नई दिल्ली Bipin Rawat Death News: कल दिल्ली कैंट में होगा बिपिन रावत का अंतिम संस्कार, आज संसद में बयान देंगे रक्षा मंत्री; कुन्नूर हादसे ने दिलाई 1963 में जम्मू कश्मीर के पुंछ में हुई हेलीकॉप्टर दुर्घटना की याद

Bipin Rawat Death News: कल दिल्ली कैंट में होगा बिपिन रावत का अंतिम संस्कार, आज संसद में बयान देंगे रक्षा मंत्री; कुन्नूर हादसे ने दिलाई 1963 में जम्मू कश्मीर के पुंछ में हुई हेलीकॉप्टर दुर्घटना की याद

Bipin Rawat Death News: कल दिल्ली कैंट में होगा बिपिन रावत का अंतिम संस्कार, आज संसद में बयान देंगे रक्षा मंत्री; कुन्नूर हादसे ने दिलाई 1963 में जम्मू कश्मीर के पुंछ में हुई हेलीकॉप्टर दुर्घटना की याद

नई दिल्ली: भारत के पहले CDS जनरल बिपिन रावत का बुधवार को तमिलनाडु के कुन्नूर में हेलीकॉप्टर हादसे में निधन हो गया. इस हादसे में उनकी पत्नी समेत 12 और लोगों ने अपनी जान गंवा दी. जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी मधुलिका और अन्य सभी 11 लोगों के पार्थिव शरीर आज तमिलनाडु से दिल्ली लाए जाएंगे. उसके बाद अंतिम संस्कार 10 दिसंबर को किया जाएगा. 

तमिलनाडु के कुन्नूर में हुए हेलिकॉप्टर हादसे के एक दिन बाद एयरफोर्स चीफ वीआर चौधरी घटनास्थल पहुंचे. यहां उन्होंने पूरे इलाके का मुआयना किया और अधिकारियों से घटनाक्रम पर बात की. 

संसद का शीतकालीन सत्र चल रहा है. आज रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह संसद में तमिलनाडु के कुन्नूर में हुई हेलीकॉप्‍टर दुर्घटना पर बयान देंगे. मिली जानकारी के अनुसार राजनाथ सिंह सुबह 11:15 बजे लोकसभा में और उसके बाद राज्यसभा में बयान देंगे.

सोनिया नहीं मनाएंगी जन्मदिन:
IAF हेलिकॉप्टर हादसे पर दुख जताते हुए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अपना जन्मदिन नहीं मनाने का फैसला किया है. बुधवार को उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से उनके जन्मदिन पर किसी भी तरह का आयोजन नहीं करने की अपील की है.

अमेरिका, रूस, पाकिस्तान समेत कई देशों ने जताया शोक:
जनरल बिपिन रावत के निधन पर अमेरिका, रूस और पाकिस्तान समेत कई देशों ने शोक व्यक्त किया है. अमेरिकी दूतावास ने रावत परिवार और दुर्भाग्यपूर्ण हेलिकॉप्टर दुर्घटना में जान गंवाने वाले लोगों के परिवारों के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त की. 

कुन्नूर हादसे ने दिलाई 1963 में जम्मू कश्मीर के पुंछ में हुई हेलीकॉप्टर दुर्घटना की याद:
आपको बता दें कि तमिलनाडु में कुन्नूर के निकट बुधवार को हुई एक एमआई-17वी5 हेलीकॉप्टर दुर्घटना ने 1963 में जम्मू कश्मीर के पुंछ में हुई एक अन्य दुर्घटना की याद दिला दी, जिसमें छह सैन्य अधिकारियों की मौत हो गई थी. तमिलनाडु में हुई हेलीकॉप्टर दुर्घटना में प्रमुख रक्षा अध्यक्ष (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी मधुलिका और 11 अन्य की मृत्यु हो गई.

पुंछ में हुई हेलीकॉप्टर दुर्घटना को देश के विमान इतिहास में हुए सबसे बड़े हादसे में से एक के तौर पर याद किया जाता है. 22 नवंबर, 1963 को हुए इस हादसे में लेफ्टिनेंट जनरल दौलत सिंह, लेफ्टिनेंट जनरल बिक्रम सिंह, एयर वाइस मार्शल ई डब्ल्यू पिंटो, मेजर जनरल के एन डी नानावती, ब्रिगेडियर एस आर ओबेरॉय और फ्लाइट लेफ्टिनेंट एस एस सोढ़ी की मृत्यु हो गई थी. कुन्नूर में हुआ हादसा 1952 में लखनऊ के पास डेवन क्रैश की याद भी दिलाता है जिसमें भारतीय सेना का भावी शीर्ष नेतृत्व समाप्त हो सकता था. उस हादसे में सेना की पश्चिमी कमान के तत्कालीन प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल एस एम श्रीगणेश और क्वार्टरमास्टर जनरल, मेजर जनरल के एस थिमैया बाल-बाल बच गये थे.

वे दोनों बाद में सेना प्रमुख बने थे. उस हेलीकॉप्टर में मेजर जनरल एसपीपी थोराट, मेजर जनरल मोहिंदर सिंह चोपड़ा, मेजर जनरल सरदानन्द सिंह और ब्रिगेडियर अजायब सिंह सवार थे. मेजर जनरल थोराट को बाद में पूर्वी कमान का प्रमुख नियुक्त किया गया था. डेवन विमान के पायलट फ्लाइट लेफ्टिनेंट सुहास विश्वास को अशोक चक्र से सम्मानित किया गया था. वर्ष 2019 में उत्तरी कमान के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह और आठ अन्य सैन्यकर्मी पुंछ सेक्टर में हुई एक हेलीकॉप्टर दुर्घटना में घायल हो गए थे.
 

और पढ़ें