनलाइन अध्ययन सामग्री तैयार की जाएगी. इसके लिए  शिक्षा विभाग ने शिक्षकों से ऑनलाइन अध्यापन सामग्री मांगी है.

अलविदा...! कुछ ऐसा रहा ऋषि कपूर कपूर का फिल्मी सफर, जानिए उनके जीवन से जुडी कुछ बातें

ऑनलाइन शिक्षण सामग्री तैयार:
यह ऑनलाइन अध्यन सामग्री ऑडियो या वीडियो फॉर्मेट में तीन मिनट की होगी. इसमें वे शिक्षक जिनके द्वारा ऑनलाइन शिक्षण सामग्री तैयार की गई है या फिर जो शिक्षक तैयार करने में रुचि रखते हैं वो सम्मिलित हो सकेंगे. यह कार्यक्रम वर्तमान में संचालित स्माइल कार्यक्रम से अलग है. ऑनलाइन अध्ययन सामग्री भेजने के लिए शिक्षक को शाला दर्पण के स्टाफ कॉर्नर में जाकर स्टाफ लॉगइन में लॉगइन करना होगा.

ऑनलाइन अध्ययन सामग्री का हाइपरलिंक उपलब्ध:
वहां उपलब्ध ऑनलाइन आवेदन पत्र में आवेदन करना होगा और निर्धारित स्थान पर अपने द्वारा तैयार ऑनलाइन अध्ययन सामग्री का हाइपरलिंक उपलब्ध कराना होगा. शिक्षा निदेशक़ सौरभ स्वामी ने बताया कि प्रत्येक विषय में श्रेष्ठ 50 प्रविष्टियों  के आधार पर राज्य स्तर पर तैयार होने वाली नवीन अध्ययन सामग्री निर्माण में इन शिक्षकों को सम्मिलित  किया  जाएगा.

ऋषि कपूर के निधन से सदमे में बॉलीवुड, देश के नेता समेत कई बड़ी हस्तियों ने दी श्रद्धांजलि

बीकानेर से आई सुखद तस्वीर, कोरोना से ठीक हुए मरीजों को भेजा गया घर

बीकानेर से आई सुखद तस्वीर, कोरोना से ठीक हुए मरीजों को भेजा गया घर

बीकानेर: राजस्थान का बीकानेर जिला कोरोना फ्री हो गया है. मंगलवार को क्वारेंटाइन पूरा होने के बाद पहले 7 मरीजों को घर भेजने खुद कलक्टर कुमार पाल गौतम विदा करने पहुँचे. 5 को घर भेज दिया है, 2 दरअसल त्रिपुरा के है उन्हें बाद में भेजा जाएगा. मास्क सैनेटाइजर के साथ कलक्टर ने एक पत्र भी दिया. जिसमें उन्हें शुभकामनाएं देते हुए अपील की गई कि समाज में जाकर आप पॉजिटिविटी का संदेश दे. इस मौके पर ठीक हुए मरिजों ने कहा डाक्टर्स की मेहनत अल्लाह की रहमत से सब ठीक हुआ. कलक्टर कुमार पाल गौतम ने first india News से खास बातचीत में कहा हमने रेस्पॉन्स टाइम फ़ास्ट रखा, सबका कॉर्डिनेशन रहा. मुख्यमंत्री जी के निर्देशों के साथ बेहतर काम करने का प्रयास किया. गौरतलब है कि कुल 37 संक्रमित थे जिनमें से 1 की महिला की मौत हो गई तो बाकी सभी 36 अब पॉजिटिव से निगेटिव हो गए है.

