UP में ऑक्सीजन प्लांट में सिलेंडर रीफिलिंग के दौरान Blast, 3 की मौत; 7 लोग घायल, जांच के आदेश

UP में ऑक्सीजन प्लांट में सिलेंडर रीफिलिंग के दौरान Blast, 3 की मौत; 7 लोग घायल, जांच के आदेश

UP में ऑक्सीजन प्लांट में सिलेंडर रीफिलिंग के दौरान Blast, 3 की मौत; 7 लोग घायल, जांच के आदेश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ (Lucknow) में एक तरफ कोरोन संक्रमण (Corona Infection) के चलते ऑक्सीजन को लेकर मारामारी (Oxygen Crisis) है. ऑक्सीजन प्लांट पर मरीजों, तीमारदारों की लंबी लाइनें देखी जा रही हैं. वहीं दूसरी तरफ ऑक्सीजन प्लांट पर भी चौबीसों घंटे गैस रिफिलिंग को लेकर दबाव बढ़ा हुआ है. इसी बीच चिनहट के केटी ऑक्सीजन प्लांट में हादसे की खबर आई है. यहां पता पता चला है कि ऑक्सीजन रिफिलिंग के दौरान सिलिंडर ब्लास्ट (Oxygen Cylinder Blast) हो गया. 

ब्लास्टिंग में तीन की मौत, जांच के आदेश:
इसमें तीन लोगों की मौत (Death) हो गई है, वहीं 5 घायल हो गए. कुछ समय बाद एक और शख्स की इलाज के दौरान मौत हो गई, जिसके बाद मरने वालों की संख्या 3 हो गई है. उधर जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश (Collector Abhishek Prakash) ने घटना की जांच के लिए एडीएम प्रशासन के नेतृत्व में 4 सदस्यीय जांच कमेटी गठित कर दी है. ADCP, चीफ फायर ऑफिसर और ड्रग इंस्पेक्टर (Drugs Inspector) कमेटी में शामिल हैं. ये जांच कमेटी हादसे की जांच रिपोर्ट जिलाधिकारी को सौंपेगी.

घायलों को भेजा गया अस्पताल:
उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में बुधवार को बड़ा हादसा हो गया. यहां देवा रोड स्थित केटी ऑक्सीजन प्लांट (Katie Oxygen Plant) में ब्लास्ट के चलते तीन लोगों की मौत हो गई. 7 लोग घायल हैं. पुलिस और रेस्क्यू टीमों (Rescue Teams) ने मौके पर पहुंचकर घायलों को इलाज के लिए अस्पताल भेजा. एसीपी विभूतिखंड प्रवीण मलिक (ACP Vibhutik Praveen Malik) के अनुसार, ऑक्सीजन प्लांट पर ये हादसा रीफिलिंग के दौरान लीकेज की वजह से हुआ है. मृतकों में एक प्लांट का कर्मचारी और दूसरा रीफिलिंग के लिए आया व्यक्ति शामिल है. पुलिस कमिश्नर ने हादसे की जांच के आदेश दिए हैं.

और भी बड़ा हादसा हो सकता था:
हादसे के वक्त प्लांट के बाहर सैकड़ों लोगों की भीड़ जुटी थी. ये सभी लोग सिलेंडर रीफिलिंग कराने आए थे. हादसा इतना भयावह (Frightening) था कि एक युवक सिलेंडर में ऑक्सीजन रीफिलिंग कराने पहुंचा था, जैसे ही ब्लास्ट हुआ उसका एक हाथ उड़ गया. मौके पर खड़े कई अन्य लोगों गंभीर चोटें आईं हैं.

मुख्यमंत्री ने जताया शोक:
पूरे प्रदेश में इन दिनों ऑक्सीजन का संकट है. सबसे ज्यादा असर राजधानी लखनऊ में देखने को मिला है. यहां हजारों की संख्या में मरीजों के परिजन ऑक्सीजन सिलेंडर के लिए प्लांट के चक्कर काटते नजर आ रहे हैं. इन ऑक्सीजन प्लांटों पर लंबी-लंबी लाइनें लग रही हैं. हादसे के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adtiya Nath) ने शोक जताया है.

प्रदेश में अभी 2.72 लाख मरीजों का चल रहा इलाज:
अब तक प्रदेश में 13 लाख 68 हजार से ज्यादा लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। इनमें 10 लाख 81 लोग ठीक हो चुके हैं, जबकि 2.72 लाख मरीजों का अभी इलाज चल रहा है. 13 हजार 798 मरीजों की अब तक मौत हो चुकी है.

और पढ़ें