Live News »

हायर सेकेंडरी स्कूल के दो छात्र गुटों में हुआ खूनी संघर्ष, एक की हालत गंभीर

हायर सेकेंडरी स्कूल के दो छात्र गुटों में हुआ खूनी संघर्ष, एक की हालत गंभीर

आहोर (जालोर)। आहोर उपखण्ड क्षेत्र के भूति गांव स्थित सीनियर हायर सेकेंडरी स्कूल में अध्ययनरत दो छात्र गुट आपस में भीड़ गए। जिसमें दोनों पक्ष में करीब चार छात्र जख्मी हो गए। घायलों में दो छात्र बुरी तरह से लहूलुहान हो गए। स्कूल की छुट्टी के बाद घर जा रहे छात्र बातों ही बातों में एक दूसरे से उलझ गए और देखते ही देखते एक दूसरे पर लातों ओर मुक्कों की बौछार करना शुरू कर दी। 

इस खुनी संघर्ष में उनके साथी छात्र भी शामिल हो गए और मामला जबरदस्त बढ़ गया। मामले को बढ़ता देख आसपास के लोगों ने बीच बचाव करते हुए दोनों पक्षों को अलग किया और उन्हें जख्मी हालत में अस्पताल ले जाया गया। आपको बता दें कि आपस में भिड़ने वाले छात्र अलग अलग गांवों के रहने वाले हैं। जिसमें एक गुट कंवला गांव का रहने वाला है, वहीं दूसरा गुट कवराडा गांव का रहने वाला है। 

छात्रों के इस हमले में एक छात्र गम्भीर घायल हो गया है, जिसे उच्च इलाज के लिए सुमेरपुर रैफर किया गया। घटना की जानकारी मिलते ही भाद्राजून थानाधिकारी महेंद्रसिंह जाब्ते के साथ मौके पर पहुंचे और मौका मुआयना कर अस्पताल में भर्ती छात्रों से बातचीत कर पूरे मामले की जानकारी ली।
 

और पढ़ें

Most Related Stories

कुंआरे युवकों को शादी का झांसा देकर रुपए ऐंठने वाली लुटेरी दुल्हन व दलाल गिरफ्तार

कुंआरे युवकों को शादी का झांसा देकर रुपए ऐंठने वाली लुटेरी दुल्हन व दलाल गिरफ्तार

जालोर: जिले के आहोर में कुंआरे युवकों को शादी का झांसा देकर रुपये ऐंठने वाली लुटेरी दुल्हन व उसके दलाल को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. क्षेत्र के चार युवक इस लुटेरी दुल्हन के जाल में फंस कर ठगी के शिकार हुए है. जानकारी के मुताबिक पिछले महीने रूपसिंह, धनाराम, अमृत भाई व जगदीश ने आहोर पुलिस थाने मे रिपोर्ट पेश कर गुजरात निवासी कल्पना बेन व अन्य लोगों के खिलाफ शादी के नाम पर धोखाधड़ी करने व घर से गहने व रूपये ले जाने का मामला दर्ज कराया था. मामले की तहकीकात के लिए थाने के एएसआई अखाराम व टीम ने गुजरात के जामनगर मे दबिश देकर लूटेरी दुल्हन कल्पना बैन व दलाल विमल दामा को गिरफ्तार कर आहोर लाया गया.

कुंआरे युवकों को शादी के नाम पर रूपये ऐंठने का यह एक सक्रिय गिरोह:  
पुलिस ने बताया कि कुंआरे युवकों को शादी के नाम पर रूपये ऐंठने का यह एक सक्रिय गिरोह है. जो मोटी रकम लेकर युवक के साथ शादी रचने का ढोंग करती है और चार पांच दिन तक घर वालो का विश्वास जीतकर मौका पा कर गहने व नकदी लेकर फरार हो जाती है. दुल्हन को भगाने मे इस गिरोह की प्रमुख भूमिका रहती है. इस सारे काम मे नाम व पत्ते झूठे दिए जाते है. लूटेरी दुल्हन ने शादी के नाम पर लाखों रुपए लूटने की जानकारी मिली है. जांच अधिकारी ने बताया कि गिरोह के अन्य सदस्य लक्ष्मी प्रजापत व शानदाबेन की तलाश की जा रही है. पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर ठगी की रकम बरामद करने का प्रयास कर रही है.