Rajasthan Corona Updates: राजस्थान में कोरोना के 2335 केस, जयपुर में 23 और कोटा में 19 नए पॉजिटिव , जानें जिलेवार आंकड़े

33 में से 28 जिलों में पहुंचा संक्रमण:
प्रदेश में संक्रमण के सबसे ज्यादा केस जयपुर में हैं. यहां 857 (2 इटली के नागरिक) संक्रमित हैं. इसके अलावा जोधपुर में 423 (इसमें 47 ईरान से आए), टोंक में 126, कोटा में 184, भरतपुर में 110, अजमेर में 135, नागौर में 116, बांसवाड़ा में 62, जैसलमेर में 49 (इसमें 14 ईरान से आए), झुंझुनूं में 42, बीकानेर में 37, भीलवाड़ा में 35 मरीज मिले हैं. वहीं झालावाड़ में 40, दौसा में 21, चूरू में 14, हनुमानगढ़ में 11, सवाईमाधोपुर में 8, चित्तौड़गढ़ में 8, अलवर में 7, डूंगरपुर में 6, सीकर में 5, उदयपुर में 6, धौलपुर में 7, करौली में 3, पाली में 3, बाड़मेर और प्रतापगढ़ में 2-2 कोरोना मरीज मिल चुके हैं. जबकि राजसमंद में सबसे कम 1 संक्रमित मिला है. 

परिणय सूत्र में बंधे बिग बॉस सीजन-2 के विजेता आशुतोष कौशिक, 4 लोगों की मौजूदगी में की शादी

Rajasthan Corona Updates: बीकानेर कोरोना मुक्त, 36 मरीज हुए स्वस्थ, 1 महिला की हो गई थी मौत

Rajasthan Corona Updates: बीकानेर कोरोना मुक्त, 36 मरीज हुए स्वस्थ, 1 महिला की हो गई थी मौत

बीकानेर: बीकानेर के लिए देर रात अच्छी खबर आई और दो कोरोना पॉजिटिव मरीज भी ठीक हो गए इस तरह से बीकानेर जिले में अब कोई कोरोना पॉजिटिव मरीज नहीं रहा. डाक्टर्स की अहम भूमिका रही तो प्रशासन और पुलिस भी मुस्तैदी के साथ जुड़े रहे. एक तरह से बीकानेर जिला अब कोरोना फ्री हो गया. 

राजस्थान सरकार ने दी प्रवासी मजदूरों को राहत, अब रोडवेज बसों से उनके प्रदेश पहुंचेंगे मजदूर

CMHO साहब के साथ बेहतरीन कॉर्डिनेशन:
इस मौके पर डॉक्टर्स के टीम लीडर और SPMC कॉलेज के प्राचार्य ने कहा कि मैं मेरी टीम को बिग थैंक्स,जिला कलक्टर और CMHO साहब के साथ बेहतरीन कॉर्डिनेशन रहा. हमने  STC पर फोकस किया.  S यानि सक्रीनिंग एंड सर्वे, T मतलब टेस्टिंग एंड ट्रीटमेंट , C अर्थात कन्टेन्टमेंट, कवारेंटाइन कर्फ़्यू.

डॉ. एसएस राठौड़ से खास बातचीत:
गौरतलब है कि कुल 37 संक्रमित थे जिनमें से 1 की महिला की मौत हो गई तो बाकी सभी 36 अब पॉजिटिव से निगेटिव हो गए है. फर्स्ट इंडिया ने की मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ एस एस राठौड़ से खास बातचीत की.

झालावाड़ हॉस्पिटल के 100 संविदा कर्मियों ने दिया इस्तीफा, कोरोना के चलते अनदेखी का लगाया आरोप

10 मई को होने वाली पीटीईटी परीक्षा हुई स्थगित, लॉकडाउन खुलने के बाद होगी नई तिथि की घोषणा

10 मई को होने वाली पीटीईटी परीक्षा हुई स्थगित, लॉकडाउन खुलने के बाद होगी नई तिथि की घोषणा

बीकानेर: राजस्थान के सभी जिला मुख्यालयों पर 10 मई को आयोजित होने वाली पीटीईटी परीक्षा को स्थगित कर दिया गया है. कोरोना महामारी के चलते पीटीईटी परीक्षा को स्थगित किया गया है. लॉकडाउन खुलने के बाद राज्य सरकार के निर्देशानुसार परीक्षा की नई तिथि घोषित की जाएगी.

पीएम मोदी के साथ मुख्यमंत्रियों की बैठक में बोले गृह मंत्री अमित शाह , लड़ाई लंबी है, हमें धैर्यपूर्वक लड़ना है

पीटीईटी की वेबसाइट पर करें संशोधन:
पीटीईटी-2020 परीक्षा के लिए कुल चार लाख 80 हजार 926 अभ्यर्थियों ने आवेदन कर रखा था. पीटीईटी समन्वयक डॉ जीपी सिंह ने बताया कि दो वर्षीय बीएड पाठ्यक्रम के लिए तीन लाख 27 हजार 270 और चार वर्षीय पाठ्यक्रम के लिए एक लाख 53 हजार 696 अभ्यर्थियों ने आवेदन कर रखा था. साथ ही उन्होंने बताया कि पीटीईटी आवेदन में कोई त्रुटि हो तो अभ्यर्थी 05 मई तक पीटीईटी की अधिकृत वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन संशोधन कर सकेंगे.

पीएम मोदी ने की मुख्यमंत्रियों से बैठक, कहा-लॉकडाउन का मिला लाभ, स्थिति बाकी देशों से बेहतर 

माध्यमिक शिक्षा निदेशक का आदेश, कहा-3 दिन के भीतर शाला दर्पण की मेल आईडी पर भेजे शिक्षकों की सही जानकारी

माध्यमिक शिक्षा निदेशक का आदेश, कहा-3 दिन के भीतर शाला दर्पण की मेल आईडी पर भेजे शिक्षकों की सही जानकारी

बीकानेर: शिक्षा विभाग की स्कूलों में पद के विरुद्ध कार्यरत शिक्षकों की सही जानकारी शाला दर्पण पोर्टल पर नहीं होने के मामले को माध्यमिक शिक्षा निदेशालय ने गंभीरता से लिया है. इस सम्बंध में माध्यमिक शिक्षा निदेशक सौरभ स्वामी ने आदेश जारी कर 3 दिन के भीतर सही जानकारी शाला दर्पण की मेल आईडी पर भेजने के आदेश दिए हैं.

अक्षय तृतीया के अबूझ सावे पर पसरा सन्नाटा, व्यापारियों में छाई मायूसी, सामूहिक विवाह हुए स्थगित

सीधी भर्ती और डीपीसी के पद गणना में परेशानी:
शिक्षा निदेशक़ ने सभी सीडीईओ, सीबीईओ ओर संस्था प्रधानों को निर्देश जारी किए है. जानकारी के मुताबिक प्रधानाचार्य पदों पर नौ, प्रधानाध्यापक पदों पर 11, व्याख्याता पदों पर 943 वरिष्ठ अध्यापक पदों पर 76 और अध्यापक लेवल दो के पदों के विरुद्ध 164 शिक्षक कार्यरत है. ऐसे पद विरुद्ध कार्यरत शिक्षकों के मूल पद और विषय की सही जानकारी के अभाव में सीधी भर्ती और डीपीसी के पद गणना में परेशानी रहती है.

कार्मिकों का मूल पद गलत अंकित:
माध्यमिक शिक्षा निदेशक सौरभ स्वामी ने बताया कि शाला दर्पण पर स्वीकृत पद पर विभिन्न मूल पद वाले कार्यरत कार्मिकों में जिन कार्मिकों का मूल पद सही है. उनको किसी भी प्रकार की सूचना नही देनी है लेकिन जिन कार्मिकों का मूल पद गलत अंकित है उन्हें सूचना भेजनी है.

CORONA: सामाजिक कार्यकर्ता ने लिखा सीएम को पत्र, कहा परीक्षण के लिए मैं अपना शरीर देने के लिए तैयार हूं

Open Covid-19